त्‍वचा पर क्‍या पड़ता है वायु प्रदूषण का असर

By: Parul Rohatgi
Subscribe to Boldsky

पिछले कई सालों में शहर की हवा काफी प्रदूषित हो गई है। ऐसा हवा में मौजूद कणों के बढ़ने की वजह से हो रहा है।

हम में से सभी को वायु प्रदूषण से स्‍वास्‍थ्‍य को होने वाले नुकसान के बारे में जानते हैं। इसकी वजह से त्‍वचा पर भी हानिकारक प्रभाव पड़ता है।

हवा में मौजूद प्रदूषक त्‍वचा को कुरूप बना देते हैं। आज हम आपको वायु प्रदूषण के हानिकारक प्रभाव के बारे में बताने जा रहे हैं।

effects of air pollution on skin

इस बारे में जानकारी प्राप्‍त करने के बाद आप वायु प्रदूषण से अपनी त्‍वचा की उचित सुरक्षा कर पाएंगें।

तो चलिए जानते हैं वायु प्रदूषण से त्‍वचा को नुकसान पहुंचाने के विभिन्‍न तरीकों के बारे में।

योनि में लीच या जोंक डालना

योनि में लीच या जोंक डालना

पुराने जमाने में गर्भवती महिलाओं को योनि में जोंक डालने के लिए मजबूर किया जाता था, ताकि यह भ्रूण को नष्ट कर दे। ऐसा माना जाता था कि जोंक खून को चूसकर भ्रूण को मार देगा। कितना डरावना है ना!

कोट का हैंगर अंदर डालना

कोट का हैंगर अंदर डालना

यह भी बहुत डरावना लगता है कि कैसे भ्रूण को कोख में ही मारने के लिए ऐसी नुकीली चीजें डाली जाती थी। इसकी सोच हो जंकझोर देती है।

नुकीली चीज डालना

नुकीली चीज डालना

कोई भी चीज जो इतनी लंबी है कि अंदर जाकर भ्रूण को मार सकती है उसे इस्तेमाल कर लिया जाता था। व्हेल की हड्डी से टर्की के पंख तक, अनचाहे गर्भ को खत्म करने के लिए कुछ भी बेकार से बेकार तरीका अपनाया जाता था।

समय के साथ ये नुकीली चीजें बदली

समय के साथ ये नुकीली चीजें बदली

टर्की के पंखों से लेकर ऑपरेशन के उपकरण इस्तेमाल करने तक इन तरीकों में बहुत बदलाव हुआ। इन डरावने उपकरणों में मूत्र नलिका, चिमटी और काँच का इस्तेमाल!

साबुन का इस्तेमाल

साबुन का इस्तेमाल

यह भी एक अजीब तरीका है जो डॉक्टर्स गैर-कानूनी गर्भपात के लिए इस्तेमाल करते थे। वे एनीमिया की सिरिन्ज में साबुन भरकर योनि में डालते थे। ऐसा माना जाता था कि इस सीरीज से गर्भ नष्ट हो जाएगा और गर्भपात हो जाएगा।

कॉकटेल में जहरीला पौधा

कॉकटेल में जहरीला पौधा

परिवार के पुराने लोग स्थानीय जहरीले पौधे को कॉकटेल में डालकर गर्भवती महिला को देते थे। यह जहरीला पौधा भ्रूण को मार देता था।

जब अजीब चीजों वाले टैंपोन अंदर डाले जाते थे

जब अजीब चीजों वाले टैंपोन अंदर डाले जाते थे

पीसी हुई चीटियों का मिश्रण, ऊंट के बाल या ऊंट के मुंह का झाग ना जाने क्या क्या! ये अजीब चीजें योनि में डाली जाती थी। तेज जहर के कारण ये चीजें भ्रूण को खत्म कर देती थी।

गरम पानी से स्नान करना

गरम पानी से स्नान करना

यह भी एक अजीब तरीका है। यह माना जाता था कि गरम-गरम स्नान करने से भ्रूण हत्या हो जाएगी। उनका मानना था कि इससे महिला की झिल्ली खुल जाएगी और शरीर से भ्रूण निकल जाएगा।

English summary

त्‍वचा पर क्‍या पड़ता है वायु प्रदूषण का असर

Read on to know about the various ways in which air pollution can cause damage to your skin.
Please Wait while comments are loading...