For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

कुम्भ मेला 2019: प्रयागराज जा रहे हैं तो रखें इन बातों का ध्यान

|

उत्तर प्रदेश में प्रयाग कुम्भ की तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। 14 जनवरी से शुरू होने वाले कुम्भ मेले के लिए पूरे शहर में साधु संत और भक्त जुट रहे हैं। आपको बता दें की इस बार कुम्भ में 13 नहीं बल्कि 14 अखाड़े होंगे क्योंकि इस दफा किन्नर अखाड़ा भी महामेले का हिस्सा बनेगा।

Kumbh Mela 2019 in Prayagraj

कुम्भ के दौरान इस जगह की छटा अद्भुत हो जाती है। संगम के घाटों पर पवित्र स्नान, पंडालों में धार्मिक मंत्रोच्चार, ऋषि मुनियों द्वारा ज्ञान और सत्य का पाठ, मधुर संगीत, ये सभी चीज़ें भक्तों को एक बार इस स्थान पर आकर दर्शन करने के लिए विवश कर देती है। अगर आप भी इस मेले का हिस्सा बनने के बारे में सोच रहे हैं तो इन बातों के बारे में जानना आपके लिए बेहतर रहेगा। अगले कुछ समय के लिए धार्मिक गतिविधियों का गढ़ बनने वाले इस स्थान पर भक्तों की भारी भीड़ पहुंचेगी, ऐसे में अपने स्वास्थ्य और सुरक्षा का भी ध्यान रखें।

तीर्थ स्थानों में प्रयाग का है अहम मकाम

तीर्थ स्थानों में प्रयाग का है अहम मकाम

ऐसा माना जाता है कि त्रिवेणी संगम पृथ्वी का केंद्र है। वहीं मत्स्य पुराण के अनुसार, महर्षि मार्कण्डेय ने युधिठिर से कहा था कि इस स्थान की रक्षा सभी देवताओं द्वारा की जाती है। यहां एक माह तक रहकर यदि पूर्ण परहेज़, ब्रम्हचर्य का पालन, देवताओं तथा पितरों का तर्पण किया जाये तो सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

Most Read: जानें साल 2019 कैसा रहेगा आपके लिए

संगम में स्नान से मिलता है मोक्ष

संगम में स्नान से मिलता है मोक्ष

यहां भारी तादाद में लोग त्रिवेणी संगम पर पवित्र डुबकी लगाने के लिए आते हैं। माना जाता है कि यहां स्नान करने वाला व्यक्ति अपनी दस पीढ़ियों को पुनर्जन्म के चक्र से मुक्त करा देता है और मोक्ष पा लेता है। यहां आने वाले तीर्थयात्रियों की सेवा करके भी लोग पुण्य कमा सकते हैं।

अगर 2019 प्रयाग कुम्भ मेले में आप भी जाने का सोच रहे हैं तो कुछ बातों की जानकारी पहले ही हासिल कर लें। इन बातों को ध्यान में रख कर आप अपनी यात्रा को सुखद और कुम्भ मेले के अनुभव को बेहतर बना सकते हैं।

क्या करें

क्या करें

ज़्यादा सामान के साथ यात्रा ना करें। डॉक्टर द्वारा बताई दवाइयों को साथ रख लें।

अपने सामान के प्रति सजग रहें। उसकी सुरक्षा आपकी ही ज़िम्मेदारी है।

खाने पीने, अस्पताल तथा इमरजेंसी सेवाओं की जानकारी पहले ही हासिल कर लें।

पार्किंग और यातायात के बताये नियमों को मानें।

मेले द्वारा उपलब्ध कराए गए घाटों पर ही स्नान के लिए जाएं।

अपनी ओर से साफ़ सफाई का ध्यान रखें और इस काम में दूसरों का सहयोग करें।

कुछ संदिग्ध लगने पर तुरंत वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों को सूचित करें।

Most Read: 2019 में इन राशि वालों पर रहेगी शनि की साढ़े साती और ढैय्या

क्या ना करें

क्या ना करें

ज़्यादा महंगे सामान लेकर मेले में ना जाएं।

संदिग्ध लोगों से दूर रहें, उनपर विश्वास ना करें।

बीमार हैं तो भीड़भाड़ वाली जगह पर ज़्यादा देर ना रुकें।

घाटों पर साबुन, डिटर्जेंट आदि का प्रयोग ना करें।

पूजा में इस्तेमाल हुई सामग्री को जल में प्रवाहित करके नदी को दूषित ना करें।

प्लास्टिक की थैलियों का इस्तेमाल ना करें।

ज़्यादा गहरे पानी में जाने का प्रयास ना करें। ऐसा करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

English summary

Kumbh Mela 2019 in Prayagraj:All you need to know

Kumbh Mela 2019 promises to be a grand spiritual event in which millions will throng from around the world at the holy confluence of rivers Ganga, Yamuna and Saraswati in Prayagraj. Know more
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more