आपके किचन में छिपा है झड़ते बालों को रोकने का उपचार

By Deeksha Mishra
Subscribe to Boldsky

आजकल ज्यादातर लोग अपने लुक्स को लेकर काफी जागरूक रहते हैं। वे अपने झड़ते हुए बालों की समस्या को लेकर सैलून या क्लीनिक पहुंचते हैं ताकि वे इसके रोकथाम के लिये उपचार कर सकें, जो वास्तव में आपकी जेब पर काफी भारी पड़ता है।

Turmeric for Hair Care | जाने Damage बालों के लिए किस तरह असरदार है हल्‍दी | Boldsky

वैसे तो मार्केट में रोकथाम के लिये कई उपचार उपलब्ध हैं, लेकिन वे काफी मंहगे हो सकते हैं। फिर भी कुछ ऐसे घरेलु उपचार हैं जिनके इस्तेमाल से बालों का झड़ना दूर किया जा सकता है। इस जादुई उपचार के बारे में और जानने के लिए आगे पढ़ें...

does-turmeric-help-in-curing-hair-loss

बालों के झड़ने के लक्षण

अक्सर आप सोचते हैं कि आपके बाल क्यों झड़ रहे हैं? सभी के बालों के झड़ने का पैटर्न अलग-अलग हो सकता है। लेकिन कुछ आम लक्षण है जिससे बाल अत्यधिक झड़ते हैं:

सिर के शीर्ष पर पतले बाल: यह सबसे आम प्रकार है जो पुरुषों और महिलाओं दोनों को प्रभावित करता है। पुरुषों में, बाल माथे से पीछे झड़ने शुरु हो जाते हैं जबकि महिलाओं में, हेयरलाइन बरकरार है लेकिन यह शेष बालों के हिस्सों में फैल रहा है।

गंजेपन का निशान: पैच में खोपड़ी के बाल झड़ने लगते हैं। खोपड़ी का यह हिस्सा खुजलीभरा और दर्दनाक भी हो सकता है।

बालों को ढीला करना: चिंता की वजह से भी आपके बाल झड़ने लग सकते हैं। जिससे मुट्ठीभर बाल गिरने लगता है। यह बालों के पतले होने की वजह बनता है।

स्कैल्प पर स्केलिंग का पैच: यह दाद का भी संकेत हो सकता है। इससे आपकी खोपड़ी में सूजन के साथ-साथ कभी रिसाव भी हो सकता है।

पूरे शरीर पर बालों का झड़ना: कुछ चिकित्सीय स्थितियों या उपचारों के कारण अत्यधिक बाल झड़ने लगते हैं। उदहारण के लिये कीमोथेरेपी( (कैंसर उपचार के लिए उपयोग किया जाता है)। खोए हुए बाल आमतौर पर वापस लाते हैं।

बाल झड़ने का कारण-

•बालों का झड़ना तब शुरु होता है जब बालों का विकास और शेडिंग का चक्र बाधित हो जाता है या कुछ मामलों में हेयर फोलिकल खत्म हो जाता है जिससे बाल डैमेज होने लगते हैं:

•जैनिटिक समस्या- वंशानुगत बालों का झड़ना धीरे -धीरे उम्र के साथ बढ़ता है।

•हार्मोनल समस्या- कुछ चिकित्सा स्थिति भी आपके बालों को प्रभावित कर सकती है।

•दवाएं- कुछ दवाएं हेयर फोलिकल को प्रभावित कर सकती हैं और आपके बालों को डैमेज करती हैं।यह आमतौर पर कुछ दवाओं का दुष्प्रभाव होता है।

•रेडिएशन थेरेपी- ऐसी थेरेपी में, बाल कैसे प्राकृतिक रुप से वापस उग सकते हैं।सोचिए!

•तनावपूर्ण घटना- अवसाद का एक रूप आपके बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

•झड़ते बालों के लिए उपचार-अगर आपने बालों को स्टाइलिंग बनाने के लिये उपकरणों की मदद ली हैं तो आपके बालों की ताकत कम हो सकती है और आपके बाल गिर सकते हैं।

बालों के झड़ने के रोकथाम के लिये घरेलू उपचार

हमारे किचन में सबसे आवश्यक मसालों में से एक है और इसके बिना कोई भी सब्जी अधूरी लगती है। बालों के झड़ने के इलाज के लिये इस मसाले का इस्तेमाल किया जाता है। बालों के झड़ने को कम करने के लिए हल्दी का इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि, यह सामयिक अनुप्रयोग के रूप में नहीं है बल्कि हल्दी समृद्ध आहार के माध्यम से खपत के रूप में है।

क्या बालों का झड़ना रोक सकती है हल्दी?

