पहले से चोटिल लोग हो जाएं सावधान, योग करने से बढ़ सकती हैं आपकी मुश्किलें

Posted By: Staff
Subscribe to Boldsky

योग शायद उतना भी सुरक्षित नहीं जितना की माना जाता है। ऐसा शोधकर्ताओं का कहना है। उनका मानना है कि योग से मांसपेशियों और हड्डियों में दर्द हो सकता है। इतना ही नहीं इसके कारण पहले से लगी चोटें और गंभीर रूप धारण कर सकती हैं।

जर्नल ऑफ बॉडीवर्क एंड मूवमेंट थेरेपीज में प्रकाशित एक शोध में पता चला है कि योग 10 फीसदी लोगों में मस्कुलोस्केलेटल (musculoskeletal) पेन का कारण बनता है और मौजूदा चोटों को 21 फीसदी तक बढ़ाता है। विशेष रूप से ऊपरी अंगों में पहले से मौजूद मस्कुलोस्केलेटल पेन को बढ़ाता है।

 Beware! Yoga can be more risky, painful for existing injury

इसमें कोई शक नहीं है कि मांसपेशियों तथा हड्डियों से जुड़े विकार के वैकल्पिक उपचार के तौर पर योग दुनियाभर के लोगों के बीच तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। लेकिन इसके गंभीर परिणाम भी सामने आ रहे हैं।

ऑस्ट्रेलिया में सिडनी यूनिवर्सिटी के लीद रिसर्चर इवानगेलोस पप्प्स ने कहा, 'बेशक योग मांसपेशियों और हड्डियों संबंधी दर्द में फायदेमंद हो सकता है लेकिन यह दर्द का कारण भी बन सकता है।'

stiff neck

अध्ययन में पाया गया है कि कुछ ऐसा योगासन हैं जिनसे कंधों, कोहनी, कलाई और हाथों में दर्द हो सकता है। क्योंकि इन आसन से आपके ऊपरी अंगों पर अधिक दबाव पड़ता है।

हालांकि, अध्ययन में 74 प्रतिशत प्रतिभागियों ने बताया कि मौजूदा दर्द में योग द्वारा सुधार किया गया था, जिसमें मस्कुलोस्केलेटल दर्द और योग अभ्यास के बीच जटिल संबंधों पर प्रकाश डाला गया था।

पप्पस ने कहा, 'योग से होने वाले दर्द को रोकने का सबसे बेहतर तरीका यह है कि आप इसे बेहतर तरीके से करें। इसके अलावा अगर आपको कोई पुरानी चोट है, तो योग करने से पहले अपने ट्रेनर को बताएं।'

English summary

Beware! Yoga can be more risky, painful for existing injury

Researchers have warned that yoga, which is mostly used to reduce aches and pains, can also lead to injuries and even worsen the existing injury.
Story first published: Thursday, June 29, 2017, 11:15 [IST]
Please Wait while comments are loading...