For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

जब आपके वॉटर प्लांट्स में न खिले फूल तो अपनाएं ये आसान तरीके

|

दोस्तों हमने अपने पिछले कई आर्टिकल्स में आपको टेरेस गार्डनिंग से जुड़ी कई महत्वपूर्ण बातें बताई हैं। हमने आपको ऐसे कई आसान टिप्स दिए हैं जिनसे आप अच्छी गार्डनिंग कर सकते हैं। आज भी हम अपने इस लेख में आपको वॉटर प्लांट्स के विषय में बताने जा रहे हैं। तो आइए देखते हैं।

बागवानी का शौक रखने वाले लोग हर तरह के पौधे लगाना पसंद करते हैं। ऐसे में वॉटर प्लांट्स से जुड़ी कई सारी समस्याएं हो जाती है जिनके बारे में पता लगाना थोड़ा मुश्किल होता है, जैसे पौधों में फूल न आना। इस तरह की समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए हम आपको कुछ सरल उपाय बताने जा रहे हैं

वॉटर प्लांट्स देते हैं अच्छा लुक

वॉटर प्लांट्स देते हैं अच्छा लुक

गर्मी के मौसम में वॉटर प्लांट्स उगाकर हम अपने टेरेस, बालकनी या गार्डन को काफी अच्छा लुक दे सकते हैं। ये दिखने में जितने सुंदर लगते हैं इन्हें मेंटेन करना उतना ही आसान होता है यानी इनकी ज्यादा देखभाल भी नहीं करनी पड़ती है। वॉटर प्लांट्स को हम आसानी से कहीं भी उगा सकते हैं

तेज धूप में वॉटर लिली और लोटस है अच्छे ऑप्शन

तेज धूप में वॉटर लिली और लोटस है अच्छे ऑप्शन

गर्मी के मौसम में फ्लावरिंग प्लांट्स के विकल्प कुछ कम होते हैं ऐसे में लिली और लोटस से हम अपने गार्डन की शोभा बढ़ा सकते हैं। इनसे हमारे गार्डन को एक्स्ट्रा लुक मिलता है।

जब वॉटर प्लांट में न खिले फूल

जब वॉटर प्लांट में न खिले फूल

अक्सर लोग वॉटर प्लांट लगा लेते हैं लेकिन उनके पौधों में जब फूल नहीं आते हैं तो उनके हाथ काफी निराशा लगती है। अगर आप लोटस या लीली लगा रहे हैं तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा ये पौधे कम से 5 से 6 घंटे तक डायरेक्ट सनलाइट में रहे। अगर आपने किसी कंटेनर में वॉटर प्लांट लगाया है और उसे आपने ऐसी जगह पर रखा है जहां कम धूप आती है तो आप उस पौधे को हटाकर ऐसी जगह पर रखें जहां डायरेक्ट धूप आती है। वॉटर प्लांट्स को प्रचुर मात्रा में धूप मिलना बेहद जरूरी होता है।

मरते नहीं है जल्दी वॉटर लिली और लोटस

मरते नहीं है जल्दी वॉटर लिली और लोटस

वाटर प्लांट्स की सबसे बड़ी यह खासियत होती है कि यह पौधे जल्दी मरते नहीं है। अगर आपने किसी कंटेनर में लिली या लोटस उगाया है तो आप इन्हें कंटेनर से बाहर निकाल कर भी रख सकते हैं। एक हफ्ते तक यह पानी में फ्लोट हो सकते हैं। आप इनकी मिट्टी बदल सकते हैं। साथ ही आप इस पौधे की जड़ों को मिट्टी से बाहर निकाल सकते हैं। पौधे की एक्स्ट्रा जोड़ों को आप काट भी सकते हैं ताकि उन्हें महसूस हो कि उन्हें नया जीवन दिया जा रहा है। इनका पानी बदल कर आप दोबारा इन्हें अच्छी तरह से उगा सकते हैं।

साफ-सुथरी मिट्टी लें

साफ-सुथरी मिट्टी लें

वॉटर प्लांट को उगाते समय आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप जिस मिट्टी का इस्तेमाल कर रहे हैं वह बिल्कुल साफ सुथरी हो और उसमें ज्यादा ऑर्गेनिक मैटर ज्यादा न हो जैसे ताजा गोबर या पत्तियां। आप ऐसी मिट्टी का इस्तेमाल कर सकते हैं जो आपके आस पास आसानी से उपलब्ध हो। इसके अलावा मिट्टी को सैनिटाइज करना भी जरूरी होता है। मिट्टी को सैनिटाइज करने का सबसे अच्छा तरीका यह होता है कि आप उसे खुली धूप में एक दिन के लिए छोड़ दें। इससे सारे कीड़े खुद ही मर जाएंगे।

English summary

Water Plants for terrace and balcony at home in Hindi

Water Plants for terrace and balcony at home: Find out some Water Plants for terrace and balcony at home in hindi.