देसी वियाग्रा है चुकंदर का रस.. मर्दो की यौन शक्ति में करता है इजाफा..

Subscribe to Boldsky

चुंकदर खाने के जितने फायदे होते है, उतने ही फायदें इसके रस में होते है। एक गिलास चुकंदर का रस पीने के कई फायदे होते है। अगर किसी पुरुष में लिबिडो बढ़ाना है तो उसके लिए चुकंदर का रस किसी देसी वियाग्रा से कम नहीं है। इसमें ढेर सारी मात्रा में नाइट्रिक ऑक्साइड होता है।

मतलब अगर इसे खाया जाए तो यह पुरुषों में एक आम समस्‍या जैसे इरेक्‍टाइल डिस्‍फंक्‍शन को दूर करने में मददगार होता है। साथ ही यह सेक्‍स स्‍टेमिना में बढ़ोतरी भी करता है। चुकंदर में पाये जाने वाले नाइट्रेट तथा फाइबर का शरीर पर एक अलग ही प्रभाव पड़ता है।

चुकंदर खासकर उन पुरुषों के लिए वरदान है जो इरेक्‍टाइल डिस्‍फंक्‍शन के शिकार हैं, वे अपनी खाने की प्‍लेट में चुकंदर को शामिल करें और इसके फायदे देखें।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्‍या को करें दूर

इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्‍या को करें दूर

चुकंदर को प्राकृतिक वियाग्रा कहा जाता है। चुकंदर में ढेर सारा नाइट्रेट्स पाया जाता है। अध्ययनों ने साबित किया है कि चुकंदर को रोजाना खाने से आपके शरीर में नाइट्रिक ऑक्‍साइड की मात्रा बढ सकती है। नाइट्रेट्स का एक अच्छा स्रोत होने के नाते, चुकंदर का जूस आपके खून की नलियों को रिलैक्‍स करता है, खासतौर पर पर पेनिग के आस पास की नसों को और वहां तक ब्‍लड के फ्लो को बढावा देता है। इस कारण लिंग में पर्याप्त कड़ापन आता है। स्त्री पुरुष के यौन अंगों की कार्यविधि सुधरती है। यही काम वियाग्रा भी करती है। इसके अतिरिक्त चुकंदर में बोरोन नामक तत्व होता है जो सेक्स हार्मोन बनने में मददगार होता है। इस प्रकार चुकंदर का उपयोग यौन सम्बन्ध के लिए बहुत लाभदायक सिद्ध होता है।

एनर्जी का सोर्स

एनर्जी का सोर्स

इरेक्शन की वजह से बेड पर पर पुरुषों की एनर्जी पर प्रभाव पड़ता है। इसका प्रभाव आपका प्रभाव आपके सेक्‍स लाइफ पर भी पड़ता है। सिर्फ इरेक्‍शन को ही आप कमजोरी या एनर्जी में कमी का कारण नहीं बता सकते है। कमजोरी कई तरह की होती है चाहे वो मानसिक हो या दिल से जुड़ी हो। इसीलिए बीटरूट जूस पीने से आपकी रक्त वाहिकाएं फैल जाती हैं, खून का प्रवाह बढ़ने से आप बेड पर एनर्जेटिक बन सकते है।

 ग्लूकोज़ लेवल को नियंत्रण में रखता है..

ग्लूकोज़ लेवल को नियंत्रण में रखता है..

अक्‍सर डायबिटिज के मरीजों को बेड पर सेक्‍सुअल परफॉर्मेंस और इरेक्शन की कमी की वजह से शर्मिंदा होना पड़ता है। लेकिन बीटरूट का रस इन समस्याओं से निपटने में मदद कर सकता है। यह सटैलैन और नव बीटीनिन से भरपूर होता है जो ग्लूकोज के स्तर को कम करने, इंसुलिन सेंसिटिविटी में बढ़ोतरी के साथ ही मस्तिष्क के रक्त प्रवाह को बढ़ाता है। यह मूत्र उत्पादन के लिए गुर्दे में पर्याप्त रक्त प्रवाह रखता है।

यह लिबिडो बढ़ाता है

यह लिबिडो बढ़ाता है

बीटरूट पीने से कोशिकाओं पर ऐसा ही असर पड़ता है, आपको एनर्जी मिलती है और आपका लिबिडो बढ़ता है। स्त्री पुरुष के यौन अंगों की कार्यविधि सुधरती है। यही काम वियाग्रा भी करती है। इसके अतिरिक्त चुकंदर में बोरोन नामक तत्व होता है जो सेक्स हार्मोन बनने में मददगार होता है। इस प्रकार चुकंदर का उपयोग यौन सम्बन्ध के लिए बहुत लाभदायक सिद्ध होता है।

महिलाओं में हिमोग्‍लोबिन बढ़ाता है

महिलाओं में हिमोग्‍लोबिन बढ़ाता है

भारत में, महिलाओं में एनीमिया बहुत आम है। कम हीमोग्लोबिन एक महिला के ऊर्जा के स्तर को भी गिरा देता है और इसका मतलब यह हो सकता है कि वह बेड में बहुत अच्छा परफॉर्म नहीं कर पातीं। खैर, सिर्फ एक गिलास बीटरूट का रस पीने से मदद मिल सकती है। यह आयरन का एक अच्छा स्रोत है, जो हीमोग्लोबिन बनाने के लिए एक ज़रूरी पोषक तत्व है। हीमोग्लोबिन शरीर के विभिन्न भागों में ऑक्सीजन पहुंचाने में मदद करता है, जिससे आप फुर्तिला महसूस करती हैं।

Beetroot ( चुकंदर ) Health Benefits | कई बीमारियों के लिए रामबाण चुकंदर | Boldsky
नींद की गुणवत्‍ता में सुधार

नींद की गुणवत्‍ता में सुधार

यह रक्त वाहिकाओं को फैला कर रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है। यह रक्तचाप को कम करता है और एनजाइना को आराम देता है। यह प्लेटलेट को जमा होने तथा थक्‍के बनने से रोकता है। गैस्ट्रिक गतिशीलता में मदद करता है। नींद की गुणवत्ता में सुधार करता है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    a glass of beetroot juice works just like Viagra!

    A glass of beetroot juice can boost your health in many ways and one of them is by improving your sex quotient. It is a well known natural remedy for various kinds of male sexual problems and helps women also to get better in bed.
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more