शादी और सगाई के बीच कोर्टशिप पीरियड में इन बातों का रखें ध्‍यान

Posted By:
Subscribe to Boldsky

कहते है कि शादी और सगाई के बीच का समय एक कपल के लिए बहुत मायने रखता है। ये वो समय होता है जब दो अजनबी एक दूसरे को जानने लगते है और एक दूसरे के प्रति उनके अंदर प्‍यार की भावना पनपती है। शादी न सिर्फ सेक्‍स के लिए की जाती है। बल्कि ये एक आत्मिक रिश्‍ता होता है।

अगर आप लम्‍बे समय से किसी सिंगल लड़की को करने वाले है डेट, तो इन बातों का रखे ध्‍यान

शादी से पहले यानी सगाई के बाद लड़के और लड़की को एकसाथ खूब समय बिताने को मिलता है लेकिन इसका ये अर्थ नहीं कि वे शादी से पहले फिजिकल रिलेशन बना ले या फिर प्री मैरिटल सेक्स करें।

इन 5 वजहों से कोई लड़की करती है आपकी कॉल्स को इग्नोर

शादी से पहले संयम बरतना जरूरी है। लेकिन शादी होने से पहले कोर्टशिप पीरियड के दौरान कुछ बातों का ध्‍यान रखना अवश्‍य जरुरी है। आइए जानते है कि कोर्टशिप पीरियड के दौरान किन बातों का ध्‍यान रखना चाहिए।

एक दूसरे से मिले

एक दूसरे से मिले

सगाई के बाद लड़के और लड़की को आपस में एक-दूसरे से मिलना चाहिए और एक-दूसरे को जानना चाहिए, लेकिन इसके साथ ही उन्हें संयम बरतना भी जरूरी है।

सेक्‍स के लिए मना कर दे

सेक्‍स के लिए मना कर दे

यदि शादी से पहले फिजिकल रिलेशन बनाने के लिए लड़का-लड़की में से कोई भी पहल करता है तो दूसरे को मना करना चाहिए नहीं तो इससे इंप्रेशन अच्छा़ नहीं पड़ता।

जानने का मौका मिले

जानने का मौका मिले

दोनों को समझना चाहिए कि प्री मैरिटल सेक्स से पहले उन्हें आपस में एक-दूसरे को जानने-सूझने का मौका मिला है जिससे वे पहले एक-दूसरे की पसंद-नापसंद इत्यादि के बारे में जान पाएं।

फिजूल खर्च न करें

फिजूल खर्च न करें

ये जरूरी है कि मिलने वाले समय को लड़के व लड़की को समझदारी से बिताना चाहिए न कि फिजूल की चीजों में खर्च करना चाहिए।

अंतरंगता का महत्‍व

अंतरंगता का महत्‍व

शादी से पहले संयम बरतने से न सिर्फ दोनों के रिश्तों में मजबूती आती है बल्कि दोनों का एक-दूसरे पर विश्वास भी बना रहता है। इसके साथ ही संबंधों में अंतरंगता का महत्व भी बरकरार रहता है।

कहीं मनमुटाव न हो जाएं

कहीं मनमुटाव न हो जाएं

प्रीमैरिटल सेक्स में हालांकि कोई बुराई नहीं लेकिन दोनों के रिश्ते पर शादी के बाद मनमुटाव का ये कारण बन सकता है।

डिस्‍कस करें

डिस्‍कस करें

रिश्तों में खुलापन जरूरी है। चाहे तो शादी से पहले आप चीजों को डिस्कस कर सकते हैं। एक-दूसरे के साथ समय व्यतीत कर सकते हैं। एक-दूसरे के साथ घूम-फिर सकते हैं लेकिन इसके लिए जरूरी नहीं कि फिजीकल रिलेशन ही बनाया जाए।

 फिजिकल होने से बचें

फिजिकल होने से बचें

शादी से पहले फिजीकल रिलेशन से रिश्तों में अवसाद पैदा होने की संभावना बनी रहती है क्योंकि इसके बाद हर समय मन में एक डर और बैचेनी रहने लगती है। इसीलिए इन सबसे बचना जरूरी है।

सोच समझकर फैसला ले

सोच समझकर फैसला ले

सेक्सुअल रिलेशंस आपके रिश्ते में करीबी ला भी सकते हैं और दूरी बढ़ा भी सकते हैं इसीलिए कोई भी कदम उठाने से पहले सोच-समझ कर विचार करना आवश्यक है।

English summary

How does courtship work?

meta dec : Courtship period play an important role in arranged marriages. Here are some courtship tips to enhance your marital life.
Please Wait while comments are loading...