गर्भावस्था में सहजन खाने के फायदे

Posted By: Staff
Subscribe to Boldsky

गर्भावस्था के दौरान एक स्त्री को सही आहार खाना पड़ता है जिससे माँ और बच्चा दोनों ही स्वस्थ रहें। सहजन भी उसी में से एक सब्ज़ी है जिसे गर्भवती महिला को खाना चाहिए।

इसमें कैल्शियम, फास्फोरस कैरोटीन और विटामिन सी होता है। सहजन का जूस गर्भवती को देने की सलाह दी जाती है। इससे डिलवरी में होने वाली समस्या से राहत मिलती है और डिलवरी के बाद भी मां को होने वाली तकलीफ कम होती है।

गर्भावस्था में मतली, मॉर्निंग सीखनेस और प्रसव में होने वाली परेशानियों को सहजन खाने से कम किया जा सकता है। इसलिए आज हम आपको सहजन खाने के अनेक फायदे बताने जा रहें हैं।

प्रसव

प्रसव

सहजन खाने से प्रसव के वक़्त होने वाले दर्द में आराम मिलता है। इससे खून की कमी नहीं होती है साथ ही माँ बनाने के बाद होने वाली समस्या कम हो जाती है।

मॉर्निंग सिकनेस

मॉर्निंग सिकनेस

गर्भावस्था के दौरान होने वाले आलास को सहजन कम करती है। यह मतली, और चक्कर आना जैसी मोरिंग सिकनेस को भी कम करती है।

स्वस्थ हड्डियां

स्वस्थ हड्डियां

सहजन में आयरन कैल्शियम और विटामिन भरपूर मात्रा में होता है। जिससे हड्डियां मजबूत होती हैं। यही नहीं यह खून भी साफ़ करता है।

संक्रमण से बचाता है

संक्रमण से बचाता है

एंटीबैक्टीरियल होने की वजह से सहजन गले, त्वचा और छाती में होने वाले संक्रमण से बचाता है।

पेट संबंधी परेशानोयों का इलाज

पेट संबंधी परेशानोयों का इलाज

सहजन पेट संबंधी परेशानोयों का इलाज करता है। सहजन और नारियल पानी को साथ में खाने से दस्त और पीलिया ठीक हो जाता है।

 मधुमेह को नियंत्रित करता है

मधुमेह को नियंत्रित करता है

सहजन की पत्तियां गर्भावस्था में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखती हैं। इसे अपने आहार में शामिल करने से आप मधुमेह से बची रहेंगी साथ ही गर्भावधि मधुमेह जो की अक्सर गर्भवती महिलाओं को होता है उससे भी सहजन बचाता है।

English summary

गर्भावस्था में सहजन खाने के फायदे

Drumstick eases labour pain and supports the contraction mechanism. It also prevents the risk of severe blood loss and post pregnancy complications.
Story first published: Friday, February 26, 2016, 7:05 [IST]
Please Wait while comments are loading...