जानिए तेल से खाना बनाना आपकी सेहत के लिए क्यों है खतरनाक

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

जब खाना पकाने और पसंदीदा भारतीय व्यंजनों की तैयारी करने की बात आती है, तो नमक से भी ज्यादा एक जरूरी चीज का अधिक इस्तेमाल होता है और वो चीज है वनस्पति तेल। इसमें कोई शक नहीं है कि फल और सब्जियां सेहत के लिए बेहतर हैं। लेकिन यह जरूरी नहीं है कि इनसे बनने वाली सभी चीजें स्वस्थ हों।

खाना पकाने वाले तेलों के बारे में बहुत सारी विवादित जानकारी है। आमतौर पर खाना बनाने के लिए सब्जी और बीज आधारित स्वस्थ तेलों के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है। हालांकि यह कुछ मामलों में सच हो सकता है लेकिन इस तरह के तेलों से स्वास्थ्य जोखिमों का खतरा भी होता है।

 Cooking Ingredient

क्या कुछ वनस्पति तेल अस्वस्थ होते हैं?

हालांकि कई अध्ययनों से पता चला है कि जैतून का तेल और नारियल का तेल जैसे कुछ प्लांट बेस्ड ऑयल स्वस्थ हो सकते हैं और सभी वनस्पति तेल इनकी तरह स्वस्थ नहीं होते हैं। इतना ही नहीं कुछ तेलों का उपयोग प्रकृति के आधार पर कुछ हद तक खतरनाक हो सकता है।

हाल ही के एक अध्ययन में पाया गया कि कैओला, सूरजमुखी और मकई जैसे बीज के तेल कैंसर का खतरा बढ़ा सकते हैं, क्योंकि ये गर्म होने पर न्यूरोटोक्सिक जारी करते हैं जिससे कैंसर का खतरा होता है। हालांकि कई अध्ययनों से पता चला है कि जैतून का तेल और नारियल के तेल जैसे कुछ पौधे आधारित तेल स्वस्थ हो सकते हैं।

जर्नल प्रोसीडिया इंजीनियरिंग में छपे एक हालिया अध्ययन में पाया गया कि कैओला, सूरजमुखी और मकई जैसे तेल गर्म होने पर कैंसर का जोखिम काफी बढ़ा सकते हैं। पॉलीअनसैचुरेटेड फैट और ओमेगा-6 वसा जैसे स्वस्थ वसा से भरे हुए, ये तेल अक्सर सस्ते होते हैं। लेकिन ये गर्म होने पर न्यूरोटॉक्सिक जारी करते हैं जिससे कैंसर होने का खतरा होता है।

शोधकर्ताओं के मुताबिक इससे एशियाई महिलाओं में फेफड़ों के कैंसर का अधिक जोखिम हो सकता है। एक अन्य अध्ययन ने बताया गया है कि खाना पकाने के तेल के धुएं से पॉलिसालिक एरोमेटिक हाइड्रोकार्बन या पीएएच में वृद्धि होती है, जो कैंसर का कारक है।

इसका क्या विकल्प है?

सभी तेलों की जांच में, जैतून का तेल सबसे सुरक्षित पाया गया, जबकि सूरजमुखी तेल सबसे खतरनाक पाया गया। आपको अपने व्यंजनों में ऐसे तेलों का उपयोग करने के तरीके को बदलने की जरूरत है। चूंकि लगभग सभी खाना पकाने वाले तेल गरम होने पर रासायनिक परिवर्तन से गुजरते हैं, इसलिए किसी भी विशिष्ट तेल की सिफारिश करना मुश्किल है।

वास्तव में आपको अपने खानों में तेल के इस्तेमाल के तरीके को बदलने की जरूरत है। सभी खाना पकाने वाले तेल गरम होने पर रासायनिक परिवर्तन से गुजरते हैं। इसलिए यह कहना मुश्किल है कि आपको डीप फ्राई या पैन फ्राई के लिए कौन सा तेल उपयोग करना चाहिए।

इसलिए, इन वनस्पति तेलों से उच्च तापमान पर खाना बनाने के बजाय, इनका केवल सलाद ड्रेसिंग के रूप में उपयोग करना समझदारी होगा। इससे आपको तेल के सभी स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं और वो भी बिना किसी जोखिम के।

बेशक कुछ लोग डीप फ्राई और ऑयली फूड्स खाना पसंद करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि इससे आपको मजा तो आता है लेकिन आपका स्वास्थ्य ख़राब हो सकता है। इसलिए आपको ओलिव ऑयल या कोकोनट ऑयल का इस्तेमाल करना चाहिए और खाने की ऐसी चीजों से बचना चाहिए जिन्हें बनाने के लिए ऑयल की जरूरत होती है।

English summary

This Trusted Cooking Ingredient Is More Dangerous Than You Realize

When it comes to cooking and preparing almost all of our favorite Indian delicacies there's one ingredient that's even more ubiquitous than table sugar - vegetable oil.
Story first published: Friday, October 13, 2017, 8:00 [IST]
Please Wait while comments are loading...