भारतीय सेना रिटायरमेंट के बाद वफादार कुत्तों को इसलिए मार देती है गोली..

By: Salman khan
Subscribe to Boldsky

वफादारी की बात जब भी आती है तो सबसे पहले कुत्ते का नाम ही लिया जाता है। लेकिन जब आपका वफादार आपके लिए मुसीबत का कारण बन जाए तो आप क्या करेंगें। जीं हां हम बात कर रहे है भारतीय सेना की।

भारतीय सेना के साथ जो भी कुत्ते काम करते हैं उनको रिटायरमेंट के बाद सेना के द्वारा गोली मार दी जाती है।

चौकिए मत ऐसा करने के पीछे भी कोई कारण हैं आइए जानते हैं कि आखिर अपने वफादार साथी को क्यूं मार देती है भारतीय सेना.....

फिल्मी स्टाइल में पुलिस वाले ने बचाई 400 बच्चों की जान, पढ़िए कैसे...

क्यूं मार दिए जाते है रिटायर कुत्ते

क्यूं मार दिए जाते है रिटायर कुत्ते

कुत्तों को रिटायरमेंट के बाद मारे जाने को लेकर एक व्यक्ति ने आरटीआई के जरिए जब जवाब मांगा, तब पता चला कि इसके पीछे सिक्योरिटी रीजन्स है।

आर्मी का मानना है कि रिटायरमेंट के बाद कुत्ता कहीं किसी ऐसे आदमी को ना मिल जाए जिससे देश को हानि हो। दरअसल कुत्ते को आर्मी के हर गुप्त स्थान के बारे में पता होता है।

ये भी है एक कारण

ये भी है एक कारण

आर्मी ने ये बात भी कही है कि जब कुत्ते का स्वास्थ्य सही नहीं होता है तो उसका चेकअप करवाया जाता है। इलाज के दौरान एक महीने तक अगर कुत्ते की हालत में सुधार नहीं होता तो उसको मार दिया जाता है।

उठता है एक सवाल

उठता है एक सवाल

जैसा की सभी जानते हैं कि कुत्ते भले ही बेजुबान होते है पर उनके अंदर भी जान होती है।

सेना के पास इतना फंड होता है कि वो चाहे तो उनकी देखभाल कर सकती है। जबकि वो कुत्ते भी अपने देश के लिए काम करते है।

English summary

indian Army kills loyal dogs after retirement

All the dogs working with the Indian Army are shot by the army after retirement.
Please Wait while comments are loading...