नाईट शिफ्ट में काम करने से आपको हो सकते हैं ये गंभीर रोग

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

आज अपने देश में करीब 20-25% लोग नाईट शिफ्ट में काम करते हैं। खासतौर पर कॉल सेंटर, बीपीओ और आईटी सेक्टर में काम करने वाले युवाओं को सबसे ज्यादा नाईट शिफ्ट में काम करना पड़ता है।

रात भर जाग कर काम करना और फिर पूरे दिन सोने से स्वास्थ्य पर काफी बुरा असर पड़ता है और यही कारण है कि रात में काम करने वाले अधिकतर लोग बीमार रहते हैं।

Sleeping during day, Working at Night is Bad; Know why | Boldsky
हमारा शरीर एक बायोलॉजिकल क्लॉक के हिसाब से काम करता है और इसी वजह से हमें रात में अपने आप ही नींद आ जाती है। लेकिन जब आप इसके उल्टे जाकर पूरी रात खुद को जगाए रखते हैं और सुबह जागने के समय सोने चले जाते हैं तो इससे शरीर का बायोलॉजिकल क्लॉक बिगड़ जाता है।

इस आर्टिकल में हम आपको नाईट शिफ्ट से जुड़े कुछ ख़ास तथ्य बता रहे हैं जो शायद आप अभी तक नहीं जानते हैं।

फैक्‍ट 1:

फैक्‍ट 1:

वैज्ञानिकों ने नाईट शिफ्ट को कारसीनोजेनिक शिफ्ट का नाम दिया है। जी हां आपको बता दें कि कई महीनों तक रोजाना रात में काम करने से कैंसर का खतरा काफी बढ़ जाता है।

फैक्‍ट 2:

फैक्‍ट 2:

रात में जागने और दिन में सोने से शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं। खासतौर पर इसका बुरा असर आपके मेटाबोलिज्म पर पड़ता है।

फैक्‍ट 3:

फैक्‍ट 3:

एक सर्वे के अनुसार नाईट शिफ्ट में काम करने अधिकतर नर्स ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित रहती हैं।

फैक्‍ट 4:

फैक्‍ट 4:

दिन में आप कभी भी उतनी गहरी नींद नहीं ले सकते और इसी वजह से आपको नींद से जुड़ी समस्याएं होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

फैक्‍ट 5:

फैक्‍ट 5:

नाईट शिफ्ट में काम करने वाले अधिकतर लोगों को हाई ब्लड प्रेशर, कैंसर, डायबिटीज और मोटापे जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा ज्यादा रहता है।

फैक्‍ट 6:

फैक्‍ट 6:

दिन में सोने और रात में काम करने से आपकी भूख भी अनियंत्रित हो जाती है। इसकी वजह से कई बार आप ज़रूरत से ज्यादा खा लेते हैं तो कई बार भूख ही नहीं लगती है।

फैक्‍ट 7:

फैक्‍ट 7:

ठीक से ना सो पाने का असर आपकी स्किन पर भी दिखने लगता है और आप कम उम्र में ही उम्रदराज नजर आने लगते हैं।

English summary

Why Working At Night And Sleeping During The Day Is Bad?

Sleeping during the day instead of at night is very bad for your health. Here are some side effects of such sleeping patterns.
Story first published: Wednesday, August 9, 2017, 12:00 [IST]
Please Wait while comments are loading...