बालों पर हल्दी लगाने से बैक्टीरिया और कवक से छुटकारा पाने में मदद मिल सकती है लेकिन जब बालों के झड़ने का इलाज करने की बात आती है, तो हल्दी पूरी तरह से लाभकारी हो सकती है।

हल्दी त्वचा के लिए सिर्फ अच्छी नहीं है बल्कि यह भी एक अत्यंत महत्वपूर्ण जड़ी बूटी है जो बालों की समस्याओं को खत्म कर सकती है। हर दिन हल्दी के इस्तेमाल से आप बालों का झड़ना कम कर सकते हैं।

हल्दी का इस्तेमाल

बालों के झड़ने को रोकने के लिेए एक चौथाई चम्मच हल्दी काफी है। सुनिश्चित करें कि आप आधा चम्मच से अधिक हल्‍दी का इस्तेमाल न करें। हल्दी की अधिक मात्रा आपके शरीर में ऑक्सालेट की वृद्धि करेगी जो नुकसानदेह साबित हो सकता है। खासतौर पर उन लोगों के लिए जो किडनी स्टोन से ग्रसित होते हैं।

इसलिए, हर बार जब भी आप खाना बनाएं तो सब्जी में हल्दी का इस्तेमाल जरूर करें इससे स्वादिष्ट खाना बनने के साथ-साथ आपके बालों और त्वचा के लिये लाभदायक होगा। अपने खाने में काली मिर्च जोड़ना और बेहतर है जिससे हल्दी अवशोषण की अनुमति मिल जाएगी।

हल्दी के फायदे

हल्दी को सिट्रेट्रिक अल्पाशिया के नाम से भी जाना जाता है। यह बीमारी में इलाज के लिये फायदेमंद है। यह हेयर फोलिकल को डैमेज होने से बचाता है और बालों का झड़ना रोकता है। हल्दी में एक सक्रिय घटक होता है, जिसे कर्क्यूमिन कहा जाता है जो बालों की विभिन्न बीमारियों को ठीक करने में अत्यधिक प्रभावी होता है। क्योंकि हल्दी में एंटीफंगल, एंटी उत्तेजक, एंटी-एलर्जिक, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीसेप्टिक और जीवाणुरोधी गुण पाए जाते हैं।

बालों के विशेषज्ञों और प्रमाणित ट्राइकोलॉजिस्ट कहते हैं कि हल्दी बालों को झड़ने से रोक सकता है क्योंकि बालों का झड़ना कुछ तनावपूर्ण स्थितियों के कारण और कुछ खोपड़ी संक्रमण के कारण होता है। स्कैल्प डिसऑर्डर का पहला संकेत है खोपड़ी में खुजली होना। यदि आप खोपड़ी की खुजली को अनदेखा करते हैं, तो बालों का झड़ना शुरु हो जाएगा और अंत में बाल पतले होने लगते हैं।

बालों के झड़ने से निपटने के दौरान याद रखने के लिए आवश्यक बातें

बालों का झड़ना आपको निराश कर सकता है लेकिन नीचे दिय़े गये घरेलु उपचार के बाद बालों के झड़ने को रोकने और इलाज से आपको आराम भी मिल सकता है।

•रोजाना एंटी-डैंड्रफ शैंपू का इस्तेमाल न करें। क्योंकि यह बालों की जड़ों को नुकसान पहुंचा सकता है।

•अपने बालों को फिर से भरने से पहले कम से कम 2 से 3 महीने का अंतराल रखें।

•एक ही समय में कई सारे उपचार न करें।

•गीले बालों में कभी कठोर कंघी का इस्तेमाल न करें।

•जैल, ड्रायर बालों में लगाने से बचें।

•लंबे बालों को रोजाना बन यानि जूड़ा बनाकर न बाधें।

•अपने बालों को हमेशा ड्राय न रखें।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    Does Turmeric Help In Curing Hair Loss?

    Hair loss can be caused due to stress, poor diet and hereditary or hormonal disorder. But there is always a cure. And, what if you could easily cure it at home using one simple and readily available ingredient from your kitchen?
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more