जिम में ए.सी होना चाहिए या नहीं?

Subscribe to Boldsky

जिम की मेंबरशिप लेने से पहले आप वहां के ट्रेनर, उपकरण और साफ-सफाई पर ध्‍यान देते होंगे। हम में से कई लोग अपनी सुविधा के लिए ऐसा जिम देखते हैं जहां पर ए.सी लगा हो लेकिन क्‍या आप ये जानते हैं कि जिम में ए.सी लगा होना आपके लिए अच्‍छा है या नहीं?

आजकल लोग अपनी फिटनेस और सेहत को लेकर ज़्यादा सतर्क हो गए हैं और स्‍वस्‍थ और फिट बॉडी पाने के लिए वो जिम की मेंबरशिप ले लेते हैं। हम जिम में काफी समय बिताते हैं और इस वजह से यहां हमारे कुछ दोस्‍त भी बन जाते हैं। हम हमेशा से ऐसी जगह की तलाश में रहते हैं जहां हमें सुविधा मिले। इसलिए एयर कंडीशन होना तो बहुत ज़रूरी है लेकिन क्‍या ये आपके वर्कआउट को प्रभावित करता है?

Gym With AC or Non AC

आजकल कई सार्वजनिक जगहों जैसे कैफे, रेस्‍टोरेंट, शॉपिंग कॉम्‍प्‍लेक्‍स और यहां तक कि सार्वजनिक वाहनों में भी ए.सी लगा होता है। इन जगहों पर तो ए.सी फिर भी ठीक रहता है लेकिन जिम में ए.सी लगाना सेहत और फिटनेस की चाहत रखने वाले लोगों को परेशान करता है।

अगर आपके मन में भी यही सवाल चल रहा था तो आज आपको इस आर्टिकल में अपने सवाल का जवाब मिल जाएगा। आजकल हम जहां भी जाते हैं वहां पर ए.सी होता ही है। लेकिन आखिर हमें ए.सी की इतनी ज़रूरत क्‍यों है?

बंद जगहों पर हवा की क्‍वालिटी को बनाए रखना ज़रूरी होता है और इसलिए ए.सी हमें आसपास की जगह से हवा लेकर सांस लेने के लिए ताजी हवा देता है। मानव शरीर से लगातार गर्मी निकलती है जिससे बंद जगहों पर लंबे समय तक रहना हम इंसानों के लिए मुश्किल काम है।

वैसे आज हर जगह ए.सी होता ही है लेकिन इसकी ज़रूरत नहीं है। ए.सी सिर्फ उन जगहों पर लगा होना चाहिए जहां पर प्राकृतिक हवा कम या बिलकुल ना पहुंच पाती हो।

क्या जिम में ए.सी की ज़रूरत है?

ये एक गंभीर चर्चा का विषय है। जिम में ए.सी की ज़रूरत है या नहीं ये जानने के लिए आपको ये समझना पड़ेगा कि जिम जिस जगह पर स्थित है वो कैसी है, वहां पर एसी की ज़रूरत है भी या नहीं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि आरामदायक वातावरण में हम ज़्यादा व्‍यायाम कर पाते हैं लेकिन ऐसे में शरीर को वार्म अप होने में बहुत समय लगता है जिससे हमें थकान महसूस होने लगती है। तो वर्कआउट के लिए सही वातावरण कैसा होना चाहिए?

इस बात को समझने के लिए पहले जान लेते हैं कि जिम में ए.सी होने के क्‍या फायदे और नुकसान हैं:

जिम में ए.सी के फायदे

आरामदायक वातावरण से आप जिम में ज़्यादा समय बिताते हैं जिससे आप अपना लक्ष्‍य जल्‍दी पा लेते हैं।

वर्कआउट के बाद शरीर जल्‍दी ठंडा हो जाता है।

ऐसे वातावरण में एक्‍सरसाइज़ करने पर मसल क्रैंप्‍स कम होते हैं।

जिम में ए.सी ना होने के फायदे

वर्कआउट के दौरान जो पसीना बाहर निकलता है उसके ज़रिए शरीर से विषाक्‍त पदार्थ भी बाहर निकल जाते हैं।

बिना ए.सी के कार्डियो एक्‍सरसाइज़ करना फायदेमंद होता है।

ब्रेक के बाद भी मांसपेशियों को बार-बार वार्मअप करने की ज़रूरत नहीं पड़ती है।

क्‍या इससे वर्कआउट पर असर पड़ता है?

