बहराइच के जंगलों में मिली मोगली गर्ल, सालों से रह रही थी बंदरों के झुंड के साथ

Subscribe to Boldsky

जंगल बुक के मोगली के बारे में तो हर कोई जानता है। लेकिन यूपी के बहराइच के जंगल से पुलिस को 8 साल की एक ऐसी रियल मोगली गर्ल मिली है जो बंदरों के झुंड में रहती है।

ये है बुलेट बाबा मंदिर, जहां बाबा को चढ़ता है शराब का चढ़ावा

खास बात यह है कि वो न तो हमारी आपकी बोल पाती है और न ही व्‍यवहार करती है। उसका बोलना चलना और उठना बिल्‍कुल बंदरों की तरह है।

ये हैं ऐसे आदिवासी जो पीते हैं मनुष्‍यों का सूप

इस बच्ची को बहराइच के कतरनियाघाट अभ्यारण्य (सैंक्चुरी) में बंदरों की एक टोली में रहती थी। आइए इस मोगली गर्ल के बारे में ज्‍यादा पढ़ते हैं।

Boldsky

गांववालों से भिड़ गया बंदरों का झुंड

कई दिनों पहले गांववालों ने भी इस लड़की को देखा था, उन्‍होंने लड़की को बंदरों से बचाने की कोशिश भी की, लेकिन बंदरों के झुंड ने गांववालों पर हमला कर दिया। गांव वालों के इतला देने पर ही पुलिस ने कई दिनों से लड़की को खोजने के लिए जंगलों में गश्‍त किया। इसके बाद उसे मिलने के बाद वो लड़की को जंगल से निकालकर मिहीपुरवा के सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य में भर्ती कराया है।

बंदरों की तरह जमीन से उठाकर खाती है खाना

अस्‍पताल के स्‍टाफ ने बताया कि ये ठीक से खाना भी नहीं खा पाती है। थाली के खाने को जमीन पर फैला देती है, फिर बिल्‍कुल बंदरों की तरह जमीन से खाना उठाकर खाती है।

इंसानों से डर रही है

इस लड़की को काफी मशक्‍कत करने के बाद जंगल से बाहर निकाला गया। इस लड़की को बेहोशी की हालत में अस्‍पताल पहुंचाया गया। जंगल में यह लड़की नग्‍नावस्‍था में मिली। उसके बाल और नाखून बढ़े हुए थे। पुलिस को और दूसरे ग्रामीणों को देखकर लड़की चिल्‍लाने लगी और डरने लगी।

व्‍यववहार में ला रहे है सुधार

वो अपने दोनों पैरों पर ठीक से खड़ी भी नहीं हो पाती है, क्‍योंकि ये बंदरों की तरह दोनों हाथों और पैरों से चलती है। डॉक्‍टर और वन्‍यकर्मी दोनों मिलकर बच्‍ची के व्‍यवहार में सुधार लाने की कोशिश कर रहे हैं। दरअसल ये बच्ची अब तक इंसानी सभ्यता से दूर थी।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    The Story Of The Girl Who Lived With Monkeys!

    She is an 8-year-old girl who was found in a jungle, Her rescuers claim that she has been living with monkeys and apes, Nobody is sure as to how long it has been since she is living there.
    Story first published: Friday, April 7, 2017, 14:00 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more