जानिए डेस्क पर लंच करना क्यों है बैड आइडिया?

By Lekhaka
Subscribe to Boldsky

लोग रोज ऑफिस में 12 घंटे तक बिता रहे हैं और वह भी तनाव से भरे हुए। हालत यह है कि समय के अभाव में लोग सीट पर बैठे-बैठे ही अपना लंच, ब्रेकफास्ट लेते हैं।

अगर आपका डेली रुटीन भी ऐसा ही है, तो आपका वजन बेतहाशा बढ़ता रहेगा। एक रिसर्च से पता चला है कि वे लोग, जो सिर्फ बैठे रहने वाली जॉब करते हैं, उन लोगों का वजन भागदौड़ वाली जॉब करने वाले लोगों की तुलना में 3.3 पर्सेंट ज्यादा होता है। जाहिर है, वजन बढ़ने का एक बड़ा कारण कम ऐक्टिव होना है।

Boldsky

ब्रेक लें

बेहतर होगा कि आप लंच के लिए 20 से 30 मिनट का समय निकालें। अक्सर ऑफिस में इससे ज्यादा ही समय मिलता है। आप इसका उपयोग लंच के लिए ही करें, न कि गप्पें मारने या किसी दूसरे काम के लिए।

दिमाग को चाहिए फ्रेश वाइब्स

जब आपके मस्तिष्क और शरीर एक अलग स्थान पर जाते हैं, तो वे एक अलग खिंचाव को अवशोषित करते हैं जो आपके काम से संबंधित सामान के अलावा होता है। यह आपको बहुत अधिक रिफ़्रेस करता है और जब आप वर्कस्टेशन पर वापस लौटते हैं तो आपको बेहतर महसूस कराने में मदद करता है।

सहकर्मियों से रिश्ता बेहतर होता है

जाहिर है जब आप अपने सहकर्मियों के साथ बैठकर लंच करते हैं, तो आपके बीच विभिन्न विषयों पर बातचीत होती है, जिससे आपके रिश्ते बेहतर होते हैं। लंच के बाद आप उनके साथ घूमने भी जा सकते हैं, जिससे कुछ कैलोरी भी बर्न होती है।

दिमाग और शरीर के लिए मूवमेंट जरूरी

लगातार सीट पर बैठकर काम करने और उसके बाद वहीं पर लंच करने से आपको थकावट हो सकती है। संभव है आपके काम मीम भी दिल ना लगे। इसलिए बेहतर है कि लंच में अपनी सीट से उठें। इससे दिमाग और शरीर का मूवमेंट होता है।

सीट पर सलीके से खाना होता है

जाहिर है जब आप सीट पर लंच करते हैं, तो आपको खाने से ज्यादा इस चीज का ध्यान रखना होता है कि आप कैसे खा रहे हैं। लेकिन जब कैंटीन में जाते हैं, तो आपको केवल अपने खाने पर ध्यान देना होता है। इससे आपका पेट भी भरता है और संतुष्टि भी मिलती है।

म्यूजिक का आनंद लें

जब आप कैंटीन में लंच करने जाते हैं, तो वहां थोड़ा म्यूजिक सुनें। जाहिर है यह काम अपनी सीट पर तो नहीं कर सकते हैं।


    English summary

    जानिए डेस्क पर लंच करना क्यों है बैड आइडिया? | Why Eating Lunch At Your Desk Is Bad?

    At the workplace, most of us try to finish the lunch at the work desk itself. It seems to be very convenient, right? But is it a healthy practice?
    Story first published: Monday, July 31, 2017, 9:00 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more