India
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

इन संकेतों से समझे कहीं आपकी किडनी खराब तो नहीं, भारी न पड़ जाएं जरा सी भी अनदेखी

|

हमारी क‍िडनी शरीर से अपशिष्ट पदार्थों को छानने की जिम्मेदार होती हैं। जब शारीरिक चोट या उच्च रक्तचाप या मधुमेह जैसी स्थितियों के कारण गुर्दे क्षतिग्रस्त हो जाते हैं, तो क‍िडनी शरीर से विषाक्त पदार्थों को फ़िल्टर नहीं कर सकते हैं, जिससे

शरीर में टॉक्सिन बनने लगता है। किडनी खराब होने के लक्षण इतने सूक्ष्म होते हैं कि शुरूआती वर्षों में इस पर अक्सर ध्यान नहीं जाता। इसी कारण इसे 'साइलेंट किलर' भी कहा जाता है। टॉक्सिक क‍िडनी के कुछ सामान्य लक्षण यहां हम आपको बता रहे हैं।

पांव और टखनों में सूजन

पांव और टखनों में सूजन

पेट के निचले हिस्से में मौजूद दो बीन्स के आकार के अंग शरीर से अपशिष्ट और अतिरिक्त सोडियम को फिल्टर करने में मदद करते हैं। जब क‍िडनी ठीक से काम करना बंद कर देते है, तो शरीर में सोडियम बनना शुरू हो जाता है। यह अंततः टखनों और पिंडली की सूजन की ओर जाता है। इस स्थिति को एडिमा कहा जाता है। शरीर के अन्य हिस्सों जैसे आंखों और चेहरे में भी सूजन देखी जा सकती है, लेकिन यह मुख्य रूप से हाथ, हाथ, पैर, टखनों और पैरों को प्रभावित करती है।

थकान या कमजोरी

थकान या कमजोरी

हर समय थकान या कमजोरी महसूस होना आमतौर पर क‍िडनी की समस्या का शुरुआती संकेत होता है। जैसे-जैसे किडनी की बीमारी गंभीर होती जाती है, व्यक्ति अधिक से अधिक कमजोर और थका हुआ महसूस करने लगता है। यहां तक कि घर के कुछ साधारण काम करना या थोड़ा चलना भी व्यक्ति के लिए बोझिल लग सकता है। यह क‍िडनी की अक्षमता के वजह से खून में विषाक्‍त पदार्थों का निर्माण होने लगता हैं।

भूख नहीं लगना

भूख नहीं लगना

शरीर में विषाक्त पदार्थों और अपशिष्ट का संचय भी भूख को कम कर सकता है, जिससे अंततः वजन कम हो सकता है। कम भूख का एक अन्य कारण सुबह जल्दी मतली और उल्टी हो सकती है। ये अप्रिय भावनाएं आपको भोजन के लिए थोड़ी लालसा छोड़ सकती हैं। व्यक्ति को हर समय पेट भरा हुआ महसूस हो सकता है और उसका कुछ भी खाने का मन नहीं करेगा। यह एक खतरनाक संकेत हो सकता है।

ज्‍यादा पेशाब आना

ज्‍यादा पेशाब आना

एक सामान्य स्वस्थ व्यक्ति दिन में 6-10 बार पेशाब करता है। इससे ज्यादा पेशाब जाना किडनी खराब होने का संकेत हो सकता है। क‍िडनी की समस्या के मामले में, व्यक्ति या तो बहुत कम या बहुत बार पेशाब कर सकता है। दोनों स्थितियों में कि‍डनी को और नुकसान पहुंचा सकती हैं। कुछ लोगों के पेशाब में खून या अत्यधिक मात्रा में खून भी निकलता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि क्षतिग्रस्त किडनी के कारण रक्त कोशिकाएं मूत्र में रिसने लगती हैं।

सूखी और खुजली वाली त्‍वचा

सूखी और खुजली वाली त्‍वचा

क‍िडनी डैमेज के अन्य लक्षणों के साथ सूखी और खुजली वाली त्वचा क‍िडनी डिसऑर्डर से जुड़ा संकेत हो सकता है। यह तब हो सकता है जब क‍िडनी शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में सक्षम नहीं होते हैं और वे रक्त में जमा होने लगते हैं, जिससे त्वचा में खुजली, सूखापन और दुर्गंध आने लगती है। किडनी की समस्या हड्डियों की बीमारी का कारण भी बन सकती है।

सामान्य पीठ दर्द और किडनी के कारण होने वाले दर्द में ये है अंतर । भूलकर भी न करें नजरअंदाज । Boldsky
चेकअप जरुर कराएं

चेकअप जरुर कराएं

प्रारंभिक अवस्था में उपाय करने से किडनी डिसऑर्डर से बचा जा सकता है, जो तभी संभव हो सकता है जब लक्षणों का समय पर निदान किया जा सके। उच्च रक्तचाप, शर्करा और कोलेस्ट्रॉल के स्तर से पीड़ित लोगों में गुर्दा विकार विकसित होने का जोखिम अधिक होता है। इन लोगों को अपनी स्थिति की निगरानी करते रहना चाहिए और अन्य अंग कैसे काम कर रहे हैं, यह जानने के लिए वार्षिक स्वास्थ्य जांच करवानी चाहिए। मेडिकल जांच से शुरुआती चरण में समस्याओं का पता लगाने और पहले इलाज शुरू करने में मदद मिलती है।

English summary

Toxic Kidneys : Signs that indicate your kidneys are not working efficiently in Hindi

Toxic kidney Signs in Hindi: Here are some of the common signs that indicate your kidneys are not working efficiently in hindi. Read on.
Story first published: Tuesday, December 21, 2021, 12:48 [IST]
Desktop Bottom Promotion