स्पर्म काउंट से जुड़े दिलचस्प तथ्य, जिन्हें आप नहीं जानते होंगे

By Lekhaka
Subscribe to Boldsky

क्या आप जानते हैं कि सेक्स के बाद एक महिला के शरीर में एक स्पर्म कितनी देर तक जीवित रहते है? क्या आपको आश्चर्य है कि स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए? एक स्पर्म की जर्नी एक अद्भुत और जटिल होती है।

सेक्स के दौरान पुरुष के शरीर से वीर्य के रूप में लाखों करोड़ों स्पर्म बाहर निकलते हैं लेकिन उनमें से सिर्फ एक ही ऐसा होता हैं जो महिला के अंडो के साथ मिलकर प्रजनन की प्रक्रिया को पूरा करता है।

अधिकांश लोग स्पर्म के बारे में बहुत ज्यादा नहीं जानते हैं जबकि स्पर्म के बारे में ऐसी कई जानकारियां हैं जिसके बारे में आपको पूरी जानकारी होनी चाहिये। आइये जानते हैं स्पर्म के बारे में ऐसी ही कुछ रोचक बातें।

Boldsky

1) संख्या-

औसत स्खलन में अनुमानित 280 मिलियन स्पर्म पाए जा सकते हैं। और यदि ऐसा लगता है कि बहुत ज्यादा हैं, तो आपको सिर्फ गाय और सूअर जैसे अन्य प्रजातियों के बारे में सोचने की ज़रूरत है जिनमें प्रति मिलीमीटर अनुमानित 3,000 और 8,000 मिलियन स्पर्म होते हैं।

2) कम स्पर्म काउंट और फर्टिलिटी-

जब शुक्राणु की संख्या 10 मिलियन से कम हो जाती है, तो आपको नंबर सुधारने के लिए किसी विशेषज्ञ से मिलने की आवश्यकता हो सकती है। नेशनल इनफर्टिलिटी एसोसिएशन के अनुसार, अगर आपके शुक्राणु की संख्या 40 मिलियन और 300 मिलियन प्रति मिलीलीटर के बीच है, तो आप सामान्य श्रेणी में हैं।

3) 5 मिनट से एक घंटे की गति की यात्रा-

प्रकृति ने प्रजनन के लिए शुक्राणु बनाया है। सेक्स के बाद स्पर्म महिला की फैलोपियन ट्यूब में जाते हैं और स्पर्म अंडे की तरफ जाते हैं। और यह औसतन 5-68 मिनट में कहीं जा सकता है।

4) स्पर्म बनने में लगने वाला समय-

वैसे तो पुरुषों के अंडकोष में हमेशा स्पर्म बनता रहता है लेकिन किसी भी स्पर्म को पूरी तरह परिपक्व होने और प्रजनन के लिए बिलकुल तैयार होने में लगभग 46 से 72 दिनों तक का समय लग जाता है।

How to improve Sperm quality; Know 10 ways, कैसे बनाएं स्पर्म स्ट्रांग | $ex Education | Boldsky

5) जीवनचक्र-

स्पर्म का जीवन चक्र अलग जगहों पर अलग होता है जैसे कि स्खलन के बाद जब स्पर्म महिला के शरीर में प्रवेश कर जाता है तो आपके स्पर्म वहां पांच दिन तक जीवित रह सकते हैं, वहीँ अगर ये किसी सूखी जगह पर रहें तो ये वीर्य के सूखते ही मर जाते हैं। अगर आप वीर्य को किसी गर्म टब में स्खलित करें तो ये स्पर्म घंटो तक सतह पर तैरते रहते हैं।

6) स्वस्थ स्पर्म-

जितने भी स्पर्म शरीर से बाहर निकलते हैं उनमें से सभी पूरी तरह स्वस्थ नहीं होते हैं बल्कि उनमें 90% स्पर्म ख़राब होते हैं। हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि आपके स्वास्थ्य में कोई खराबी है बल्कि यह सामान्य बात है। वास्तव में जब ये स्पर्म अंडे की तरफ जाते हैं तो उस दौड़ में कई स्पर्म पीछे ही छूट जाते हैं, सिर्फ हेल्दी स्पर्म ही अंडों तक पहुँच पाते हैं।

7) ऐसे बढ़ता है स्पर्म काउंट-

बहुत अधिक जंक फूड, संसाधित मांस और डेयरी खाने से शुक्राणु बर्बाद हो जाते हैं। अध्ययनों से पता चला है कि इन चीजों को ताजे फल और सब्जियों के के साथ खाने से वीर्य की गुणवत्ता गिर सकती है। मछली के तेल और जंगली सामन में पाए जाने वाले ओमेगा -3 फैटी एसिड से अधिक डीएचए प्राप्त करें, और इससे आपके शरीर को एक स्वस्थ शुक्राणु बनने में मदद मिल सकती है।

8) शराब और रेडियेशन से बचें-

शुक्राणु की संख्या लैपटॉप और वाई-फाई के उपयोग और शराब की अधिक खपत और धूम्रपान तक कई कारकों से प्रतिकूल रूप से प्रभावित हो सकती है। इसलिए लैपटॉप और वाई-फाई से विकिरण से बहुत ज्यादा एक्सपोजर का प्रयास करें और इससे बचें, कम शराब पिएं और धूम्रपान छोड़ दें।


For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    स्पर्म काउंट से जुड़े दिलचस्प तथ्य, जिन्हें आप नहीं जानते होंगे | Interesting Facts About Sperm You May Not Know!

    If you’re curious about these odd-looking, tadpole-shaped cells on which the very survival of our species rests, read on for some unusual facts about them.
    Story first published: Wednesday, August 23, 2017, 10:00 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more