महिला बनने की मिली इस नौसैनिक को सजा, नेवी ने सेक्‍स चेंज पर दिखाया बाहर का रास्‍ता

Posted By:
Subscribe to Boldsky

इंडियन नेवी में एक बहुत ही हैरान करने वाली घटना सामने आई है, जिसमें एक नौसैनिक ने बिना नेवी को सूचित किए ही अपना लिंग परिवर्तन कर पुरुष से महिला में तब्‍दील हो गया है।

इंडियन नेवी के इतिहास में ऐसा पहला मामला देखने को मिल रहा है, यह अजीब वाकया विशाखापट्टनम नेवी बेस का है। अब नेवी के सीनियर अधिकारी सेक्स चेंज करने वाले नाविक को अपने पद से बर्खास्त करने का विचार कर रहे हैं। क्‍योंकि नियमों के अनुसार कोई महिला नाविक पद पर तैनात नहीं की जा सकती है।

नौ सेना ज्‍वॉइन करने के 7 साल बाद

नौ सेना ज्‍वॉइन करने के 7 साल बाद

नौसेना के अनुसार, नाविक ने नियम-कानून तोड़े हैं, इस वजह से उनकी सेवाओं को समाप्त किया जाएगा। नाविक ने सात साल पहले एक पुरुष के रूप में नौसेना में शामिल हुए थे। नौसेना के अनुसार, नाविक ने मुंबई से अपना सेक्स चेंज करवाकर अब महिला बना गया है।

हालांकि, भले ही नौसेना इस नाविक को बर्खास्त करने का फैसला लेने का विचार कर रही है लेकिन नाविक अपने सेक्स चेंज को लेकर खुश है।

ट्रांसजेंडर के लिए नहीं है कोई विशेष नियम

ट्रांसजेंडर के लिए नहीं है कोई विशेष नियम

दरअसल इस तरह के सेक्स-परिवर्तन ऑपरेशन या सशस्त्र बलों में ट्रांसजेन्डर लोगों से निपटने के लिए कोई विशेष नियम नही है। ये अपने-आप में ऐसा पहला केस है, नाविक ने बिना किसी को बताये मुंबई में ये सर्जरी करा ली थी, जब वो विशाखापट्नम बेस वापस आया, तो उसे SNLR (Service No Longer Required) के तहत सेना से हटाये जाने का फ़ैसला किया गया।

 नहीं मिलेगी सुविधाएं

नहीं मिलेगी सुविधाएं

नाविक ने एक मैकेनिकल इंजीनियर के रूप में सात साल पहले नौसेना ज्वॉइन की थी और उसके बाद उसकी शादी भी हो गई थी। नाविक का एक बच्चा भी है। अगर नाविक को सेवाओं से बर्खास्त किया जाता है तो उसे पेंशन और सुविधाएं भी नहीं मिलेगी। क्‍योंकि पेंशन और दूसरी सुविधाओं के लिए नौ सेना में 15 साल की नौकरी करना अनिवार्य होता है।

ये है नियम

ये है नियम

दरअसल देश की तीनों सेना में एक नियम है कि सेना में महिलाओं की नियुक्ति अफसर रैंक पर ही की जाती है। उससे कम साधारण पदों पर महिलाओं की नियुक्ति नहीं होती है। सेक्‍स चेंज करवाने वाला ये शख्‍स नेवी में नाविक यानी सेलर की पोस्‍ट पर नियुक्‍त था। अब भी लड़कियों को छोटी रैंक्स पर भर्ती करने का कोई प्रस्ताव नहीं है, महिलाएं को अब भी युद्धपोतों पर जाने की, इन्फेंट्री में भर्ती होने की इजाज़त नहीं है।

English summary

Indian Navy to discharge sailor for undergoing sex change

The Indian Navy has initiated actions for the sailor's discharge as females cannot work in defence services as soldiers.
Please Wait while comments are loading...