डायबिटिक को रोजा रखते हुए इन चीजों का खास रखना चाहिए ध्‍यान

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

रमजान का महीना जारी है। जाहिर हैं रोजा रखने वाले लोगों को पूरे दिन भूखा-प्यासा रहना होता है। वैसे रोजा रखना एक निजी फैसला है लेकिन डायबिटीज के मरीज भी रोजा रख लेते हैं। हालांकि डॉक्टर डायबिटीज के मरीजों को लंबे समय भूखा-प्यासा ना रहने की सलाह देते हैं।

उपवास से मेटाबोलिज्म प्रभावित हो सकता है। इसलिए इन दिनों खासकर डायबिटीज के मरीजों को डायट प्लान का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। आपको बता दें कि रोजा रखने वालों को 12 से 15 घंटे भूखा-प्यासा रहना पड़ता है। इससे डायबिटीज के मरीजों को समस्या हो सकती है, जबकि उन्हें नियमित और समय पर खाने की सलाह दी जाती है। आमतौर पर रोज रखने वाले टाइप-2 डायबिटीज से पीड़ित लोगों की तुलना में टाइप-1 डायबिटीज से पीड़ित लोगों को अधिक खतरा होता है।

चूंकि इस बार रमजान गर्मियों में है जिस वजह समय दिन का समय काफी लंबा होता है। डायबिटीज के मरीजों को रोजा रखने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और ब्लड ग्लूकोज लेवल की जांच कराते रहना चाहिए।

 टाइप 1 में होता है ज्‍यादा खतरा

टाइप 1 में होता है ज्‍यादा खतरा

टाइप 1 डायबिटीज से पीड़ित और रिकरंट हाइपोग्लाइसीमिया से पीड़ित लोगों को उपवास की दौरान ज्यादा परेशानी होती है। टाइप 2 डायबिटीज वाले मरीजों में हाइपोग्लाइसीमिया और हाइपरग्लाइसीमिया भी हो सकते हैं, लेकिन टाइप 1 डायबिटीज़ वाले लोगों की तुलना में इन्हें कम खतरा होता है।

हाइपोग्लाइसीमिया का रहता है खतरा

हाइपोग्लाइसीमिया का रहता है खतरा

उपवास के दौरान ब्लड प्रेशर में गिरावट (हाइपोग्लाइसीमिया) का खतरा होता है जिससे आपको बेचैनी और बेहोशी हो सकती है। जबकि ब्लड प्रेशर के अधिक बढ़ने (हाइपरग्लाइसीमिया) का खतरा होता है जिसमें धुंधला दिखना, सिरदर्द, थकान और प्यास लगना जैसी समस्याएं हो सकती हैं। अगर आपको इस तरह की कोई परेशानी होती है, तो आपको रोजा नहीं रखना चाहिए।

डायबिटीज के मरीज इन बातों का रखें विशेष ध्यान

डायबिटीज के मरीज इन बातों का रखें विशेष ध्यान

  • नियमित रूप से अपने ब्लड शुगर की जांच कराएं।
  • ज्यादा खाने बचें। अपनी भूख के अनुसार ही खाएं।
  • अपना रोजा शुगर फ्री से ही खोलें और कैफीन वाली चीजें खाने से बचें।
  • सीमित मात्रा में मिठाई खाएं।
  • अपने खाने में बहुत सारे फल, सब्जियां, दाल और दही शामिल करें।
  • खाने और सोने के बीच कम से कम 2 घंटे का अंतराल रखें।
  • तली हुई चीजें खाने से बचें।

English summary

Important Guidelines For Monitoring Your Blood Glucose During Ramadin If You're Diabetic

it is a personal choice for diabetics to fast during Ramadan, experts opine that there are ways in which diabetics can go about fasting by practising caution.
Please Wait while comments are loading...