For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

हेयर ट्रांसप्लांट और PRP ट्रीटमेंट: गंजेपन को खत्म करने के लिए क्या है आपके लिए बेस्ट, जानें पूरी डिटेल

|

बिजी लाइफस्टाइल की वजह से बाल झड़ने की समस्या आम बात हो गई है। महिला हो या पुरुष हर कोई झड़ते बालों से परेशान है। बिजी लाइफस्टाइल में अधिक तनाव और गलत खान पानी की वजह से हेयर फॉल होता है। झड़ते बालों के लिए घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल किया जा सकता है

लेकिन समय की कमी की वजह से घरेलू नुस्खों को अपनाना मुश्किल होता है। ऐसे में लोग हेयर ट्रांसप्लांट और PRP ट्रीटमेंट लेते हैं। चलिए जानते हैं हेयर ट्रांसप्लांट और पीआरपी ट्रीटमेंट में क्या फर्क है, दोनों में सबसे बेस्ट ट्रीटमेंट कौन सा है।

क्या है पीआरपी थेरेपी

क्या है पीआरपी थेरेपी

PRP ट्रीटमेंट को प्लाज्मा ट्रीटमेंट भी कहते हैं। इस ट्रीटमेंट में इंजेक्शन से स्कैल्प पर प्लाज्मा इंजेक्ट किया जाता है। जिससे निकलने वाले ब्लड से हेयर ग्रोथ होती है। इस ट्रीटमेंट का असर 2 साल तक रहता है। इस थेरेपी को ज्यादातक 20 से 40 साल की उम्र के लोग करवाते हैं। इस ट्रीटमेंट को करवाने से त्वाचा संबंधी परेशानी भी दूर हो जाती है।

घने और शाइनी बालों के लिए ऐश्वर्या राय लगाती हैं ये DIY हेयर मास्क

पीआरपी ट्रीटमेंट कैसे होता है

पीआरपी ट्रीटमेंट कैसे होता है

इस ट्रीटमेंट के दौरान शरीर से 10 से 15 मिली खून निकालकर उसमें से प्लाज्मा अलग किया जाता है। इसके बाद मरीज को एनेस्थीसिया देकर माइक्रो सूई इंजेक्शन से स्कैल्प और बालों में डाला जाता है। इससे स्कैल्प को पोषक मिलता है। इस ट्रीटमेंट में किसी भी तरह का दर्द नहीं होता है। इस प्रोसेस के बाद कोई निशान भी नहीं पड़ता है।

तौलिए से रगड़कर बालों को पोंछने से होता है नुकसान, बालों को सुखाते समय रखें खास ख्याल

हेयर ट्रांसप्लांट क्या है

हेयर ट्रांसप्लांट क्या है

हेयर ट्रांसप्लांट इन दिनों काफी पॉपुलर हैं। पहले बॉलीवुड सेलेब्रिटी हेयर ट्रांसप्लांट कराते हैं लेकिन अब आम लोग भी हेयर ट्रांसप्लांट करवाते हैं। हेयर ट्रांसप्लांट में पीछे या फिर साइड जहां घने बाल है वहां से बाल लेकर उस एरिया में प्लांट किए जाते हैं, जहां बाल नहहीं है। हेयर ट्रांसप्लांट में दस से आठ हफ्ते का टाइम लग जाता है।

मां बनने के बाद बालों की देखभाल के लिए जरूरी हैं ये हेयर केयर प्रोडक्ट्स, सीखें टिप्स

कैसे किया जाता है हेयर ट्रांसप्लांट

कैसे किया जाता है हेयर ट्रांसप्लांट

हेयर ट्रांसप्लांट के लिए हफ्ते में 5 से 6 घंटे तक की एक सर्जरी सिटिंग होती है। इस सिटिंग बाल ट्रांसप्लांट किए जाते है। हेयर ट्रांसप्लांट में शख्स के बालों की पूरी हिस्ट्री को पढ़ा जाता है, गंजेपन के एरिया को डिफाइन किया जाता है। हेयर ट्रांसप्लांट होने के दो हफ्ते बाद सिर में असर दिखता है। ट्रीटमेंट के दो और तीन हफ्ते बाद नए बाल आने शुरु होते हैं। इस ट्रीटमेंट में बाल परनामेंट उगते हैं ।हेयर ट्रांसप्लांट में 30 से 40 हजार का खर्च आता है।

झड़ते और लंबे बालों के लिए लगाएं भृंगराज तेल, जानें भृंगराज तेल के फायदे

हेयर ट्रांसप्लांट और PRP ट्रीटमेंट में अंतर

हेयर ट्रांसप्लांट और PRP ट्रीटमेंट में अंतर

हेयर ट्रांसप्लांट ट्रीटमेंट में एक बार में बालों का झड़ना नहीं रोका जा सकता है, इसके लिए कई सिटिंग्स लगानी पड़ती है। हेयर ट्रांसप्लांट के बाद के बालों को झड़ने से रोकने के लिए सप्लीमेंट्स भी दिए जाते हैं, जबकि PRP ट्रीटमेंट में ऐसा कुछ नहीं किया जाता है। PRP ट्रीटमेंट में बालों की ग्रोथ बढ़ती है इसमें किसी भी तरह की एलर्जी और इंफेक्शन का डर नहीं होता है। इस ट्रीटमेंट में कई घंटों तक बैठना नहीं होता है सिर्फ डेठ घंटे में काम हो जाता है।

सिल्की और शाइनी बालों के लिए घर पर करें स्टीम, जानें बालों को भाप देने का सही तरीका और फायदें

English summary

What Is Difference Between Hair Transplant And PRP Treatment

Hair Transplant Vs PRP Treatment: Know What Is Prp Treatment And Hair Transplant Know Everything About Treatment And Benefits