इस खास समय पर ग्रीन टी पीने से आपको मिलते हैं इसके ज्यादा फायदे

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

सभी चीजों की तरह अगर ग्रीन टी का सही तरह सेवन किया जाए, तो यह बहुत फायदेमंद है। जाहिर है आप ग्रीन टी को ब्लैक टी की तरह नहीं बना सकते हैं।

इसलिए ग्रीन टी के ज्यादा फायदे लेने के लिए इसे सही तरीके से बनाना बहुत जरूरी है। कुछ लोग केवल इतना जानते हैं कि ग्रीन टी से कई वजन कम होने से जैसे कई फायदे होते हैं।

नवरात्र में फास्‍ट रखने के लिए आजमाएं ये टिप्‍स, दूर होंगी सारी बीमारियां

लेकिन क्या आप जानते हैं कि ग्रीन टी से जुड़ी कुछ ऐसी जरूरी बातें हैं जिन्हें आपको जरूर पता होना चाहिए।

1) ग्रीन टी की पत्तियों का प्रकार

1) ग्रीन टी की पत्तियों का प्रकार

ग्रीन टी बनाने की विधि इसकी पत्तियों के प्रकार पर निर्भर करती है। बड़ी पत्तियोंयां पकने में अधिक समय लेती हैं, जबकि छोटे पत्ते कम लेते हैं। इसके अलावा अनप्रोसेस ग्रीन टी लेने की कोशिश करें। जैसे ग्रीन टी बैग की जगह लूज पत्ते लें। कई बार ग्रीन टी बैग पानी में पोषक तत्व छोड़ देते हैं। खुले पत्तियों से आपको अधिकतम लाभ होगा।

2) स्टोरेज

2) स्टोरेज

ग्रीन टी को सही तरीके से स्टोर करना सीखें। इसके लिए एक स्वच्छ और शुष्क हवादार कंटेनर का उपयोग करें। इसे एक अंधेरे कंटेनर में सूरज की रोशनी से दूर रखें। पोषक तत्वों के नुकसान से बचने के लिए कंटेनर को हवादार होना चाहिए। इसके अलावा, ताजगी बनाए रखने के लिए छोटी मात्रा में खरीदारी करें।

3 ऐसे बनाएं

3 ऐसे बनाएं

ग्रीन टी चीनी और दूध के बिना बनती है। इसलिए इसका सिर्फ टेस्ट होता है। बहुत ज्यादा पकाने से कड़वा हो जाएगा। इसके अलावा, पानी का तापमान ठीक होना चाहिए। बहुत गर्म होने से पोषक तत्वों का नुकसान होता है। इसलिए गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें। पानी का तापमान 160 एफ के आसपास होना।

ग्रीन टी बनाने के तरीके

1) पहले एक कप ताजा पानी उबाल लें और इसे एक मिनट के लिए छोड़ दें।

2) इसमें एक चंच ग्रीन टी डालें और इसे 2-3 मिनट तक रहने दें।

3) थोड़ा ठंडा होने के बाद इसका आंनद लें।

अगर आपको इसका स्वाद पसंद नहीं है, तो आप इसमें शहद मिला सकते हैं। वैसे ग्रीन टी के पैक पर इसे बनाने की विधि लिखी होती है। कुल मिलाकर इसे सही सही तरीके से बनाना और समय पर पीना बहुत जरूरी है।

इन बातों का रखें ध्यान

इन बातों का रखें ध्यान

-वजन कम करने के लिए आपको इसे खाली पेट पर सुबह पीना चाहिए। इसमें मौजूद कैफीन निर्जलीकरण का कारण बन सकता है।

-खाने के साथ नहीं पीना चाहिए, इससे पोषक तत्वों के कम अवशोषण में बाधा पैदा हो सकती है।

-इसे कभी भी दूध के उत्पादों के नहीं पीना चाहिए। इससे कैल्शियम अवशोषण में बाधा हो सकती है।

-ग्रीन टी को पीने का आदर्श समय सुबह 11 बजे या शाम को 4 बजे है।

English summary

Green Tea: Learn To Brew It The Right Way For Maximum Health Benefits

Green tea is beneficial for health only if it brewed in the correct way. Also one needs to drink in the correct amount.
Story first published: Thursday, September 21, 2017, 11:00 [IST]
Please Wait while comments are loading...