अपने तीन मासूम बच्चों को आतंकवादी बनाना चाहती थी ये महिला

Posted By:
Subscribe to Boldsky

आपने दुनिया में जब पहला कदम रखा होगा तो सबसे पहले आपको मां ने ही थामा होगा और आपको सबसे पहले मां ही एक ऐसी इंसान होगी जिसको आपने सबसे पहले देखा होगा। आपको मुंह से जो पहला शब्द मां ही निकलता है।

कहते है कि मां अपने बच्चों के बारे में कभी बुरा नहीं सोचती है। मां बाप बच्चों को पढ़ाते है और किसी ना किसी अच्छी नौकरी की तलाश रहती है। मां को अगर पता चले की उसके बच्चे गलत संगत में जा रहे है तो वो अपने बच्चों को उनसे दूर रहने की सलाह देती है।

क्योंकि मां नहीं चाहती है कि उनके बच्चों पर बुरी संगत का साया भी पड़े। अगर आपसे ये कहा जाए कि एक ऐसी मां भी है जो अपने बच्चों को आतंकवादी बनाना चाहती थी तो शायद आपको इस बात पर थोड़ी हैरानी जरूर होगी।

दुनिया जीतने वाले सिकंदर ने भारत के इस फकीर के सामने झुकाया था सिर

जीं हां ये बात बिल्कुल सही है। आइए जानते है वो कौन सी मां है जो अपने बच्चों को आतंकवादी बनाना चाहती थी।

अमेरिका में रहती है ये महिला

अमेरिका में रहती है ये महिला

इस महिला का नाम तानिया ज्योर्गेलास है और ये अमेरिका में रहती है। ये महिला अपने बच्चों को आतंकवादी बनाना चाहती है। ये ब्रिटिश मूल की महिला और अमेरिकी नागरिक है। इसके इस बात के पीछे आखिर क्या कारण हो सकते है।

तीन बच्चों की मां है

तीन बच्चों की मां है

ये महिला तीन बच्चों की मां है और इसकी इस अजीबो गरीब इच्छा ने सबको सोचने पर मजबूर कर दिया था। ये महिला 2013 में अपने तीनों बच्चों को लेकर सीरिया चली गई ताकि वो अपने बच्चों को आतंकवादी बना सके।

9/11 हमले के बाद हुआ ऐसा

9/11 हमले के बाद हुआ ऐसा

आपको बता दें कि अमेरिका में जब से 9/11 हमला हुआ था उसके बाद से ही वहां के मबल नागरिक इसके साथ नस्लभेदी टिप्पणी करते थे और इससे ये महिला बहुत तंग आ चुकी थी। इस कारण उसने ये सोचा की वो ऐसा करके इन लोगों से बदला लेगी। यहीं कारण था कि इसने ऐसा कदम उठाने के बारे में सोचा।

अमेरिका ने जब किया ईराक पर हमला

अमेरिका ने जब किया ईराक पर हमला

इस घटना के बाद कुछ ऐसा हुआ जिसने इस महिला की लाइफ ही पूरी तरह से बदल दी। इस हमले का विरोध जब अमेरिका में हुआ था तो इस विरोध में ये महिला भी शामिल हुई थी। इसके बाद इसका पूरा जीवन ही बदल गया और बच्चों को आतंकी बनाने का इरादा और मजबूत हो गया। क्योंकि इसी दौरान एक आदमी को डेट करने लगी थी।

जिहाद की बाते करते थे दोनो

जिहाद की बाते करते थे दोनो

ये महिला जिस आदमी को डेट कर रही है थी वो आदमी भी हमेशा बदला और जिहाद की ही बातें करता था। इस कारण इसके इरादे और मजबूत होते जा रहे थे। इन दोनो की मुलाकात ने इसके इरादों को और हवा दे दी।

सीरिया पहुंचकर बदल गया इरादा

सीरिया पहुंचकर बदल गया इरादा

आपको बता कि दोनो ने शादी कर ली और बच्चों को लेकर सारिया चले गए। यहां पहुंचकर इसका पति वहां का कमांडर बन गया और इस महिला और बच्चों को एक ऐसी जगह पर रख दिया जहां पर हवा भी नहीं आ सकती थी। इस माहौल से बच्चों की तबियत खराब हो गई। इस कारण उसने ये इरादा छोड़ दिया और बच्चों को लेकर वापस आ गई।

English summary

one woman wanted to make children a terrorist

When you have taken the first step in the world, the mother will be the first to stop you and you will be the first man to be the first person you have seen before. The first word you get from the mouth is the mother.
Story first published: Wednesday, November 15, 2017, 17:30 [IST]
Please Wait while comments are loading...