पब्‍लिक टॉयलेट के दरवाज़ों में क्‍यों होता है बीच में स्‍पेस

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

पेशाब आना एक आम क्रिया है। इस पर किसी भी इंसान का कोई बस नहीं है। सड़क पर शॉपिंग कर रहे हों या किसी जरूरी काम से बाहर निकले हों, पेशाब कभी भी आ जाता है। ऐसे में सुलभ शौचालय ही काम आते हैं। क्‍या आपने कभी ध्‍यान दिया है कि सुलभ शौचालय के दरवाज़ों के बीच में थोड़ा गैप क्‍यों दिया जाता है? सुलभ शौचायल के दरवाज़ों में इस गैप के पीछे एक कारण है।

Why Public Toilet Doors Have Some Space In The Bottom? This Is The Reason.

गार्डन के बाद पब्‍लिक टॉयलेट दूसरी ऐसी जगह है जहां पर कपल्‍स आसानी से इंटिमेट हो सकते हैं। पब्‍लिक टॉयलेट में ऐसे दरवाज़ें इस तरह की घटनाओं से बचाते हैं। पब्‍लिक टॉयलेट में सेक्‍स के अलावा और भी कई तरह की गलत गतिविधियां होती हैं जैसे कि ड्रग लेना, शराब पीना आदि। दरवाजों में नीचे स्‍पेस इसलिए दिया जाता है ताकि पब्‍लिक टॉयलेट में ऐसी किसी घटना से बचा जा सके।

Why Public Toilet Doors Have Some Space In The Bottom? This Is The Reason.

बच्‍चे बड़े शैतान होते हैं और हर जगह कभी भी मुसीबत खड़ी कर देते हैं। अगर आपका बच्‍चा गलती से या अपनी शैतानी से कभी पब्‍लिक टॉयलेट में बंद हो जाता है तो दरवाज़े में छोड़े गए उस स्‍पेस से आप उसकी खैरियत की जानकारी ले सकते हैं या फिर दरवाज़ा लॉक होने पर बच्‍चे नीचे से बाहर निकलकर भी आ सकते हैं। अगर कोई दरवाज़ा बंद होने पर पब्‍लिक टॉयलेट में बेहोश हो जाता है तो उसे दरवाज़े के उस स्‍पेस से आसानी से बचाया जा सकता है।

English summary

Why Public Toilet Doors Have Some Space In The Bottom?

it has got some genuine reasons behind it. So let us answer this question for you.
Story first published: Friday, November 24, 2017, 10:59 [IST]
Please Wait while comments are loading...