For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

    भूूूत नहीं भगवान वास करते हैं इस पेड़ पर, गुरु जी से जानें कैसे करें पूजा

    |

    हम सदियों से मानते आ रहे हैं कि कुछ प्रकार के पेड़ों पर अनेक प्रकार के भूतों का वास होता है, जिसमें से पीपल के पेड़ की चर्चा सबसे ज्‍यादा होती है।

    इसलिये हमें इस पेड़ के नजदीक जाने से रोका जाता है। पर क्‍या आप जानते हैं कि पीपल के पेड़ के प्रत्‍येक पत्‍ते पर भगवान का वास होता है?

    peepal

    अगर आपने कभी अपने आस-पास ध्‍यान दिया हो और महसूस किया हो कि कहीं भी हवा न चल रही हो, लेकिन पीपल का हर पत्‍ता आपको डोलता हुआ दिखाई जरुर देगा। आखिर इस चमत्‍कार का क्‍या कारण है?

    बस इसी बात पर आज हम चर्चा करेंगे और जानेंगे कि हमारे ज्योतिष आचार्य अजय द्विवेदी जी पीपल के पेड़ की पूजा के बारे में क्‍या जानकारी दे रहे हैं, तथा क्‍या पीपल का पेड़ सच में भूतिया हेाता है या नहीं।

     इस वृक्ष पर घट बांधे जाते

    इस वृक्ष पर घट बांधे जाते

    जब किसी व्‍यक्‍ति की मृत्‍यु होती है, तब जिस पेड़ पर घट बांधे जाते हैं, वह पेड़ पीपल का ही होता है। ऐसा इसलिये क्‍योंकि पीपल के पेड़ पर पूरे 33 कोटि भगवानों का वास होता है।

    पत्‍तों पर भगवन का वास

    पत्‍तों पर भगवन का वास

    हमारे धर्म शास्‍त्रों के अनुसार कोटि का मतलब हजार होता है, जिसका मतलब है कि पीपल के एक-एक पत्‍ते पर 33 कोटि भगवान विराजमान हैं।

    हमारे पितरों का भी वास होता है

    हमारे पितरों का भी वास होता है

    इस पेड़ में पितरों का भी वास होता है। और पितरों की पूजा भी इस पेड़ में की जाती है।

    बुरी शक्‍तियां भी देती हैं आर्शीवाद

    बुरी शक्‍तियां भी देती हैं आर्शीवाद

    जितना संभव हो इस पेड़ की पूजा हमें करनी ही चाहिये क्‍योंकि बुरे से बुरे लोग और शक्‍तियां भी हमें आशीर्वाद देने लगती हैं। हमारे बुरे समय में जब हम पीपल के पेड़ की पूजा करेंगे, तो हमें आशीर्वाद मिलेगा क्‍योंकि इसमें हमारे पितर समाए हुए हैं, जो हमें अपना आर्शिवाद देते हैं।

    पुराना पेड़ ज्‍यादा लाभकारी

    पुराना पेड़ ज्‍यादा लाभकारी

    पीपल का वृक्ष जितना ही पुराना होता है, उतना ही लाभकारी होता है इसलिये हमें सदैव इसकी पूजा करनी चाहिये और इससे डरना नहीं चाहिये।

    शनी दोष कैसे उतारें

    शनी दोष कैसे उतारें

    अगर आपकी सनी की दशा चल रही है तो पीपल के 11 पत्‍ते ले कर उसमें हनुमान जी का सिंदूर लगा कर उसे हनुमान जी की मूर्ती के पैरों पर रखें। ऐसा करने से धीरे धीरे आपका शनी दोष और पितर दोष भी दूर हो जाएगा।

    पूजा करने से देवी देवता होते हैं खुश

    पूजा करने से देवी देवता होते हैं खुश

    पीपल के पेड़ की पूजा करने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी और इसमें बसे सभी देवी-देवता आपसे खुश होंगे।

    English summary

    Importance and how to worship Peepal Tree

    Check out here our astrologer Acharya Ajay Dwivedi ji explaining Peepal Puja vidhi and importance of worshiping Peepal Tree.
    Story first published: Tuesday, April 25, 2017, 12:26 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more