दिमाग को तेज करने का काम करती हैं ये जादुई जड़ी बूटियां

Posted By:
Subscribe to Boldsky

आज बाजार में ऐसी लाखों दवाईयां है जो याददाश्‍त बढ़ाने के साथ ही दिमाग को तेज बनाने का दावा करती हैं। लेकिन इन दावों में कितनी सच्‍चाई है ये तो वो लोग ही जाने जो इसका नियमित सेवन करते हैं। पुराने समय में हमारे यहां हर छोटी से लेकर बड़ी बीमारी का इलाज जड़ीबूटियों के जरिए होता था।

जानें आपके दिमाग का कौन सा हिस्‍सा है अधिक सक्रिय

चाहे वो घाव पर मरहम लगाना हो या याददाश्‍त बढ़ाना हो । बदलते जमाने के साथ न सिर्फ हम आयुवेर्दिक इलाज से दूर एलोपैथिक दवाईयों का सेवन करना शुरू कर दिया है, बल्कि अब धीरे धीरे इन प्राकृतिक औषधियों को दरकिनार कर दिया है। लेकिन आज भी कई ऐसे चमत्‍कारी जड़ी बूटियां हमारे आसपास या हमारे रसोईयों में मिल जाती है।

दिमाग को तेज़ बनाने के तरीके

आज हम इस आर्टिकल में ऐसी जड़ी बूटियों के बारे में बता रहे हो आपके दिमाग तेज करने के साथ ही आपकी याददाश्‍त को भी मजबूत बनाएं रखता है।

 जटामांसी

जटामांसी

दिमाग को तेज करने के लिए सबसे पहली उपयोगी बूटी है जटामांसी। औषधीय गुणों से भरपूर यह बूटी व्यक्ति की याददाश्त को तेज करने का काम करती है। इस बूटी के नाम में ही इसके गुण छिपे हैं। जटा यानी कि बाल, और इस बूटी पर लगे हुए छोटे-छोटे बाल जैसे तंतु काफी प्रभावशाली हैं। इसका सेवन करने पर यह धीरे-धीरे काम करते हैं, लेकिन काफी प्रभावशाली हैं। इस बूटी को पीसकर केवल एक चम्मच लेना है और फिर एक कप दूध में मिलाकर पीने से दिमाग तेज होता है।

शंख पुष्पी्

शंख पुष्पी्

दिमाग को बढ़ाने के साथ-साथ य‍ह जड़ी बूटी दिमाग में रक्त का सही सर्कुलेशन करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही यह बूटी व्यक्ति की रचनात्मकता को भी बढ़ावा देती है। यह जड़ी-बूटी हमारी याद करने की क्षमता और सीखने की क्षमता को भी बढ़ाती है। दिमाग को तेज करने के लिए आधे चम्मच शंख पुष्पी को एक कप गरम पानी में मिला कर लें।

दालचीनी

दालचीनी

यह जड़ीबूटी हर घर के रसोई में जरूर मिलता है। इसे मसाले के रूप में सबसे अधिक इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इसका उपयोग केवल खाना बनाते समय ही ना करें। रात को सोते समय नियमित रूप से एक चुटकी दालचीनी पाउडर को शहद के साथ मिलाकर लेने से मानसिक तनाव में राहत मिलती है और दिमाग तेज होता है।

अजवायन

अजवायन

खाना हज़म हो जाए इसके लिए महिलाएं खाने में अजवायन का काफी प्रयोग करती हैं। पेट की परेशानी में भी यह काफी लाभकारी है, लेकिन इसके अलावा अजवायन दिमाग तेज करने के काम आती है, क्या आप यह नहीं जानते? विशेषज्ञों के अनुसार इन पत्तियों में भरपूर मात्रा में मौजूद एंटी-ऑक्सी डेंट दिमाग के लिए एक औषधि की तरह काम करता है।

तुलसी

तुलसी

तुलसी के चमत्‍कारी फायदों के बारे में कौन नहीं जानता हैं? आज एक और फायदा भी जान लें। तुलसी वैसे तो कई प्रकार की बीमारियों का इलाज करने में सहायक सिद्ध होती है, लेकिन साथ ही यह दिमाग को तेज करने के लिए एक जानी-मानी जड़ी बूटी भी है।

बाह्मी

बाह्मी

बाह्मी नामक जड़ी-बूटी को दिमाग के लिए एक खास टॉनिक माना गया है। यह दिमाग को शांति और स्पष्टता प्रदान करती है और याद्दाश्त को मजबूत करने में भी मदद करती है।

 काली मिर्च

काली मिर्च

साधारण सी दिखने वाली काली मिर्च के गजब के फायदे हैं। आपको काली मिर्च अधिक से अधिक इस्तेमाल करनी चाहिए। खाने में या फिर साबुत भी... क्योंकि इसमें पाया जाने वाला पेपरिन नामक रसायन शरीर और दिमाग की कोशिकाओं को आराम देता है। डिप्रेशन को दूर करने के लिए भी यह रसायन जादू सा काम करता है। इसीलिए दिमाग को स्वस्थ बनाए रखने के लिए काली मिर्च का उपयोग करें।

केसर

केसर

दूध में या फिर अन्य खाद्य पदार्थ में चुटकी से भी कम केसर का इस्तेमाल करने से अनिद्रा और डिप्रेशन जैसी बीमारियों से छुटकारा मिलता है। और ऐसी ही बीमारियां हमारे दिमाग को कमज़ोर बनाती हैं...

 हल्‍दी

हल्‍दी

कैलिर्फोनिया यूनिवर्सिटी में हुए शोध के अनुसार, हल्दी में पाया जाने वाला रासायनिक तत्व कुरकुमीन दिमाग की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को रिपेयर करने में मदद करता है और इसके नियमित सेवन से एल्जाइमर रोग नहीं होता है। इसलिए आप इसे गर्म दूध में मिलाकर पी लें, फायदा होगा लेकिन ध्यान रहे कि ऐसा रोज़ाना ना करें। क्योंकि हल्दी की तासीर गर्म होती है, जिससे पेट की परेशानियां भी उत्पन्न हो सकती हैं।

जायफल

जायफल

लेकिन हल्दी की तरह ही जायफल की भी तासीर गर्म होती है, इसलिए सही और कम मात्रा में ही इसका सेवन करना शरीर एवं दिमाग के लिए सही है। परन्तु कम मात्रा में भी यह दिमाग को तेज करने में सहायक सिद्ध होता है। इसको खाने से आपको कभी एल्जायइमर यानी भूलने की बीमारी नहीं होती।

English summary

Ayurveda Brain Tonic Herbs: Enhance your Brain Powers Naturally

Ayurveda claims at not only increasing the powers of the brain but also at keeping the mental diseases away, along with helping to cure them desirably.
Story first published: Wednesday, March 22, 2017, 12:18 [IST]
Please Wait while comments are loading...