For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

आग पर जलने पर गाजर लगाने से मिलता है फायदा, जानें सर्दियों में गाजर खाने के बे‍म‍िसाल फायदों के बारे में

|

गाजर के प्राकृतिक गुणों को देखते हुए चिकित्सकों ने इसे गरीबों के लिए सेब के समान माना है, जो लोग सेब नहीं खरीद सकते, वे गाजर खाकर उतना ही लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

इससे शरीर में खून की कमी दूर हो जाती है। गाजर का रस पर्याप्त मात्रा में लेने से शरीर मोटा-ताजा और चुस्त हो जाता है।

गर्भावस्था

गर्भावस्था

गर्भावस्था में गाजर का रस पीते रहने से सैप्टिक रोग नहीं होता तथा शरीर में कैल्शियम की भी कमी नहीं रहती है। बच्चों को दूध पिलाने वाली माताओं को नियमित रूप से गाजर के रस का सेवन करना चाहिए। इससे उसके दूध की गुणवत्ता बढ़ती है।

कच्‍चा नारियल खाने से शरीर रहता है चुस्‍त-दुरुस्‍त, स्किन भी रहती है ग्‍लोइंग

दस्त

दस्त

गाजर का सेवन करने से पुराने दस्त, अपच और संग्रहणी रोग ठीक हो जाते हैं। गाजर का अचार बनाकर सेवन करने से बढ़ी हुई तिल्ली कम हो जाती है।आधे कप गाजर के रस में थोड़ी-सा सेंधा नमक मिलाकर 1 दिन में लगभग 4 बार चाटने से दस्त ठीक हो जाता है। यकृत के रोग से पीड़ित रोगी को गाजर का रस, गाजर का सूप या गाजर का गर्म काढ़ा सेवन कराने से लाभ मिलता है।

अविका गौर ने कम किया 13 किलो वजन, इंस्‍टा में शेयर क‍िया वेटलॉस एक्‍सपीर‍ियंस

हृदय अधिक धड़कना

हृदय अधिक धड़कना

हृदय कमजोर होने पर रोजाना 2 बार गाजर का रस पीने से लाभ होता है। हृदय की धड़कन बढ़ना तथा शरीर का खून गाढ़ा होने पर गाजर का सेवन करने से लाभ मिलता है।

स्‍पाइडर बाइट से भी हो सकता है खतरनाक संक्रमण, जानें मकड़ी काटने पर क्‍या करें

आग से जलना

आग से जलना

आग से जले हुए व्यक्ति की जलन और दर्द को दूर करने के लिए गाजर को पीसकर लगाना चाहिये। कच्ची गाजर को पीसकर आग से जले हुए स्थान पर रखने से जलन नष्ट हो जाती है और पीब भी नहीं बनती है। आग से जल जाने पर जले हुए स्थान पर गाजर का रस लगाने से जख्म नहीं बनता तथा जलन व पीड़ा दूर हो जाती है। शरीर के जले हुए भाग पर कच्ची गाजर का रस बार-बार लगाने से लाभ होता है।

स्‍पाइडर बाइट से भी हो सकता है खतरनाक संक्रमण, जानें मकड़ी काटने पर क्‍या करें

खून में लाल कणों की कमी होना

खून में लाल कणों की कमी होना

250 मिलीलीटर गाजर का रस और पालक का रस मिलाकर पियें। इससे शरीर के खून में लाल कणों की वृद्धि होती है तथा इसके साथ ही इसके सेवन से कई प्रकार के रक्त चाप, फोड़ा, गुर्दे के रोग जैसे पेशाब बूंद-बूंद आना, पेशाब कम होना, पेशाब में सफेद पदार्थ आना, सांस की नली में सूजन, कैंसर, मोतियाबिन्द, सर्दी, जुकाम, कंठमाला (घेंघा रोग) और बवासीर आदि रोग भी दूर हो जाते हैं।

खाली पेट अजवाइन का पानी पीने से बीमारियां रहेंगी दूर, मोटापा होगा कम

बड़ी आंत की सूजन

बड़ी आंत की सूजन

बड़ी आंत में सूजन आ जाने पर रोग को ठीक करने के लिए 200 मिलीलीटर गाजर का रस, 150 मिलीलीटर चुकन्दर का रस और 150 मिलीलीटर खीरे का रस मिलाकर पीने से लाभ मिलेगा।

नाभि से न‍िकलने वाले मवाद को ऐसे करें ठीक, जानिए घरेलू उपाय

English summary

Health benefits of eating carrots this winter

We give you 5 valid reasons that will compel you to make this orange-coloured super food your favourite vegetable this winter.