For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

लंच के साथ छाछ पीने और वज्रासन करने से बढ़ता है डाइजेशन, फिट रहने का है ये आसान तरीका

|

हम जो खाते है, उसे जैसे पचाते हैं, वैसे ही बनते हैं। एक अच्छा पाचन हमें स्‍वस्‍थ रखने में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। जबकि खराब पाचन की वजह से हमें कब्ज से लेकर स्किन प्रॉब्‍लम, एनीमिया जैसे कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। जबकि बाजार में बहुत सारे स्वास्थ्य उत्पाद उपलब्ध हैं जो आपके पाचन संबंधी समस्याओं को ठीक करने का दावा करते हैं, पाचन क्रिया को बढ़ाने और आंतों की स्थिति में सुधार करने के लिए प्राकृतिक उपचारों का पालन करना सबसे अच्छा है। आयुर्वेदिक विशेषज्ञ डॉ दीक्षा भावसार ने कुछ ऐसे नेचुरल उपाय बताए हैं जो आपके पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं।

डॉ दीक्षा भावसार कहती हैं कि प्रतिरक्षा में सुधार करने के लिए आंत के स्वास्थ्य को बढ़ावा देना सबसे अच्छा तरीका है। अपनी दिनचर्या और आहार में छोटे-छोटे बदलाव करके आप पाचन संबंधी परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं। आयुर्वेद विशेषज्ञ ने इससे संबंधित कुछ सुझाव यहां दिए हैं।

भोजन के बाद वज्रासन

भोजन के बाद वज्रासन

दोपहर के भोजन के बाद वज्रासन में बैठने से आपके पेट में रक्त परिसंचरण में सुधार हो सकता है और पाचन और अवशोषण आसान हो जाता है।

दोपहर के भोजन के साथ छाछ लें

दोपहर के भोजन के साथ छाछ लें

छाछ, प्रोबायोटिक लाभों से भरा हुआ पेट को ठंडा करने और अम्लता के लक्षणों से राहत के लिए आदर्श है। यह कफ और वात को कम करके पाचन में सुधार करता है।

बेमेल भोजन खाने से बचें

बेमेल भोजन खाने से बचें

आयुर्वेद में कुछ खाद्य पदार्थ एक साथ नहीं खानें के बारे में सलाह दी जाती है। उन्हें बेमेल भोजन कहा जाता है। फल और दूध, मछली और दूध, शहद और गर्म पानी, ठंडे और गर्म खाद्य पदार्थ एक साथ कुछ ऐसे फूड कॉम्बिनेशन हैं जो आपके पाचन को परेशान कर सकते हैं। इसलिए इससे खानें से बचें।

फलियां और नट्स भिगोकर खाएं

फलियां और नट्स भिगोकर खाएं

फलियां और नट्स में फाइटिक एसिड होता है जो हमारे आंत के लिए उनसे पोषक तत्वों को अवशोषित करना मुश्किल बना देता है। इन्हें भिगोने से फाइटिक एसिड निकल जाता है और हमारी आंत के लिए भोजन को पचाना और उपलब्ध पोषक तत्वों को अवशोषित करना आसान हो जाता है।

कच्चे स्प्राउट्स और सब्जियों से बचें

कच्चे स्प्राउट्स और सब्जियों से बचें

डॉ भावसार का कहना है कि कच्चे भोजन को अच्छी तरह से मेटाबोलाइज करने के लिए अच्छे आंत स्वास्थ्य की आवश्यकता होती है। "जब आपकी अग्नि पहले से ही कमजोर होती है, तो कच्चा भोजन इसे और कम कर देगा और इसकी वजह से आपको ब्‍लोटिंग की प्रॉब्‍लम होगी। इसलिए हमेशा पका हुआ खाना ही खाएं," वह कहती हैं।

रोजाना 5000 कदम चलें

रोजाना 5000 कदम चलें

जितना ज्‍यादा आप हिलते-डुलते हैं, उतनी ही आपकी पाचन क्रिया में सुधार होगा। यदि आप व्यायाम करने के ल‍िए समय नहीं निकाल पाते हैं, तो कम से कम 5000 कदम चलने से आपको अपने पाचन में सुधार करने में मदद मिलेगी।

English summary

Vajrasana post Lunch with Buttermilk: Tips to Improve your digestion in Hindi

Ayurvedic expert Dr Dixa Bhavsar suggests some natural remedies that could help improve your digestive system.