लीवर में टॉक्सिन जमा होने से बढ़ता है मोटापा, जानिये लक्षण और रोकथाम

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

लीवर हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है जो शरीर से विषैले पदार्थों को मल-मूत्र के रूप में बाहर निकालता है। यह एक जरूरी प्रक्रिया है क्योंकि हमारा शरीर ऐसे विषाक्त पदार्थों से भरा है।

ज्यादा देर तक इन्हें शरीर में रखने पर लीवर धीमी गति से काम करने लगता है और विषाक्त पदार्थों को सही तरीके से बाहर निकालने में परेशानी होती है।

यह फैट सेल के रूप में पेट के आसपास जमा होने लगता है। लीवर में फैट की मात्रा अधिक होने पर फैटी लीवर बीमारी उत्पन्न हो जाती है। लीवर स्वाभाविक रूप से एक फैटी ऑर्गन है और लीवर में हर समय कुछ फैट जमा रहता है।

signs the liver is in trouble
Fatty liver, फैटी लीवर | Home Remedy | ये नुस्खा करेगा फैटी लीवर ठीक | Boldsky
लीवर में जब फैट लीवर के वजन से पांच से दस प्रतिशत से अधिक हो जाता है तो फैटी लीवर बीमारी का खतरा उत्पन्न हो जाता है। इसके अलावा हमारा लीवर विषाक्त पदार्थों को शरीर से सही तरीके से नहीं निकाल पाता, कैलोरी कम नहीं कर पाता या सही तरीके से काम नहीं करता है।

जब यह सही तरीके से काम नहीं करता है तो लीवर फैट को मेटाबोलाइज करता है। पेट वसा को बाइल के माध्यम से चारों ओर भेजता है और फिर वापस ऑर्गन में आ जाता है। इस आर्टिकल में हम लीवर संबंधी बीमारियों के कुछ लक्षणों के बारे में बताने जा रहे हैं।

वजन बढ़ना :

वजन बढ़ना :

जैसा कि आप जानते हैं कि लीवर ही शरीर का एक ऐसा अंग है जो वसा को मेटाबोलाइज करता है। जब लीवर सही तरीके से काम नहीं करता है तो फैट जमा होने लगता है जिसकी वजह से वजन बढ़ता है।

एलर्जी :

एलर्जी :

एक हेल्दी लीवर एंटीबॉडी उत्पन्न करता है और यह एलर्जी को नष्ट करता है। जब लीवर सही तरीके से काम नहीं करता है तो शरीर एलर्जी पैदा करने वाले तत्वों को जमा करने लगता है। शरीर हिस्टामिन उत्पन्न करता है जो एलर्जी पैदा करने वाले तत्वों को नष्ट करता है। जब हिस्टामिन अधिक हो जाता है तो शरीर में खुजली और सिरदर्द जैसे लक्षण दिखने लगते हैं।

थकान :

थकान :

विषाक्त पदार्थ मसल्स टिश्यू के मेटाबोलिज्म में बाधा उत्पन्न करता है जिसके कारण शरीर में दर्द और थकान होती है। अधिक समय तक थकान रहने पर चिड़चिड़ापन, डिप्रेशन और गुस्सा आता है। यह लीवर संबंधी बीमारियों का मुख्य लक्षण है। शरीर में अधिक विषाक्त पदार्थ होने का यह सबसे बड़ा लक्षण है।

अधिक पसीना आना :

अधिक पसीना आना :

जब लीवर को अधिक श्रम करना पड़ता है तो लीवर के कार्य में कमी होने लगती है और लीवर बड़ा हो जाता है। चूंकि लीवर सबसे बड़ा अंग है इसलिए यह शरीर के अन्य अंगों को ऊष्मा देता है और ज्यादा पसीना निकलने पर शरीर अपने आप ठंडा हो जाता है।

मुंहासे दूर नहीं होते हैं :

मुंहासे दूर नहीं होते हैं :

लीवर में विषाक्त पदार्थों के जमा होने से हार्मोन असंतुलित हो जाते है। जिसके कारण चेहरे पर मुंहासे निकलने लगते हैं। जब लीवर सुस्त पड़ जाता है तो त्वचा संबंधी समस्याएं पैदा होने लगती हैं। जब तक लीवर सही तरीके से काम नहीं करेगा तब तक इस समस्या से निजात पाने का कोई और तरीका नहीं है।

सांसों में बदबू :

सांसों में बदबू :

मुंह पूरी तरह से साफ होने के बावजूद अगर आपकी सांसों में बदबू आती है तो आपके लीवर में समस्या है। यह लीवर संबंधी बीमारियों का मुख्य लक्षण है।

लीवर की बीमारी के इलाज की विधि :

लीवर की बीमारी के इलाज की विधि :

फैटी लीवर बीमारी उचित आहार लेने से ठीक हो सकती है। डेंडिलियन रूट, केला, स्वीट पोटैटो, लीवर और जिंजर रूट फैटी लीवर बीमारी के प्रभाव को कम करने में मदद करता है।

English summary

Signs Your Liver Is Full Of Toxins & Is Making You Fat; Read To Know How To Stop This

When the liver is full of toxins, there are certain signs that body throws, including unexplained weight gain.
Story first published: Monday, August 21, 2017, 12:00 [IST]
Please Wait while comments are loading...