छात्रों में आत्‍महत्‍या के खतरे को खुद रोक सकते हैं पैरेंट्स

By Super Admin
Subscribe to Boldsky

अध्ययनों से पता चलता है कि माता पिता को प्रशिक्षण देकर युवा छात्रों में आत्महत्या के खतरे को कम किया जा सकता है। माता पिता को ध्यान रखना चाहिए कि कहें उनका बच्चा समाज से कटा हुआ तो नहीं रह रहा।

एक नए अध्ययन के अनुसार जब कॉलेज जाने वाले छात्र स्वयं को अकेला और कटा हुआ महसूस करते हैं तब परिवार का सहयोग उन्हें इस मुश्किल दौर में स्वयं को नुकसान पहुंचाने से बचा सकता है।

 Family support can help bring down suicide risk among college students

प्रमुख लेखक एडवर्ड चंग के अनुसार “माता पिता ही बच्चे को आत्महत्या करने से बचा सकते हैं।" यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिशिगन ने 456 हंगेरियन कॉलेज स्टूडेंट्स पर एक अध्ययन किया जिनकी उम्र 18 वर्ष से 35 वर्ष के बीच थी।

इन छात्रों ने अकेलेपन और परिवार के सहयोग की सीमा की आवृत्ति को मूल्यांकित किया। आत्महत्या के खतरे तक पहुँचने के लिए इन छात्रों ने बताया कि क्या पिछले 12 महीनों के दौरान उन्हें तनाव महसूस हुआ और उनके मन में आत्महत्या का विचार आया।

अध्ययनों से पता चलता है कि जब अकेलेपन से ग्रसित किसी छात्र को परिवार से अधिक सहयोग मिलता है तो उसे तनाव कम होता है जबकि परिवार की ओर से कम सहयोग मिलने वाले छात्रों को तनाव अधिक होता है।

यही परिणाम उन लोगों में देखने मिले जिन्होनें आत्महत्या के बारे में सोचा। परिवार के सहयोग से थोड़ी मात्रा में परन्तु फिर भी संतोषजनक सुधार हुआ और उन्होंने स्वयं को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया।

शोधकर्ताओं के परिणामों के अनुसार कॉलेज स्टूडेंट्स में आत्महत्या के खतरे को कम करने के लिए कुछ रणनीति बनानी चाहिए। उदाहरण के लिए पालकों को प्रशिक्षित किया जाए कि वे इस खतरे के लक्षणों जैसे सामजिक जीवन से कटना आदि को पहचानें। परिवारों को इसमें काउंसलर्स को भी शामिल करना चाहिए ताकि उन बच्चों के लिए सकारात्मक वातावरण बन सके जो आत्महत्या कर सकते हैं।

चंग ने बताया कि मुख्य बात यह है कि जैसे ही बच्चे बड़े होते हैं और घर से बाहर जाते हैं वैसे ही यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि मातापिता अपने बच्चे के स्वास्थ्य पर ध्यान दें।

उन्होंने बताया कि “कॉलेज जाने का यह मतलब नहीं है कि उभरते हुए युवा के पास एक मज़बूत सामाजिक नेटवर्क है या कॉलेज स्टूडेंट के रूप में उसकी नई भूमिका से निपटने के लिए उसके पास सारी रणनीतियां तैयार हैं।" बच्चे की सहायता और विकास के लिए माता पिता नीव का प्रतिनिधित्व करते हैं।

ये परिणाम फेमिली जनरल में प्रकाशित हुए थे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    Family support can help bring down suicide risk among college students

    When college students feel isolated and disconnected, support from family members can keep them from harming themselves during difficult times, says a new study.
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more