For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

जानें साल 2020 में कब कब है संकटों का नाश करने वाली संकष्टी चतुर्थी

|

संकष्टी चतुर्थी विघ्नहर्ता श्री गणेश को समर्पित है। इस दिन श्री गणेश की पूजा की जाती है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार प्रत्येक चंद्र माह में कृष्ण पक्ष के चौथे दिन संकष्टी चतुर्थी का शुभ दिन आता है। अगर चतुर्थी मंगलवार को पड़ती है तो उसे अंगारकी चतुर्थी कहते हैं। वैसे तो सभी चतुर्थियां बहुत ही महत्वपूर्ण होती हैं लेकिन ऐसी मान्यता है कि अंगारकी चतुर्थी का अपना एक अलग ही महत्व होता है। हालांकि माघ और पौष में पड़ने वाली चतुर्थी को भी बेहद शुभ माना जाता है।

कहा जाता है कि चतुर्थी पर भगवान गणेश की पूजा और व्रत करने से जीवन के सभी दुखों का अंत होता है और स्वयं श्री गणेश अपने भक्तों को एक खुशहाल जीवन का आशीर्वाद देते हैं। इस दिन कुछ लोग काफी कठिन व्रत रखते हैं। वहीं अगर आप चाहें तो इस उपवास में फलों और साबुदाने की खिचड़ी आदि का सेवन कर सकते हैं। व्रत खोलने के भी कुछ खास नियम हैं। व्रत खोलने से पहले चंद्रमा के दर्शन कर उन्हें अर्घ्य देना चाहिए। उसके बाद गणेश जी के मनपसंद मोदक का भोग लगाना चाहिए। इसके अलावा आप तिल, गुड़, शकरकंद आदि भी प्रसाद के रूप में चढ़ा सकते हैं। इस दिन चंद्रमा या भगवान सोम की पूजा करने से भी अच्छे फल की प्राप्ति होती है।

इस बात का ध्यान जरूर रखें कि दो स्थानों के लिए चंद्रमा का समय हमेशा भिन्न होता है इसलिए व्रत शुरू करने से पहले, चतुर्थी तिथि और चंद्रोदय के समय का ध्यान रखें। यह भी हो सकता है कि चतुर्थी का व्रत तृतीया तिथि को पड़े। संकटों का नाश करने वाली इस चतुर्थी को अगर आप भी व्रत करना चाहते हैं तो हम आपके लिए साल 2020 में पड़ने वाली सभी चतुर्थियों की लिस्ट लेकर आए हैं।

जनवरी

जनवरी

सकट चौथ, लंबोदर संकष्टी चतुर्थी जनवरी 13, 2020, सोमवार माघ, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 05:32 PM, जनवरी 13 समाप्ति- 02:49 PM, जनवरी 14

फरवरी

फरवरी

द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी फरवरी 12, 2020, बुधवार फाल्गुन, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 02:52 AM, फरवरी 12 समाप्ति- 11:39 PM, फरवरी 12

मार्च

मार्च

भालचंद्र संकष्टी चतुर्थी मार्च 12, 2020, गुरुवार चैत्र, कृष्णा चतुर्थी

आरंभ- 11:58 AM, मार्च 12 समाप्ति- 08:50 AM, मार्च 13

अप्रैल

अप्रैल

विकट संकष्टी चतुर्थी अप्रैल 11, 2020, शनिवार वैशाख, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 09:31 PM, अप्रैल 10 समाप्ति- 07:01 PM, अप्रैल 11

मई

मई

एकदंत संकष्टी चतुर्थी मई 10, 2020, रविवार ज्येष्ठ, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 08:04 AM, मई 10 समाप्ति- 06:35 AM, मई 11

जून

जून

कृष्णपिंगला संकष्टी चतुर्थी जून 8, 2020, सोमवार आषाढ़, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 07:56 PM, जून 08 समाप्ति- 07:38 PM, जून 09

जुलाई

जुलाई

गजानन संकष्टी चतुर्थी जुलाई 8, 2020, बुधवार श्रवण, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 09:18 AM, जुलाई 08 समाप्ति- 10:11 AM, जुलाई 09

अगस्त

अगस्त

बहुला चतुर्थी, हेरम्ब संकष्टी चतुर्थी अगस्त 7, 2020, शुक्रवार भादप्रद, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 12:14 AM, अगस्त 07 समाप्ति- 02:06 AM, अगस्त 08

सितंबर

सितंबर

विघ्नराज संकष्टी चतुर्थी सितंबर 5, 2020, शनिवार अश्विन, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 04:38 PM, सितंबर 05 समाप्ति- 07:06 PM, सितंबर 06

अक्टूबर

अक्टूबर

विभुवन संकष्टी चतुर्थी अक्टूबर 5, 2020, सोमवार कार्तिक, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 10:02 AM, अक्टूबर 05 समाप्ति- 12:31 PM, अक्टूबर 06

नवंबर

नवंबर

करवा चौथ वक्रतुंड संकष्टी चतुर्थी नवंबर 4, 2020, बुधवार कार्तिक, कृष्ण चतुर्थ

आरंभ- 03:24 AM, नवंबर 04 समाप्ति- 05:14 AM, नवंबर 05

दिसंबर

दिसंबर

गणाधिप संकष्टी चतुर्थी दिसंबर 3, 2020, गुरुवार मार्गशीर्ष, कृष्ण चतुर्थी

आरंभ- 07:26 PM, दिसंबर 03 समाप्ति- 08:03 PM, दिसंबर 04

English summary

Sankashti Chaturthi Dates 2020 with Moonrise Timings and Muhurat

Sankashti Chaturthi dates: List of Sankashti Chaturthi Vrat dates with moonrise timings in year 2020 This day is observed in every Lunar month of Hindu calendar. It is dedicated to Lord Ganesha.
Story first published: Friday, March 27, 2020, 14:20 [IST]