रमजान 2018 : क्‍यों, खजूर खाकर रोजा छोड़ते है मुस्लिम? इसके पीछे है साइंटिफिक कारण

Subscribe to Boldsky

आज से रमजान का महीना शुरु हो चुका है। इस महिने में मुस्लिम समुदाय के लोग एक महीनें तक रोजे रखते हैं। इसमें मुस्लिम सुबह सेहरी के वक्त खाना खाते हैं और फिर पूरे दिन भूखे प्‍यासे रहने के बाद इफ्तार के बाद रोजा खोलते है। लेकिन इफ्तारी के समय रोजा खजूर खा कर ही खोला जाता है। ये एक तरह से रिवाज और पराम्‍परा सी है, दरअसल इफ्तारी के समय खजूर खाकर रोजा तोड़ने के पीछे बहुत सारे साइंटिफिक कारण है।

रोजा में खजूर खाने की वजह यह है कि रोजा खोलने के वक्त कई लोग बहुत ज्यादा खाना खा लेते है, जिससे कई सारी परेशानियां हो सकती है। काफी देर तक भूखा रहने से अचानक ज्यादा भोजन करने से शरीर को नुकसान पहुंच सकता है। रोजा खोलते वक्त कुछ ऐसा खाना खाना चाहिए जो शरीर को एनर्जी दे और खजूर बखूबी इस काम को करता है। खजूर में काफी मात्रा में फाइबर होता है, जो शरीर के लिए बेहद जरूरी होता है। खजूर खाने से पाचन तंत्र मजबूत रहता है।

Why Do Muslim Eat Dates During Ramadan


खजूर का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी कम होता है, जिससे दिल की बीमारीयां होने का खतरा नहीं रहता है। खजूर में आयरन पाया जाता है, जो कि खून से संबंधित बीमारियों से निजात दिलाता है। इसके अलावा खजूर में पोटेशियम काफी मात्रा में होता है, वही सोडियम की मात्रा कम होती है, ये नर्वस सिस्टम के लिए फायदेमंद होता है।

एक कारण यह है भी


ऐसा लोगों का मानना है कि इस्लाम अरब से शुरू हुआ था और वहां पर खजूर आसानी से उपलब्ध फल था। ऐसे में खजूर का इस्तेमाल शुरू किया गया। इसी के साथ यह शरीर के लिए भी काफी गुणकारी भी है। इस प्रकार रोजे में खजूर का सेवन करने की परंपरा शुरू हुई। लेकिन इसके लाभ भी बहुत है।

खजूर में मौजूद तत्‍व

  • कार्बोहाइड्रेट 74.97 ग्राम
  • प्रोटीन 1.81 ग्राम
  • फैट 0.15 ग्राम
  • कोलेस्ट्रोल 0 ग्राम
  • फाइबर 6.7 ग्राम

इफ्तार में खजूर खाने के साइंटिफिक फायदे :

एनर्जी देता है

दिनभर रोजा रखने से एनर्जी का लेवल कम होता है। ऐसे में रोजा खोलते ही खजूर खाने से बॉडी को तुरंत एनर्जी मिलती है। खजूर में ग्‍लूकोज, सुक्रोज और फ्रुक्‍टोज पाए जाते है, जो अन्य चीजों को डाइजेस्ट करने में भी खजूर मदद करती है।


पाचन शक्ति बढ़ाता है

खजूर से बॉडी को फाइबर मिलता है, ये पाचन शक्ति को बढ़ाता है। पेट संबंधी कैसी भी दिक्कत हो, उसमें खजूर का सेवन रामबाण इलाज सिद्ध होता है। यह पाचन शक्ति को सही कर भूख बढ़ाता है।

नवर्स सिस्‍टम के लिए सही

इसके अलावा इसमें पोटेशियम काफी मात्रा में पाया जाताहै। वहीं इसमें सोडियम की मात्रा कम होती है। ये नर्वस सिस्‍टम के ल‍िए फायदेमंद होता है।

खून की कमी दूर करता है

खजूर में अच्छी मात्रा में आयरन भी होता है। पूरे दिन रोजा रखने के बाद अधिक थकान या कमजोरी महसूस होती है, खजूर में मौजूद आयरन जिससे थकान को दूर कर खून की कमी को पूरा किया जा सकता है।

सर्दी-खांसी दूर

खजूर को उबालकर इसमें मेथीदाना मिला लें। इसे खाने से कमर दर्द से राहत मिलती है। इसके अलावा खजूर में मिश्री मिलाकर इसे गर्म दूध के साथ लेने से सर्दी-खांसी ठीक होती है।

डाइजेशन के ल‍िए

खजूर में शहद मिलाकर खाने से लिवर प्रॉब्लम से बचाव होता है। यह डाइजेशन ठीक रखने में मदद करती है।

हड्डियों के लिए अच्‍छा

कम सोडियम और ढेर सारे मिनरल्स होने की वजह से, खजूर हमारी हड्डियों के लिए अच्छा माना जाता है। खजूर में मौजूद सेलीनियम, मैगनीज, कॉपर जैसे मिनरल हमारी हड्डियों को मजबूती देते हैं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    रमजान 2018 : क्‍यों, खजूर खाकर रोजा छोड़ते है मुस्लिम? इसके पीछे है साइंटिफिक कारण | Why Do Muslim Eat Dates During Ramadan?

    Brimming with beneficial fibre, minerals and vitamins, dates, a favoured Ramadan staple in the Middle East, should be eaten all year long as well.
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more