अब अपनी त्‍वचा के अनुसार ही चुनें अपने लिए फेशियल

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

हम में से शायद ही कोई ऐसा होगा जिसे फेशियल के बाद का ग्‍लोइंग निखार पसंद नहीं आता हो। त्‍वचा के लिए फेशियल बहुत अच्‍छा होता है। फेशियल के दौरान मसाज करने से त्‍वचा के अंदर रक्‍तप्रवाह पहले से बेहतर तरीके से होने लगता है। फेशियल के दौरान त्‍वचा को अतिरिक्‍त ऑक्‍सीजन मिलता है जिसकी वजह से वो चमकने लगती है।

फेशियल करते समय चेहरे पर लगाई जाने वाली चीज़ों और क्रीमों से हमें ज्‍यादा से ज्‍यादा फायदा मिलता है क्‍योंकि मसाज करते समय त्‍वचा की अंदरूनी परत तक ये क्रीम अपना असर दिखाती हैं।

त्‍वचा को फेशियल के ज़रिए बढिया तरीके से रेजुनवेट किया जा सकता है। फेशियल में कई स्‍टेप्‍स होते हैं जैसे क्‍लींजिंग, स्‍क्रबिंग, मसाज और फिर फेस पैक लगाना। ये सभी चेहरे पर अपना असर दिखाने में कोई कमी नहीं छोड़ते हैं।

क्‍लींजिंग के ज़रिए त्‍वचा में जमी सारी धूल-मिट्टी और अन्‍य गंदगी निकल जाती है। स्‍क्रबिंग करने से त्‍वचा की मृत कोशिकाओं से छुटकारा मिलता है।

मसाज करने से ये सभी प्रॉडक्‍ट्स आसानी से त्‍वचा की अंदरूनी परत तक पहुंच पाते हैं और मसाज के कारण ये चीज़ें अपना सही असर दिखा पाती हैं। फेस पैक से त्‍वचा में कसाव आता है और ये लटकती नहीं है। फेशियल से त्‍वचा को आराम भी मिलता है।

मार्केट में आपको कई तरह के फेशियल मिल जाएंगें जिनके बारे में जानकर आप कंफ्यूज़ हो सकती हैं कि आपके लिए उनमें से क्‍या बेहतर है।

अपने लिए कोई भी फेशियल चुनने से आपको अपनी स्किन टाइप के बारे में पता होना चाहिए। वरना फेशियल आपके चेहरे को सुंदर दिखाने की बजाय आपको त्‍वचा संबंधित परेशानियां दे सकता है।

How many times should you get Facial?, कितनी बार Facial करवाना चाहिए? | Boldsky

सही फेशियल आपकी त्‍वचा को पहले से भी बेहतर और सुंदर बनाता है और इससे चेहरे की चमक भी बढ़ जाती है। इस आर्टिकल में आप पढ़ेंगें कि आपकी स्किन टाइप के लिए कौन-सा फेशियल बेहतर रहेगा। तो चलिए बिना कोई देर किए हम आपको बताते हैं कि कौन-सा फेशियल आपकी त्‍वचा को खूबसूरत और चमकदार बना सकता है।

शुष्‍क त्‍वचा के लिए फेशियल

शुष्‍क त्‍वचा के लिए फेशियल

शुष्‍क त्‍वचा बड़ी जल्‍दी बेजान और क्षतिग्रस्‍त दिखने लगती है। इसे ऐसे फेशियल की जरूरत होती है जो इसे बहुत ज्‍यादा नमी प्रदान करे और त्‍वचा को मॉइश्‍चराइज़ कर उसे चमकदार बनाए। इस स्किन टाइप के लिए सबसे बैस्‍ट रहता है चॉकलेट फेशियल और अल्‍ट्रा हाइड्रेटिंग वॉटर मेलन फेशियल।

चॉकलेट फे‍शियल में ऐसे एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स होते हैं जो त्‍वचा की मरम्‍मत के साथ-साथ उसमें कोलाजन के उत्‍पादन को भी बढ़ने में मदद करते हैं। वहीं मार्केट में अभी नया-नया आया है वॉटरमेलन फेशियल जो त्‍वचा को पूरी तरह से पुनर्जीवित कर उसकी खोई नमी को वापिस लौटाता है।

