क्‍या रेग्‍युलर सेक्‍स करने से स्‍टेमिना पर पड़ता है फर्क?

Posted By:
Subscribe to Boldsky

आकर्षक दिखना हम सभी की पहली प्राथमिकता होती है। हालांकि कई पीढ़ियों से यह गलत धारणा चली आ रही है कि यदि आप बॉडी बिल्डिंग या कुश्ती जैसे खेल खेलते हैं तो आपको सेक्स नहीं करना चाहिए।क्‍या आपको मालूम है कि सेक्‍स न सिर्फ एक बेहतर लव सेशन बल्कि इससे मांसपेशियां और मजबूत होती है। कई लोगों को लगता है कि सेक्‍स करने से शरीर का स्‍टेमिना कम होता है इस वजह से बॉडी बिल्डिंग में मुश्किलें होती है। लेकिन यह बात बिल्‍कुल गलत है। सेक्स करने से आपकी ताकत कम नहीं होती और न ही मांसपेशियों की कोई हानि होती है।

सेक्स के तुरंत बाद केवल इतना होता है कि बहुत ही कम समय के लिए टी स्तर कम हो जाता है और थोड़ी देर बाद अपने आप ही बढ़ जाता है। वास्तव में सेक्स और मांसपेशियों का बनना आपस में सकारात्मक तरीके से जुड़ा हुआ है। यह जानने के लिए किस प्रकार गठीला शरीर हमारी सेक्स लाइफ को प्रभावित कर सकता है, आइये इन तथ्यों को जानें-

बॉडी बिल्डिंग के कारण

बॉडी बिल्डिंग के कारण

  • शरीर के फैट को कम करने के लिए
  • सिक्स पैक्स के लिए
  • मांसपेशियों को बनाने के लिए
  • कपड़ों में माचो दिखने के लिए
  • लड़कियों को आकर्षित करने और अच्छे सेक्स के लिए
  • वास्तविक जीवन में मज़बूत बनने के लिए
टेस्‍टोस्‍टोरोन बनता है

टेस्‍टोस्‍टोरोन बनता है

मांसपेशियों का बनना और हमारी कामेच्छा दोनों ही पुरुषों के सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन द्वारा निर्धारित होती है। अत: टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन जितना अधिक होगा, कामेच्छा उतनी ही अधिक होगी और आपकी मांसपेशियों भी उतनी अच्छी बनेगी।

मांसपेशियां होती है स्‍ट्रॉन्‍ग

मांसपेशियां होती है स्‍ट्रॉन्‍ग

वेट ट्रेनिंग से टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन बढ़ता है। दूसरी ओर ऐसा व्यक्ति जो यौन रूप से सक्रिय है उसके शरीर में पहले से ही टेस्टोस्टेरोन की पर्याप्त मात्रा होती है। परिणामस्वरूप आप यौन रूप से जितने सक्रिय होंगे, आपकी मांसपेशियां उतनी ही मज़बूत बनेंगी।

एक सर्वे में यह बात आई है सामने

एक सर्वे में यह बात आई है सामने

क सर्वे किया कि वर्कआउट से पहले और बाद में सेक्स किस प्रकार प्रदर्शन को प्रभावित करता है। एक बॉक्सिंग चैम्पियंन पर यह सर्वे प्रायोगिक तौर पर करवाया गया। एक सप्ताह तक सेक्स न करने के लिए कहा गया। एक सप्ताह बाद उनके फिटनेस प्रदर्शन की जांच की गयी। उनके टेस्टोस्टेरोन का स्तर, पैरों की ताकत और पंचिंग पावर को रिकॉर्ड किया गया। बाद में उस खिलाड़ी को सेक्स करने की अनुमति दी गयी और सेक्स करने के बाद उन्हें पुन: प्रदर्शन करने के लिए कहा गया।

टेस्‍टोस्‍टेरोन का स्‍तर 20% बढ़ा

टेस्‍टोस्‍टेरोन का स्‍तर 20% बढ़ा

रिपोर्ट के अनुसार उस खिलाड़ी का हृदय सेक्स के पहले और बाद में पूरी तरह स्वस्थ था। आश्चर्यजनक रूप से उसके पैरों की ताकत और पंचिंग की शक्ति में सुधार आ गया था और टेस्टोस्टेरोन का स्तर 20% तक बढ़ गया था। इस विषय में कुछ विशेषज्ञ दावा करते हैं कि वर्कआउट से पहले सेक्स करने से व्यक्ति अच्छा प्रदर्शन करता है और इसका ताकत या वृद्धि पर कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता।

एक्‍सरसाइज का सेक्‍स लाइफ पर साइड इफेक्‍ट

एक्‍सरसाइज का सेक्‍स लाइफ पर साइड इफेक्‍ट

याद रखें कि सेक्स करने की क्षमता शरीर की कुल शक्ति से अलग नहीं है। जो पूरे बदन के लिए बेहतर है, वह सेक्स के लिए भी बेहतर होगा। कसरत पूरे शरीर के लिए अच्छी है, तो यकीनन सेक्स के लिए भी अच्छी है। यही बात खाने-पीने के ऊपर भी लागू हो सकती है। जो खाना शरीर के लिए बेहतर है, वह सेक्स के लिए भी बेहतर होगा। तली चीजें, बटर-घी, आदि से शरीर को जितना नुकसान पहुंचाता है, उतना ही सेक्स पावर पर भी बुरा असर पड़ता है।

बस इन बातों का रखें ध्‍यान

बस इन बातों का रखें ध्‍यान

जब भी एक्सरसाइज करें, सीधे हेवी एक्सरसाइज न करें। पहले वॉर्मअप करें, फिर बाद में कसरत। कसरत के लिए वॉर्मअप वैसा ही है, जैसे सेक्स के लिए फोर प्ले। इसे इग्नोर करना भले ही आसान है, लेकिन अच्छे रिजल्ट के लिए यह बहुत जरूरी है।

जब भी वजन उठाने की एक्सरसाइज करें, ऐसी फिटिंग के अंडरगारमेंट पहनें जिससे टेस्टिस को सपोर्ट मिले और वह लटकते न रहें। इससे आप हर्निया जैसी परेशानी से बचे रहेंगे।

English summary

Can Sex Affect Your Bodybuilding Gains

While it is definitely true that there is a connection between sex and muscle building, its important to understand fully what this connection is. Heres what you need to know...