प्‍लकर से बाल निकालना सही या गलत?

By: Shakeel Jamshedpuri
Subscribe to Boldsky

ट्वीजिंग एक ऐसी तकनीक है जिससे आमतौर पर अतिरिक्त बालों को हटाया जाता है। इसका इस्तेमाल आमतौर पर आइब्रो, ठुड्डी, ऊपरी होंठ, निचले होंठ और गाल के बालों को हटाने के लिए किया जाता है। ट्वीजिंग बाल को जड़ से हटा देता है। ट्वीजिंग दरअसल बालों को तोड़ने की एक विधि है, जिसके अपने फायदे और नुकसान हैं। जो लोग ट्वीजिंग कर रहे हैं या इसके बाद में सोच रहे हैं, उनके मन अक्सर एक सवाल रहता है कि ट्वीजिंग अच्छा है या बुरा? आप इतना जान लें कि बालों को हटाने के दूसरे अस्थाई तकनीक की तरह ही ट्वीजिंग के भी अच्छे और बुरे दोनों पहलू है।

आइए हम आपको बालों को हटाने के लिए ट्वीजर के इस्तेमाल की अच्छाई और बुराई के बारे में बताते हैं। ट्वीजिंग तकनीक को अपनाने से पहले आप इसके अच्छे और बुरे पक्ष को ठीक तरह से समझ लें। इससे आप यह तय कर सकते हैं कि ट्वीजिंग अच्छा है या बुरा।

Tweezing: Good or Bad?

इसलिए अच्छा है ट्वीजिंग

आसान : अगर आप अनावश्यक बालों को अस्थाई तौर पर हटाना चाहते हैं तो ट्वीजिंग सबसे आसान विकल्प है। नॉन—प्रोफेशनल भी ट्वीजिंग का इस्तेमाल आसानी से कर सकते हैं। इससे ट्वीजिंग महिलाओं के लिए बालों को हटाने का सबसे अच्छा विकल्प बन जाता है।

कम खर्चीला : अगर आप एक ट्वीजर खरीद लेते हैं तो बालों को हटाना आपके लिए खर्चीला नहीं रह जाता है। एक बार जब आप ट्वीजर के इस्तेमाल में एक्सपर्ट बन जाते हैं तो फिर आपको बालों को हटाने के लिए ब्यूटी सैलून जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आप घर पर ही ट्वीजिंग कर सकते हैं।

कम तकलीफदेह : ट्वीजिंग अच्छा है या बुरा, इस सवाल पर विचार करते समय आप इससे होने वाले दर्द के बारे में भी सोचते होंगे। पर ट्वीजिंग में थ्रेडिंग की तुलना में कम दर्द होता है, क्योंकि इसमें आप अपनी सुविधा के हिसाब से सिंगल हेयर स्ट्रैंड को हटाते हैं।

विशेषज्ञ होने की जरूरत नहीं : ट्वीजिंग करने के लिए आपको ब्यूटी प्रोफेशनल होने की जरूरत नहीं है। एक बार जब आप इस तकनीक से परिचित हो जाएंगे तो​ फिर आप पूरी बारीकी से ट्वीजिंग कर सकते हैं। यही वजह है महिलाओं में ट्वीजिंग काफी लोकप्रिय है।

इसलिए बुरा है ट्वीजिंग

इनग्रोन हेयर :​ थिक हेयर फालिकल का ट्वीजिंग करना अच्छा नहीं माना जाता है। इससे इनग्रोन हेयर की समस्या आ सकती है। साथ ही इससे त्वचा पर लाली, सूजन और निशान भी आ सकता है।

पिंचिंग स्किन : ट्वीजर के इस्तेमाल के दौरान पिंचिंग स्किन की समस्या सबसे बड़ी होती है। सिर्फ सावधानी से ही इस समस्या से निजात पाया जा सकता है। इस तकनीक से परिचित हो जाने के बाद आपको इस परेशानी से नहीं जूझना पड़ेगा।

समय : बालों को हटाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दूसरी विधि की तुलना में ट्वीजिंग में ज्यादा समय लगता है। ट्वीजिंग में लगने वाला समय इस बात पर निर्भर करता है कि बाल कितने बड़े हिस्से पर निकले हैं। चूंकि ट्वीजिंग बालों को हटाने का अस्थाई तरीका है, इसलिए नियमित अंतराल पर इसे दोहराना पड़ता है।

ऊबाउ : अगर आप बहुत बड़े​ हिस्से के बाल को हटाने के बारे में विचार कर रहे हैं तो यह एक ऊबाउ काम साबित होगा। चूंकि ट्वीजिंग एक समय में ज्यादा बालों को नहीं हटा सकता है, इसलिए आपको बहुत ज्यादा धैर्य की जरूरत होगी।

English summary

Tweezing: Good or Bad?

Here are some of the pros and cons of using tweezers for hair removal. Before opting tweezing for removing your unwanted hairs, go through these pros and cons of the technique.
Story first published: Thursday, January 23, 2014, 19:30 [IST]
Please Wait while comments are loading...