पीएम मोदी से शादी करने की जिद में धरने पर बैठी है ये महिला, 1 महीने से है भूख हड़ताल पर

By Salman khan
Subscribe to Boldsky

जंतर मंतर में अक्सर किसी ना किसी बात को या मांग को लेकर लोग धरने पर बैठते है। कई आंदोलन का गवाह भी रहा है जंतर मंतर।

मोहब्बत में Strike...प्रेमी के घर के सामने धरने पर बैठी प्रेमिका को बनाना ही पड़ा दुल्हन...

लेकिन आज आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताएंगे जिसको जानकर आपके चेहरे पर एक मुस्कान के साथ हैरानी भी छा जाएगी।

ये कैसी दीवानगी है.. इस देश के मेयर ने मगरमच्छ से रचाई शादी...

जीं हां एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें एक महिला हमारे देश के पीएम नरेंद्र मोदी से शादी करने के लिए धरने पर बैठी है। आइए जानते है.....

Boldsky

जयपुर की रहने वाली है ये महिला

दरअसल आपको बता दें कि शांति शर्मा नाम कि ये महिला जयपुर की और इसकी उम्र 45 वर्ष है।

शांति पिछले 1 महीने से धरने पर बैठी हुई है और उनकी मांग है कि वो मोदी जी उनसे से शादी करें।

2 करोंड़ का खुद देगी दहेज

शांति शर्मा कहती है कि अगर माननीय पीएम उनसे शादी करेगे तो वो 2 करोड़ का दहेज भी देने को तैयार है।

दरअसल इनके पति ने 1989 में इनको छोड़ दिया था इसके बाद शादियों के कई प्रस्ताव आने के बाद भी इन्होने शादी नहीं की।

मोदी जी कि लिए धड़कता है दिल

इस महिला का कहना है कि उनको लगता है कि मोदी जी एक ऐसे इंसान है जो उसको समझ सकते है।

शांति शर्मा ने कहा कि उनका दिल सिर्फ मोदी जी के लिए ही धड़कता है।

पुश्तैनी जमीन बेंचकर देंगी दहेज के पैसे

पूछने पर इस महिला ने बताया कि वो 2 करोड़ रुपए का इंतजाम अपनी पुश्तैनी जमीन बेंचकर करेंगी।

मोदी जी से शादी करने के लिए वो ऐसे ही भूख हड़ताल पर बैठी रहेंगी।

English summary

पीएम मोदी से शादी करने की जिद में धरने पर बैठी है ये महिला, 1 महीने से है भूख हड़ताल पर | Woman On Hunger Strike At Jantar Mantar Wants To Marry Narendra Modi

Shanti Sharma is the name of this woman of Jaipur and her age is 45 years. Peace has been sitting on the dharna for the past one month and they demand that they should marry him.
Story first published: Wednesday, October 11, 2017, 14:00 [IST]
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more