क्‍या आप जानते हैं रूपए पर गाँधी जी की ये फोटो कहां से आई?

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

क्या आपने कभी सोचा है कि भारतीय करेंसी में गांधी जी की ही तस्वीर क्यूँ बनी होती है? इसके पीछे पूरा इतिहास है और हम आपको बताएँगे कि क्यूँ हर नोट में गांधीजी की तस्वीर बनी होती है।

यह बात तय है कि अब आप यह सोचने के लिए मजबूर हो जायेंगे कि वह फोटो कहाँ से आई? हमें इतना बेहतरीन शॉट सही समय और सही उद्देश्य के लिए कैसे मिला?

gandhi

नीचे चेक करें कि गांधीजी की यह तस्वीर ही सारे नोट पर क्यूँ इस्तमाल की जाती है।

वास्तविक तस्वीर...

वास्तविक तस्वीर...

यह फोटो 1946 में एक गुमनाम फोटोग्राफर द्वारा ली गयी थी। ऐसा मना जाता है कि यह फोटो 1946 में तब ली गयी थी जब महात्मा गाँधी और लार्ड पैथिक- लॉरेंस एक दूसरे से कोलकाता के वाइसराय हाउस में मिले थे। ऐसा कहा जाता है कि उस समय पैथिक- लॉरेंस ब्रिटिश सेक्रेटरी हुआ करते थे।

Image Source

तस्वीर के बारे में और...

तस्वीर के बारे में और...

यह तस्वीर भूतपूर्व वाइसराय के घर पर 1946 में ली गयी थी जिसे राष्ट्रपति भवन भी कहते हैं। गांधीजी की इस तस्वीर को बाद में पोट्रेट साइज़ में हर करेंसी नोट पर इस्तमाल किया गया।

Image Source

मिरर इमेज का इस्तमाल...

मिरर इमेज का इस्तमाल...

वास्तविक तस्वीर की मिरर इमेज को बैंक नोट पर इस्तमाल किया गया। 1987 में जब पहली बार 500 रूपये का नोट आया तो गाँधी की तस्वीर का वॉटरमार्क उनपर मौजूद था।

नोट को 1996 में बदला गया

नोट को 1996 में बदला गया

गांधीजी की तस्वीर वाले नोट 1996 से अस्तित्व में आये। उससे पहले नोट पर अशोक स्तम्भ बने होते थे। आरबीआई ने बदलाव करने का विचार किया और 5 से लेकर 1000 तक के सारे नोट पर गाँधी की इसी तस्वीर को इस्तमाल किया गया।

तब से लेकर आजतक, गाँधी की तस्वीर हर भारतीय करेंसी नोट पर इस्तमाल की जा रही है।

English summary

The Fact Behind Gandhi's Picture In Currency Notes

Mahatma Gandhi did not have a photoshoot for his historical picture on the currency notes. Check out the history behind this picture.
Story first published: Thursday, August 24, 2017, 15:00 [IST]
Please Wait while comments are loading...