बच्चों को सिखाने वाले 10 अच्छे आचरण

By: Shakeel Jamshedpuri
Subscribe to Boldsky

एक पेरेंट होने के नाते जब हमारे घर में बच्चों का आगमन होता है तो हमारी खुशी का ठिकाना नहीं रहता है। हम अपने बच्चे को अच्छी परवरिश देना चाहते हैं। पर कई बार हम इन बातों को नजरअंदाज कर देते हैं कि बच्चों को अच्छे आचरण और शालीन व्यवहार सिखाना भी हमारा ही फर्ज है। आज का बच्चा कल देश का नागरिक बनेगा। अगर उन्हें अच्छे आचरण के बारे में नहीं बताया गया तो वह समाज में एक अभद्र व्यक्ति और खराब व्यवहार के साथ बड़ा होगा।  बच्‍चों के लिए वजन घटाने के हेल्‍दी टिप्‍स

नीचे हम आपको 10 ऐसे आचरण के बारे में बता रहे हैं, जो आपको अपने बच्चे को जरूर सिखाना चाहिए। यह परवरिश का ही एक हिस्सा है, ताकि वह आगे चलकर समाज का एक अच्छा इंसान बन सके।

बड़ों का सम्मान

बड़ों का सम्मान

बड़ों का सम्मान एक ऐसा आचरण है जो धीरे-धीरे समाज से खत्म हो रहा है। एक समय था जब उम्र में छोटे लोग बड़ों के सामने बैठते तक नहीं थे। अपने बच्चे को अच्छे आचरण सिखाते समय इस बात का ध्यान जरूर रखें।

माफी मांगना

माफी मांगना

किसी को सॉरी कहने का यह मतलब नहीं कि आप कमजोर हैं, बल्कि यह आपके मजबूत चरित्र को दर्शाता है। बच्चे के लिए आप खुद मिसाल बनें और उन्हें सिखाएं कि रिश्ते बहस से बढ़ कर होते हैं।

खाने के तौर—तरीके

खाने के तौर—तरीके

अपने बच्चे को खाने के तौर तरीके सिखाना न भूलें। युवावस्था में उन्हें जो चीजें सिखाई जाएगी वह उनके साथ जीवन भर रहेगी। इससे व्यक्ति के चरित्र का पता चलता है। साथ ही यह एक सामाजिक शिष्टाचार भी है।

जुबान चलाना

जुबान चलाना

बच्चे की परवरिश के दौरान हम कई बार कठोरता से पेश आते हैं। ऐसे में काफी स्वाभाविक है कि बच्चे भी जुबान चलाने लगते हैं। लेकिन हमें बच्चों को बताना चहिए कि यह एक खराब आचरण है और यह पेरेंट के प्रति असम्मान भी दर्शाता है।

प्लीज एंड थैंक यू

प्लीज एंड थैंक यू

कुछ ऐसे बच्चे भी होते हैं जो प्लीज और थैंक यू नहीं कहते हैं। बच्चों को ऐसा कहना जरूर सिखाएं और उनके लिए खुद एक उदाहरण बनें।

गुंडा—बदमाश से रहे दूर

गुंडा—बदमाश से रहे दूर

हर स्कूल में एक दो गुंडा बदमाश जैसे लड़के होते हैं। अगर हम उनसे नफरत करते हैं तो हमें अपने बच्चों को भी उनसे दूर रहने की नसीहत देनी चाहिए। उन्हें दूसरों को समझना और उनका सम्मान करना सिखाएं।

बराबरी

बराबरी

बच्चों की परवरिश के दौरान उन्हें बताएं कि वह लोगों के रंग, नस्ल और लिंग के आधार पर किसी तरह का भेदभाव न करे। उन्हें अपनी जिंदगी के जरिए ये सिखाएं कि हर किसी को बराबरी का हक होता है। बच्चे को सिखाने का यह एक महत्वपूर्ण आचरण है।

दूसरों के साथ खुद जैसा व्यवहार करें

दूसरों के साथ खुद जैसा व्यवहार करें

बच्चों को सिखाएं​ कि वह खुद के साथ जिस तरह का व्यवहार करता है, दूसरों के साथ भी वैसा ही व्यवहार करे। इससे कोई भी उनके साथ बुरा बर्ताव नहीं करेगा। इससे बच्चा हर अच्छे सामाजिक गुणों के साथ बड़ा होगा।

दूसरों की प्रशंसा करें

दूसरों की प्रशंसा करें

पेरेंट को बच्चे के अच्छे व्यवहार और तरह-तरह के प्रयासों की प्रशंसा करनी चाहिए। इससे बच्चा दूसरों की प्रशंसा करना सीखेगा। पर उन्हें यह भी सिखाएं कि वह किसी की झूठी प्रशंसा न करे।

कमजोरों की मदद करें

कमजोरों की मदद करें

बच्चे आपका ही अनुसरण करते हैं। अपने बच्चे को अच्छे आचरण और नैतिक मूल्य सिखाएं। उन्हें कमजोर और जरूरतमंदों के प्रति दया भाव रखना सिखाएं।

Read more about: kids, बच्‍चे
English summary

Top 10 Manners To Teach Kids

Today’s children are citizens of tomorrow. Unless they are taught young, children will grow up to be unruly and bad mannered people in the society.
Please Wait while comments are loading...