मछली खाने वालों सावधान! स्वस्थ रहना चाहते हैं तो ना खाएं ये 5 तरह की मछलियाँ

Subscribe to Boldsky

जैसा कि सभी जानते हैं कि मछलियों का सेवन करने से आपके स्वास्थ्य को बहुत ज्यादा फायदा होता है। पूरी दुनिया में मछलियों का सेवन बहुत बड़ी मात्रा में किया जाता है क्योंकि मछलियों में बहुत सारे मिनरल्स और प्रोटीन पाए जाते हैं। इसके अलावा इनमें ओमेगा 3 फैटी एसिड बहुत ज्यादा मात्रा में होता है जिसकी वजह से यह स्वास्थ्य के लिये लाभदायक होती है।

Do not eat these fish breeds if you wish to stay healthy

आपको बता दें कि ऐसे बहुत कम लोग हैं जो यह जानते हैं कि जहां एक तरफ मछलियाँ फायदेमंद होती हैं वही दूसरी तरफ मछलियों की कुछ प्रजातियाँ ऐसी भी हैं जिनका सेवन करने से शरीर को नुकसान हो सकता है। आइये इस लेख में हम आपको बताते हैं कि मछलियों की कौन सी प्रजाति का सेवन करने से आपको नुकसान हो सकता है।

1- टिलैपिया:

कई सारे रिसर्च यह बताते हैं कि इस मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड के बजाय ओमेगा 6 फैटी एसिड बहुत अधिक मात्रा में होता है। आमतौर पर ओमेगा 3 फैटी एसिड स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है जो इस मछली में बहुत ही कम मात्रा में होता है। आपको बता दें कि इस मछली का सेवन करने से लोगों को स्वास्थ्य संबंधी कई प्रकार की समस्याएं जैसे आर्थराइटिस, हार्ट से जुडी बीमारियाँ, इन्फ्लामेशन और अस्थमा आदि होने की संभावना बढ़ जाती है।

2- फ़ार्म्ड सैल्मन :

हालांकि अच्छी क्वालिटी की सैल्मन मछली आसानी से नहीं मिलती है लेकिन यह भी सच है कि इसकी जितनी भी प्रजातियाँ पायी जाती हैं वो आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद नहीं होती हैं। कई सारे शोध में यह पाया गया है कि इस मछली में बहुत ही कम मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड और बहुत ज्यादा मात्रा में ओमेगा 6 फैटी एसिड पाया जाता है। इसके अलावा इसमें ढेर सारे टॉक्सिक पदार्थ भी पाए जाते हैं जिससे इसका सेवन करने आपके शरीर के अंगो पर बहुत बुरा असर पड़ता है और आपका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है जिससे आपको कई तरह की बीमारियाँ होने की संभावना बढ़ जाती है।

3- कैटफिश:

इस मछली का फ्लेवर बहुत ही अच्छा होता है लेकिन बावजूद इसके इस मछली का सेवन करने के अपने ही कई नुकसान हैं। आपको बता दें कि लगभग सारी मछलियों में ऑयल की मात्रा ज्यादा होती है लेकिन इस मछली की स्किन में जो ऑयल होता है वह असंतृप्त होता है और वह आपके ब्लड में जाकर जम जाता है। इस वजह से आपके शरीर में कोलेस्ट्राल की मात्रा बढ़ जाती है। यह मछली मीट की तुलना में तो बहुत ही स्वादिष्ट होती है लेकिन इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड की तुलना में ओमेगा 6 फैटी एसिड ज्यादा होने के कारण यह उन लोगो के लिए ज्यादा खतरनाक होती है जिनको हार्ट से जुडी समस्याएं होती हैं।

4- मैकेरेल:

यह एक तरह की छोटी समुद्री मछली होती है और आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मछली से कुछ ही घंटो में दुर्गन्ध आने लगती है। यदि इस मछली को संरक्षित करके रखा जाए तो यह ना सिर्फ खतरनाक होती है बल्कि यह आपके शरीर के कई सारे अंगो को नुकसान भी पहुंचा सकती है। इसमें कोई संदेह नहीं कि इसमें बहुत अधिक मात्रा में ऑयल होता है लेकिन मरकरी जैसे टॉक्सिक पदार्थों की अधिकता होने की वजह से इसका सेवन करना आपके ब्रेन और आपके नर्वस सिस्टम के लिए खतरनाक होता है।

5- क्रैब:

आपको बता दें कि जैसे क्रैब यानी केकड़ा के मांस में बहुत अधिक मात्रा में विटामिन B12 और प्रोटीन होते हैं वैसे ही इसका सेवन करने से आपके शरीर में सोडियम और कोलेस्ट्राल की मात्रा भी बढ़ जाती है। अगर आपके रोजाना के डाइट में सोडियम और कोलेस्ट्राल की मात्रा बढ़ जाए तो आपको डायबिटीज और ह्रदय संबंधी गंभीर बीमारियाँ जैसे हार्ट अटैक और स्ट्रोक आदि होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए इस मछली को उचित मात्रा में सेवन किया जाना चाहिए।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    Fish lovers, beware! Do not eat these fish breeds if you wish to stay healthy

    Many people are aware of the fact that certain breeds are fish can pose a threat to their health? Although fish is very healthy along with being delectable, some fish breeds should never be consumed. Have a look!
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more