ग्वार गम से शरीर को होने वाले लाभ

By: Shakeel Jamshedpuri
Subscribe to Boldsky

अगर आप स्वस्थ भोजनों में कुछ अलग तरह के व्यंजन का स्वाद लेना चाहते हैं तो अपने आहार में ज्वार को शामिल करें। ये आपको तंदुरुस्त तो रखेगा ही पर साथ ही इसके और भी कई फायदे हैं। ज्वार ग्वार गम को लेने का एक प्राकृतिक स्रोत है। इसका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर करी और ग्रेवी को गाढ़ा बनाने के लिए किया जाता है। ग्वार गम में बड़ी मात्रा में औषधीय गुण पाया जता है और इसके नियमित सेवन से शरीर को कई तरह से फायदा पहुंचता है। वनस्पतिशास्त्र में इसे काइमोपसिस टेट्रागोनोलोबा कहा जाता है।

Amazing health benefits of eating cluster beans

ग्वार गम से शरीर को होने वाले लाभ

— महिलाओं को इससे काफी फायदा पहुंचता है। यह भ्रूण के सामान्य विकास में मदद करता है और प्रसव को भी आसान बनाता है। प्रेगनेंट महिलाओं का यह सबसे अच्छा आहार है।

— इसमें कैलोरी काफी कम होता है, पर विटामिन और मिनरल्स प्रचूर मात्रा में पाए जाते हैं। इससे यह अनावश्यक वजन को कम करने में मदद करता है।

— अगर आपको खून की कमी यानी अनीमीया है तो यह इसका सबसे अच्छा उपचार है।

— शरीर के फ्री रेडिकल्स को खत्म कर यह आपको कैंसर से जुड़ी समस्याओं से दूर रखेगा।

— इसमें आहार संबंधी फायबर पाया जाता है, जो खून से कोलेस्टेरोल की मात्रा को कम करने में मदद करता है।

CLICK: बैंगन से होने वाले स्वास्थ लाभ

— इसमें बड़ी मात्रा में विटामिन, प्रोटीन, काबोहाइड्रेट, मिनरल्स और घुलनशील फाइबर पाए जाते हैं, जो आपको स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

— मजबूत दांत और हड्डी को सुरक्षित रखने में काफी उपयोगी होता है।

— हर तरह की बीमारी से आपको दूर रखेगा।

— त्वचा संबंधी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में फायदेमंद होता है।

— इसमें पाया जाने वाला एंटीआक्सीडेंट त्वचा के क्षतिग्रस्त कोशिका को हटाने में मदद करता है।

— यह त्वचा की ​झुर्रियों और डार्क स्पॉट को हटाने में मदद करता है।

— इससे शरीर को जिंक और कॉपर मिलता है जो प्रीमैच्योर झुर्रियों से लड़ने में मदद करता है।

— सूरज की रोशनी के ज्यादा संपर्क में आने से होने वाले प्रीमैच्योर ​एजिंग से भी बचाता है।

English summary

Amazing health benefits of eating cluster beans

This gaur gum is very rich in medicinal properties and it helps in your health part when you consume it daily, it is botanically called as ‘Cyamopsis tetragonoloba’.
Story first published: Wednesday, January 29, 2014, 13:02 [IST]
Please Wait while comments are loading...