अबॉर्शन के बाद अगर मिलते है ये संकेत, तो जाकर डॉक्‍टर से मिले अभी

Subscribe to Boldsky

क्लिनिकल अबॉर्शन बहुत ही जटिल समस्‍या होने के दौरान किया जाता है, जैसे बच्‍चें का विकमकास नहीं हो रहा है या मां और बच्‍चें की जान को खतरा है। यह अबॉर्शन डॉक्‍टर्स की देखरेख में होता है। लेकिन क्लिनिकल या सर्जरी अबॉर्शन के बाद बाद विशेष सावधानी बरतनी होती है। कई बार होता है कि अबॉर्शन के समय डॉक्‍टरी लापरवाही के बाद भी महिलाओं को अबॉर्शन के बाद कई दिक्‍कतों का सामना करना पड़ता है। गर्भपात के बाद होने वाली कुछ परेशानी सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। डिलीवरी के बाद रुका नहीं खून बहना, तो ये करें उपाय

ऐसे में आप छोटे छोटे संकेतों से अंदाजा लगा सकती हैं कि आपको डॉक्टरी मदद की ज़रूरत है। इसीलिए आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि गर्भपात के बाद क्या समस्याएं हो सकती है। यहां हम बता रहे हैं कुछ ऐसे लक्षण, जो अबॉर्शन के बाद अगर दिखाई पड़े या अगर आप इन समस्याओं से पीड़ित किसी महिला को जानते हैं, तो तुरंत डॉक्टर की मदद लें: 

Boldsky

योनि से गंदी दुर्गंध आना

गर्भपात के बाद जब महिला को ब्‍लीडिंग होती हैं, तो उसमें खून का फ्लो ज्‍यादा होता है। जिसके कारण कई बार महिला जब बाथरुम में जाती है, तो उसकी योनि से अजीब सी दुर्गन्‍ध आती है।सिर्फ 30 सैकेंड में समझिए, गर्भ निरोधक गोलियां कैसे काम करती हैं?

हेवी वैजाइनल ब्लीडिंग

अबॉर्शन के बाद थोड़ी ब्लीडिंग सामान्य है और यह 2 सप्ताह तक रह सकती है। लेकिन यदि आपको सामान्य अवधि से ज़्यादा समय तक फ्लो हो रहा है और एक घंटे के भीतर 2-3 बार पैड बदलना पड़ रहा है तो यह खतरे की निशानी है। यह इशारा हो सकता है कि आपके गर्भाशय में किसी प्रकार की चोट लगी है या वह बहुत अधिक रिलैक्स्ड है, आपकी रक्त वाहिकाएं बंद हैं या संभवत: अब गर्भ में भ्रूण का कुछ अंश या प्लेसेंटल टिश्यूज़ मौजूद हैं, जो अधूरे गर्भपात का सबूत हैं। हो सकता है कि यह समस्या खुद हल न हो और आपको डॉक्टर की मदद की ज़रूरत पड़ सकती है।

गंभीर पीठ दर्द

यह सामान्य पीठ दर्द नहीं है जो थकान या सुस्ती के कारण होता है, बल्कि इस तरह का पीठदर्द आपको बिस्तर पर पहुंचा देता है। यह इशारा कर सकता है कि गर्भाशय में थक्के हैं जो शरीर से बाहर निकलने में असमर्थ हैं और इसलिए या किसी आंतरिक संक्रमण के कारण यह दर्द हो सकता है। अबॉर्शन के बाद बैक्टीरियल इंफेक्शन भी काफी आम है जिसके कारण दर्द हो सकता है।

बुखार:

अकेले बुखार खतरे का संकेत नहीं हो सकता है। लेकिन अगर आपको पीठ दर्द के साथ बुखार है और यह पेरासिटामोल की खुराक के बावजूद वह ठीक नहीं हो रहा है, तो यह अंदर किसी इंफेक्शन का संकेत भी हो सकता है। अपने डॉक्टर से बात करें या अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से मिलकर पता करें कि कहीं आपको अबॉर्शन के बाद इंफेक्शन तो नहीं हो गया है।

पेट फूलना

गर्भपात के बाद कुछ समय तक मतली, पेट फूलने, ब्रेस्ट टेंडरनेस जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं जो कि प्रेगनेंसी के दौरान भी महसूस होते हैं। लेकिन अगर वे 14-15 दिन से ज़्यादा समय तक महसूस होते हैं तो यह इंफेक्शन का संकेत हो सकता है या संभावना है कि आप अब भी प्रेगनेंट हों। इन लक्षणों को अनदेखा न करें क्योंकि ये इस बात का भी संकेत हो सकते हैं कि आपका अबॉर्शन अधूरा रह गया है।

कमजोरी लगना

गर्भपात के बाद अगर आप लगातार कमजोर महसूस कर रही है तो जाकर एक बार डॉक्‍टर से मिलिए। अबॉर्शन के बाद कमजोरी होना एक सामान्‍य लक्षण है अगर आपको यह कमजोरी गर्भपात के 15 दिन के बाद भी महसूस होती है तो हो सकता है कि खून की कमी हो शरीर में। इसलिए लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए।

    English summary

    अबॉर्शन के बाद अगर मिलते है ये संकेत, तो जाकर डॉक्‍टर से मिले अभी | Symptoms that are not normal after a clinical abortion

    Here are Some things that happen after an abortion and nobody told you.
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more