परिवार में हर बीमारी आनुवांशिक रूप से नहीं आती, जानें कैसे

Posted By: Staff
Subscribe to Boldsky

परिवार में एक समान जीवन शैली और परिवारजनों के जींस से या आनुवांशिक रूप से बीमारियाँ एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में जाती हैं। अध्ययन के अनुसार परिवार का एक समान वातावरण जैसे कि रहने की जगह, खाने की आदतें आदि से एक व्यक्ति से दूसरे में बीमारियाँ पहुँचती हैं।

ABOF End Of Season Sale! Get Upto 60% Off on Fashion Wear For Both Men and Women Hurry Up!

जर्नल नेचर जिनेटिक्स में छपी रिसर्च, जिसमें कि यू. के. बायोबैंक का डाटा इस्तेमाल किया गया, इसमें वर्ष 2006-2010 में देश भर के 40 से 69 साल के 500,000 लोगों को लिया गया। इस रिसर्च का उद्देश्य बीमारियों की रोकथाम, जांच और खतरनाक और जानलेवा बीमारियों के इलाज को बेहतर बनाना था। 

 Don't Blame Genes For All Diseases That Run In Families

ब्रिटेन में एडिनबर्ग युनिवर्सिटी से संबद्ध रोसलिन इंस्टीट्यूट के प्रोफेसर क्रिस हैले के अनुसार यू.के. बायोबैंक की ये बड़ी स्टडी हमें कई खास बीमारियों में जींस या आनुवंशिकी की भूमिका के बारे में बताती है।

इसमें उन बीमारियों के बारे में बताया गया है जो कि परिवार के साथ एक जैसा वातावरण शेयर करने से हो सकती हैं जैसे कि दिल की बीमारी, हाइपरटेंशन और तनाव आदि। ऐसे ही कुछ बीमारियाँ है जिंका परिवार से कोई संबंध नहीं है जैसे कि पागलपन, स्ट्रोक और पार्किंसंस डीजेज़ आदि।

पुरानी स्टडीज़ में उन जींस की पहचान की गई जो कि विभिन्न बीमारियों से जुड़े हुये हैं, लेकिन किसी बीमारी को विकसित होने में व्यक्ति की जीवनशैली की भूमिका के बारे में ही बताती हैं। नई रिसर्च में 12 सामान्य बीमारियों के उदाहरण लिए गए हैं जैसे कि ब्लड प्रेशर, दिल की बीमारियाँ, कैंसर और मानसिक बीमारियाँ।

आपस में वातावरण को शेयर करने के प्रभाव को शामिल किए बिना वैज्ञानिक आनुवांशिक परिवर्तन के महत्व की गणना औसतन 47 प्रतिशत अधिक करते हैं। इसलिए वातावरण शेयर करने के प्रभाव को जानना बहुत जरूरी है।

English summary

Don't Blame Genes For All Diseases That Run In Families

A family history of disease may be as much the result of shared lifestyle and surroundings as inherited genes, a study says.
Please Wait while comments are loading...