सर्दियों में मूंगफली खाने से स्वाद ही नहीं आता बल्कि दूर होती है इतनी समस्याएं

By Lekhaka
Subscribe to Boldsky

मूंगफली खाना तकरीबन हर किसी को पसंद होता है। सर्दियों का मौसम आते ही बाजारों में मूंगफली के दूकानों की भरमार दिखने लगती है। मूंगफली स्वाद में काफी अच्छा होता है और इसे कच्चा, उबालकर या भूनकर खाया जा सकता है।

लगभग हर भारतीय घरों की रसोई में मूंगफली रखी जाती है और भोजन में भी इसका अलग-अलग तरीकों से इस्तेमाल किया जाता है।

 Health Benefits Of Consuming Peanuts In Winter in hindi

हालांकि स्वास्थ्य की दृष्टि से सर्दियों में इसका इस्तेमाल अधिक किया जाता है। मूंगफली में अन्य फलीदार खाद्य पदार्थों की तरह ही प्रचुर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। इसके अलावा इसमें कई पोषक तत्व भी पाए जाते हैं।

सर्दियों में ठंड से बचने के लिए खाएं ये 7 ड्राई फ्रूट्स और नट्स

लेकिन ज्यादातर लोग मूंगफली खाने के फायदे के बारे में नहीं जानते हैं। तो आइए हम आपको बताते हैं कि सर्दियों में मूंगफली खाने से आपको क्या फायदा सकता है।

1. वजन बढ़ने से रोकता है

स्नैक्स के रूप में मूंगफली का उपयोग किया जा सकता है क्योंकि इसमें कम कैलोरी होती है और मुट्ठीभर मूंगफली खाने से पेट पूरी तरह भर जाता है। जिससे आप अधिक कैलोरी और फैट युक्त स्नैक्स खाने से बच जाते हैं। इसकी वजह से आपका वजन नहीं बढ़ पाता है।

2. कोलेस्ट्रॉल लेवल ठीक रखता है

मूंगफली में मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसैचुरेटेड फैट का स्तर अधिक होता है। मूंगफली में पाए जाने वाला ओलिक एसिड खून में खराब कोलेस्ट्राल या एलडीएल को कम कर एचडीएल या अच्छे कोलेस्ट्राल को बढ़ाता है। इसके अलावा यह कोलेस्ट्रॉल के लेवल बेहतर बनाता है और ब्लड लिपिड को ठीक रखता है जिससे कोरोनरी आर्टरी के रोगों या स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है।

3. स्ट्रोक के खतरे को रोकता है

मूंगफली एंटीऑक्सीडेंट और मिनरल का बढ़िया स्रोत है जो स्ट्रोक और हृदय संबंधी बीमारियों के खतरे को कम करता है। मूंगफली में मौजूद ट्रिप्टोफैन डिप्रेशन से लड़ने में मदद करता है। मुट्ठीभर मूंगफली खाने से स्ट्रोक के खतरे से बचा जा सकता है।

4. कैंसर से बचाता है

मूंगफली में बीटा-साइटोस्टीरॉल (एसआईटी) नामक फाइटोस्टीरॉल अधिक पाया जाता है। यह फाइटोस्टीरॉल ट्यूमर को बढ़ने से रोकता है और कैंसर से हमारी रक्षा करता है। अमेरिका में हुए एक रिसर्च में एक चौंकाने वाली बात सामने आयी है कि हफ्ते में दो बार मूंगफली खाने वाले पुरुषों और महिलाओं में क्रमशः 27 प्रतिशत और 58 प्रतिशत तक कोलोन कैंसर का खतरा कम हो जाता है।

5. डायबिटीज से बचाता है

मूंगफली में मैंगनीज के अलावा मिनरल मौजूद होता है जो वसा और कार्बोहाइड्रेट को मेटाबोलाइज करने, कैल्शियम को अवशोषित करने और ब्लड शुगर को रेगुलेट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। स्टडी में साबित हो चुका है कि मूंगफली खाने से डायबिटीज का खतरा 21 प्रतिशत तक कम हो जाता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए यह अच्छी खबर है। इसलिए यदि आप डायबिटीज के मरीज हैं तो डॉक्टर की सलाह से मुट्ठीभर मूंगफली का सेवन करें।

6. प्रजनन क्षमता बढ़ती है

मूंगफली में अधिक मात्रा में फोलिक एसिड पाया जाता है जो औरतों में जनन क्षमता को बढ़ाता है और जन्म के बाद बच्चे को रोगों से दूर रखता है। इसलिए स्वस्थ बच्चे के जन्म के लिए प्रेगनेंसी के शुरूआत में ही मूंगफली खाने की आदत डाल लेनी चाहिए। यह साबित हो चुका है कि जो महिलाएं प्रेगनेंसी से पहले या उसके बाद चार सौ ग्राम मूंगफली खाती है, जन्म के बाद उनके बच्चे में न्यूरल ट्यूब में खराबी का खतरा 70 प्रतिशत तक कम हो जाता है। इसके अलावा प्रेगनेंसी के दौरान मूंगफली खाने से बच्चों में अस्थमा जैसी बीमारी नहीं होती है।

7. त्वचा के लिए अच्छा होता है

यह जानना काफी दिलचस्प है कि मूंगफली के छोटे दाने आपकी त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। मूंगफली में मौजूद मोनोअनसैटुरेटेड एसिड और रिसवेराट्रोल त्वचा को हाइड्रेट करके फिर से भर देते हैं जिससे आपकी स्किन अधिक चमकने लगती है।

8. सर्दी-खांसी के इलाज में उपयोगी

मूंगफली विटामिन सी का अच्छा स्रोत होता है जो सर्दी-खांसी के इलाज में काफी उपयोगी है।

    English summary

    सर्दियों में मूंगफली खाने से स्वाद ही नहीं आता बल्कि दूर होती है इतनी समस्याएं | Unbelievable Health Benefits Of Consuming Peanuts In Winter

    Almost everyone likes peanut food. When the winter season comes, the peanut shops in the markets begin to show. Peanut is good in taste and it can be eaten raw, boiled or roasted.
    Story first published: Thursday, November 30, 2017, 10:00 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more