For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

गर्मियों में गुलकंद खाने से गर्मी हो जाती है गुल, जानें इसके और भी गुण

|
Gulkand, गुलकंद | Health Benefits | गर्मियों में जरूर खाएं गुलकंद|BoldSky

गुलाब की पंखुड़ियों से बनने वाला गुलकंद ना केवल खाने में स्‍वादिष्‍ट लगता है बल्‍कि यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिये भी काफी अच्‍छा होता है। गुलकंद को लोग खाने पीने की चीजों में प्रयोग करते हैं जिससे उसका स्‍वाद दोगुना बढ जाता है। इसमें शरीर को ठंडक पहुंचाने वाले गुण होते हैं, जिससे गर्मियों में शरीर ठंडा रहता है।

यह शरीर में अतिरिक्‍त गर्मी को कम करता है। आयुर्वेद में यह कई सारी दवाइयों में भी प्रयोग किया जाता है। इसे गुलाब की पंखुड़ियों और चक्‍कर की मदद से तैयार किया जाता है। वे लोग जिन्‍हें पैरों और हथेलियों में जलन होती है, उनके लिये यह काफी ज्‍यादा फायदेमंद है।

इसे खाने से गर्मी एकदम गुल हो जाती है। गुलकंद में विटामिन सी, ई और बी पाया जाता है। 2 चम्मच गुलकंद खाने से लू से राहत मिल जाती है। मधुमेह के लोंगो को इसे खाने में सावधानी रखनी चाहिये क्‍योंकि इसमें शक्‍कर मिली हुई होती है। ऐसे मरीज़ अपने घर में ही गुलकंद को बना सकते हैं। आइये जानें इसके सभी फायदों के बारे में।

गुलकंद खाने का तरीका

गुलकंद को आप दूध या पानी के साथ सेवन कर सकते हैं। गर्भवती महिलाएं इसका 2 से 5 ग्राम सेवन कर सकती हैं। आप इसे खाने के एक घंटे के बाद दिन में दो बार खा सकते हैं।

 गुलकंद बनाने का तरीका

गुलकंद बनाने का तरीका

  • 200 ग्राम गुलाब की पंखुडियां
  • 100 ग्राम पिसी शक्‍कर
  • 1 टीस्‍पून पिसी छोटी इलायची
  • 1 टीस्‍पून पिसी सौंफ

बनाने की विधि-

गुलाब की पंखुडियों को धो लें और फिर किसी कांच के बर्तन में ढंक कर रख दें। अब इस जार में पिसी शक्‍कर मिलाएं। इसके बाद इसमें पिसी इलायची और सौंद डाल कर 10 दिन के लिये धूप में रख दें। इसे बीच बीच में चलाती रहें। जब आपको लगे कि पंखुडियां गल चुी हैं तो समझ जाइये कि आपका गुलकंद तैयार है। अब आप इसका सेवन कर सकते हैं।

1. दिल की बीमारी दूर करे

1. दिल की बीमारी दूर करे

दिल की बीमारी में अर्जुन की छाल और देसी गुलाब मिलाकर उबालें और पी लें, हृदय की धड़कन अधिक हो तो इसकी सूखी पंखुडियां उबालकर पियें। आंतों में घाव हो तो 100 ग्राम मुलेठी, 50 ग्राम सौंफ, 50 ग्राम गुलाब की पंखुड़ियां तीनों को मिलाकर 10 ग्राम की मात्रा में लें। इसका 100 ग्राम पानी में काढ़ा बनाकर पीएं।

2. शरीर में पानी की कमी दूर करे

2. शरीर में पानी की कमी दूर करे

गुलकंद में गुलाब का रस मिला होता है जो कि शरीर को ठंडक पहुंचाता है। यह शरीर को डीहाइड्रेशन से बचाता है और तरोताजा रखता है। यह पेट को भी ठंडक पहुंचाता है। गर्मी के दिनों में गुलकंद एनर्जी देने वाला एक शीतल टॉनिक है, जो गर्मी से उत्पन्न थकान, आलस्य, मांसपेशियों का दर्द और जलन आदि कष्टों से बचाता है।

3. सूरज की धूप से बचाए

3. सूरज की धूप से बचाए

गर्मी में धूप से निकलने से पहले 2 चम्‍मच गुलकंद खा कर निकलें। इससे आप को सनस्‍ट्रोक से बचने में मदद मिलेगी और धूप नहीं लगेगी। इसके साथ ही यह गर्मी लगने की वजह से नाक से खून बहने से भी रोकता है।

4. चेहरा बनाए चमकदार

4. चेहरा बनाए चमकदार

गुलकंद, स्‍किन के लिये काफी अच्‍छा होता है। यह चेहरे को चमकदार बनाने में मदद करता है क्‍योंकि यह खून को अंदर से साफ करता है। यह स्‍किन प्रॉब्‍लम जैसे, ब्‍लैकहेड्स, एक्‍ने और मुंहासों से मुक्‍ती भी दिलाता है।

 5. प्रेगनेंसी में भी फायदेमंद है

5. प्रेगनेंसी में भी फायदेमंद है

गर्भवती महिलाएं भी गुलकंद का आनंद उठा सकती हैं। यह काफी सुरक्षित है। अगर प्रेगनेसी में कब्‍ज की शिकायत है तो आपको उससे भी छुटकारा मिल सकता है।

6. वजन कम करने में मददगार

6. वजन कम करने में मददगार

गुलाब में लैक्‍सेटिव और ड्यूरेटिक गुण होते हैं जो कि मेटाबॉलिज्‍म को तेज करते हैं। अगर आपका मेटाबॉलिज्‍म तेज है तो आप आराम से अपना वजन कम कर लेंगे। अगर आपको वजन कम करना है तो रोजाना गुलाब की 20 पंखुडियां पानी में उबालें और छान कर उसमें शहद मिलाएं और दिन में दो बार पिएं।

7. मुंह के छालों से आराम दिलाए

7. मुंह के छालों से आराम दिलाए

अगर आपके मसूड़ों में सूजन रहती है तो सुबह-शाम एक-एक चम्मच गुलकंद खाएं। इससे मसूड़ों की सूजन या खून आने की समस्या दूर हो जाती है। साथ ही मुंह के छाले भी दूर करने के लिए भी गुलकंद खाना फायदेमंद होता है।

English summary

Health Benefits of Gulkand or Rose Petal Jam

Gulkand is an ideal ingredient to beat the summer heat, since it possesses coolant-like properties.