ए.सी के होने या ना होने से वर्कआउट पर कोई असर नहीं पड़ता है। शरीर को ज़्यादा ठंडा ना रखें। आपके आसपास के वातावरण का वर्कआउट पर ज़्यादा असर नहीं पड़ता है।

कुछ लोग ज़्यादा से ज़्यादा कैलोरी बर्न करने के लिए पसीना बहाते हैं। आपको ये बात ध्‍यान में रखनी चाहिए कि पसीना ज़्यादा बहाने से ज़्यादा कैलोरी बर्न नहीं होती है। पसीना तो बस शरीर से विषाक्‍त चीज़ों को बाहर निकाल देता है।

अगर आप फिर भी नहीं समझ पा रहे हैं कि आपके लिए क्‍या सही है तो दूसरी बातों को भी ध्‍यान में रखकर अपनी पसंद को चुन लें।

जैसे कि अगर अपने आप ही आपके शरीर पर बहुत पसीना आता है तो आपको ए.सी वाले जिम में जाना चाहिए क्‍योंकि ज़्यादा पसीना आने की वजह से रोमछिद्र बंद हो जाते हैं और त्‍वचा रोग उत्‍पन्‍न करते हैं। वहीं अगर आप ठंडी जगह पर रहते हैं तो बिना ए.सी वाला जिम लें ताकि पैसे भी बच जाएं। अगर आप हाईजीन का बहुत ध्‍यान रखते हैं तो ए.सी वाला जिम ही आपके लिए बेहतर रहेगा। ए.सी वाले जिम में वर्कआउट करने से आपको बिना ए.सी वाले जिम के मुकाबले फिट बॉडी पाने में थोड़ा ज़्यादा समय लग सकता है।

अच्‍छे वर्कआउट का क्‍या है सीक्रेट

हर किसी को फिट बॉडी चाहिए होती है। अगर आप भी इसे पाने के सही तरीकों के बारे में जानना चाहते हैं तो इन बातों पर ध्‍यान दें:

जिम में वर्कआउट करते समय इन बातों का ध्‍यान रखें-

अपना लक्ष्‍य तैयार करें और ट्रेनर से बात करें

आपको चाहे वज़न बढ़ाना हो या कम करना हो, हमेशा अपने ट्रेनर से अपने लक्ष्‍य के बारे में बात करें ताकि वो उसी तरह से आपका एक्‍सरसाइज़ रूटीन तैयार करें।

अपने जिम के कपड़ों का खास ख्‍याल रखें

आपके जिम के कपड़े धुले हुए होने चाहिए। पसीने की वजह से किसी भी तरह की बीमारी से बचने के लिए रोज़ साफ कपडे पहनें।

नहाना ज़रूरी है

जिम के दौरान पसीना बहाना ज़रूरी है। इसलिए जिम के बाद नहाने से त्‍वचा साफ हो जाती है जिससे पसीने और धूल से बंद हुए रोमछिद्र खुल जाते हैं।

वार्मअप ज़रूर करें

बिना वार्मअप किए सीधा एक्‍सरसाइज़ शुरु कर देने से मांसपेशियों पर तनाव बढ़ता है। इससे मांसपेशियों में दर्द हो सकता है।

अपनी डाइट का ख्‍याल रखें

जिम जा रहे हैं तो इसका मतलब ये नहीं है कि आप कुछ भी खा सकते हैं। एक्‍सरसाइज़ और डाइट दोनों साथ रहने चाहिए। कभी-कभी आप अपनी पसंद से खा सकते हैं लेकिन जिम जाकर कैलोरी बर्न करना ना भूलें।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    Gym With AC or Non AC: Which Is Better For Workout?

    Ever heard someone ask if they can switch off the AC in the gym? There are a lot of misconceptions about cool environments and sweating when it comes to working out. Read on to know the truth here!
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more