For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

सास-ससुर की किचकिच से हैं परेशान तो इन टिप्स की मदद से खुद को रखें शांत

|

ये तो आपने जरुर सुना होगा कि जहां चार बर्तन होते हैं वहां आवाज तो होती ही है। घर में सास-बहु के बीच में भी नोकझोंक होना आम बात है। मगर कई बार ये छोटी-मोटी खटपट जिंदगी दूभर करने लग जाती है। खासतौर से उन महिलाओं के लिए बड़ी मुसीबत हो जाती है जिन्हें रोजाना सास के साथ साथ ससुर के भी ताने सुनने को मिलते हों। आज के समय में भी ऐसे लोगों की कमी नहीं है जो बहु को दूसरे घर से आई हुई मानते हैं और अपने परिवार के हिस्से की तरह स्वीकार नहीं करते हैं। सास -ससुर के साथ पैदा होने वाले मतभेदों से परेशान होने के बजे आप कुछ तरीके अपनाकर इस मामले को सुलझा सकती हैं।

अपने लिए लें स्टैंड

अपने लिए लें स्टैंड

आपकी लाइफ में ऐसे मौके आ सकते हैं जब आपके जीवन के महत्वपूर्ण फैसले आपसे बिना पूछे ही सास-ससुर द्वारा ले लिए जाएं। आपको ऐसी स्थिति में चुप रहने की जरूरत नहीं है। आप समझदारी के साथ अपनी बात उनके सामने रखें। अगर आप शांत रहेंगी तो आने वाले समय में उनका ऐसा रवैया चलता ही रहेगा।

घर की बात घर तक

घर की बात घर तक

कई बार लोग दूसरों के सामने अपनी बहु को बुरा-भला कहने से भी पीछे नहीं हटते हैं। इस पर आप प्रतिक्रिया देने से बचें। संभव हो तो ससुराल पक्ष के दोस्त और रिश्तेदारों से थोड़ी दूरी बना लें और अपनी बात सीमित ही रखें। जब आपके सास ससुर को ये एहसास होगा कि आप इन सब बातों को दिल पर नहीं लगाती हैं तो वो इस तरह से आपको परेशान करना बंद कर सकते हैं।

पति के साथ रिश्ते में न आए दरार

पति के साथ रिश्ते में न आए दरार

आपके साथ हो रहे व्यवहार के बारे में आपके पति को जानकारी हो भी सकती है और नहीं भी। आप एक बार शांति से उनके साथ इस मुद्दे पर बात करने की कोशिश कर सकती हैं। लेकिन यदि वो इस पर आपसे सहमत न हों तो आप जोर न दें। इससे आप अपने रिश्तों में दूरी न लाएं। ये जरूरी है कि ससुराल वालों के सामने आपका अपने पति के साथ रिश्ता अच्छा बना रहे।

माहौल को हल्का बनें का करें प्रयास

माहौल को हल्का बनें का करें प्रयास

ससुराल वाले छेड़ने के लिए भी आपके या आपके परिवार की बात बीच में ला सकते हैं। ऐसी स्थिति होने पर आप मुंह बना लेने के बजाय हंस कर ही इसका जवाब दे दें। आप चाहेंगी तो परेशान माहौल को भी आप मजेदार बना सकती हैं।

दिल को दुखाने वाली बातें शेयर करें

दिल को दुखाने वाली बातें शेयर करें

आमतौर पर ये देखा जाता है कि बहु के सामने नहीं, उसकी पीठ के पीछे उसकी बुराई की जाती है। जब ये बातें पता चलती है तब बहुत बुरा लगता है। आपको इस बारे में बात करने की जरूरत है। उन्हें ये जरुर बताएं कि आपको ये सब अच्छा नहीं लगता है। बातचीत की कमी की वजह से एक दूसरे के बीच ग़लतफहमी बढ़ जाती है। आप ऐसा न होने दें।

दुनिया के सामने न होने दें जाहिर

दुनिया के सामने न होने दें जाहिर

सास-ससुर के साथ घर में रिश्ते भले ही जैसे भी हों, आप दुनिया के सामने उसे जाहिर न होने दें। आगर परिवार के साथ किसी पार्टी-फंक्शन में जाना पड़े तो आप घर के मसलों को लेकर न बैठ जाएं। आपका व्यवहार देखकर ससुरालवालों को थोड़ा अजीब लग सकता है मगर वो आपकी इस समझदारी को समझेंगे।

हेल्पलाइन नंबर है मौजूद

हेल्पलाइन नंबर है मौजूद

यदि आपके सास-ससुर अपनी सीमा पार कर रहे हैं तो आपको घबराने की जरुरत नहीं है। आप मानसिक अथवा शारीरिक प्रताड़ना को सहन न करें। इस तरह की स्थिति होने पर आप तुरंत इन हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके मदद पा सकती हैं।

Help Available on : Contact

Central Social Welfare Board -Police Helpline: 1091/ 1291, (011) 23317004

Shakti Shalini : 10920

Shakti Shalini - women's shelter: (011) 24373736/ 24373737

SAARTHAK: (011) 26853846/ 26524061

All India Women's Conference: 10921/ (011) 23389680

JAGORI : (011) 26692700

Joint Women's Programme (also has branches in Bangalore, Kolkata, Chennai): (011) 24619821

Sakshi - violence intervention center: (0124) 2562336/ 5018873

Saheli - a womens organization: (011) 24616485 (Saturdays)

Nirmal Niketan : (011) 27859158

Nari Raksha Samiti: (011) 23973949

RAHI Recovering and Healing from Incest. A support centre for women survivors of child sexual abuse (011) 26238466/ 26224042, 26227647

English summary

Tips to Deal with Toxic Mother in law and Father in Law in Hindi

Here are some tips which can help you in handling your toxic in-laws.