तैलीय त्‍वचा को ऐसे फेशियल

तैलीय त्‍वचा को ऐसे फेशियल

पर्ल फेशियल इनके लिए बेहतर होता है क्‍योंकि पर्ल पाउडर अतिरिक्‍त ऑयल को सोख लेता है और इससे त्‍वचा चमकदार दिखने लगती है। ऑयली स्किन के लिए सिल्‍वर फेशियल भी बेहतर माना जाता है क्‍योंकि सिल्‍वर को त्‍वचा को प्‍यूरिफाई और डिटॉक्‍सिफाई करने का प्राकृतिक तरीका माना जाता है।

मिलीजुली त्‍वचा के लिए फेशियल

मिलीजुली त्‍वचा के लिए फेशियल

मिलीजुली त्‍वचा का मतलब है कि गालों की त्‍वचा शुष्‍क और चेहरे के टी-जोन की त्‍वचा ऑयली हो। टी-जोन यानि माथा, नाक और ठोड़ी। इस तरह की त्‍वचा को विशेष देखभाल की जरूरत होती है लेकिन इसके लिए आपको सही प्रॉडक्‍ट्स भी चुनने आने चाहिए।

मिलीजुली त्‍वचा पर आसानी से झुर्रियां और धाग-धब्‍बे पड़ जाते हैं। इस त्‍वचा के लिए ऐसा फेशियल बेहतर रहता है जो त्‍वचा को इस तरह की समस्‍याओ से सुरक्षा प्रदान करे। आपको एंटी-एजिंग फेशियल और प्‍लैटिनम फेशियल करवाने से फायदा होगा।

एंटी-एजिंग फेशियल से त्‍वचा की झुर्रियां कम होती है और त्‍वचा में कसाव आता है। वहीं प्‍लैटिनम फेशियल त्‍वचा से शुष्‍कता को दूर कर उसकी कोशिकाओं को नमी प्रदान करता है। इससे त्‍वचा जवां और खूबसूरत दिखाई देती है।

संवेदनशील त्‍वचा के लिए फेशियल

संवेदनशील त्‍वचा के लिए फेशियल

संवेदनशील त्‍वचा पर लालपन, खुश्‍की और खुजली होने का खतरा ज्‍यादा रहता है। इस पर कोई भी चीज़ बहुत जल्‍दी असर दिखाती है। अब वो असर अच्‍छा और बुरा दोनों ही हो सकता है। संवेदनशील त्‍वचा के लोगों को तेज खुशबू वाले उत्‍पादों से दूर ही रहना चाहिए। इस तरह की त्‍वचा बहुत जल्‍दी सूखी और लाल पड़ जाती है।

आपको ऐसा फेशियल करवाना चाहिए जो आपकी त्‍वचा को मॉइचश्‍चर प्रदान कर उसकी जलन को कम कर सके। संवेदनशील त्‍वचा के लिए ऑक्‍सीजन फेशियल बे‍हतर रहता है क्‍यों कि ये त्‍वचा को मुलायम बनाने के साथ-साथ उसे स्‍वस्‍थ और चमकदार भी बनाता है।

दाएं हाथ की की मध्यमा या कनिष्ठा अंगुली में धारण इसे धारण करें। इसे वैसे तो किसी भी दिन पहना जा सकता है, पर शनिवार, शुक्रवार या बुधवार के दिन पहनना शुभ रहता है।

कच्चे दूध, जल और गंगाजल के मिश्रण में सुलेमानी हकीक की अंगूठी को डुबोकर हनुमान चालीसा पढ़ते हुए या अपने ईष्ट देव का ध्यान करते हुए इसे धारण करें।

English summary

Ideal Facial To Suit Your Skin Type

Take a look at ideal facials to suit your skin type.
Story first published: Monday, August 14, 2017, 12:00 [IST]
Please Wait while comments are loading...