For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

गैस के कारण छाती में होने वाले दर्द के लिए 12 घरेलू उपचार

By Staff
|
Effective home remedies for heartburn

कुछ लोग छाती में होने वाले दर्द के कारण चिंता करने लगते हैं तथा ऐसा मानते हैं कि यह दर्द हार्ट (हृदय) से संबंधित किसी समस्या के कारण है। परंतु यह एक अस्थायी दर्द होता है तथा तब तक रहता है जब तक गैस निकल नहीं जाती। सौभाग्य से गैस के कारण छाती में होने वाले दर्द के लिए कई घरेलू उपचार उपलब्ध हैं। ये उपचार हम आज आपके साथ शेयर कर (बाँट) रहे हैं।

अपूर्ण पाचन, जल्दी जल्दी खाना खाते समय खाने के साथ हवा निगलने, कब्ज़, तैलीय और प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ खाने, अधिक फाइबर और स्टार्च युक्त आहार लेने, खाद्य पदार्थों की एलर्जी आदि के कारण आँतों में गैस बन सकती है। कुछ पेय पदार्थ जैसे सोडा युक्त ड्रिंक, सॉफ्ट ड्रिंक या बीयर के कारण भी यह समस्या हो सकती है।

छाती में गैस गैस के लक्षण

छाती में अगर किसी भी जगह गैस फंस गई है तो पेट में दर्द होता है साथ ही छाती में हल्‍का व तीव्र दर्द होने लगता है। पेट में सूजन और भूख न लगना छाती में दर्द के लक्षण हैं।

गैस के कारण छाती में होने वाले दर्द का क्या इलाज है? आज बोल्ड स्काय आपको गैस के कारण छाती में होने वाले दर्द के लिए कुछ घरेलू उपचार बताएगा। पेट और छाती के बीच फंसी हुई गैस को निकालने के लिए कुछ घरेलू उपाय देखें।

 इलायची और जीरा

इलायची और जीरा

गैस के कारण छाती में होने वाले दर्द के लिए यह एक उत्तम घरेलू उपचार है। ये कार्मिनटिव (वातहर) की तरह कार्य करते हैं। ये पेट से गैस निकालते हैं तथा इस फंसी हुई गैस के कारण छाती और पेट में होने वाले दर्द से आराम दिलाते हैं। आप इलायची को पानी में कुछ देर उबालकर इलायची की चाय पी सकते हैं। ये पाचन में भी सहायक होते हैं तथा गैस बनने से भी रोकते हैं।

गर्म तरल पदार्थ पीना

गर्म तरल पदार्थ पीना

गर्म तरल पदार्थ जैसे चाय या कॉफ़ी पेट और छाती से प्राकृतिक तरीके से गैस निकालने में सहायक होते हैं। गैस के कारण छाती में होने वाले दर्द से आराम पाने के लिए यह एक प्रभावी उपचार है।

पपीता

पपीता

गैस के कारण छाती में होने वाले दर्द के लिए यह एक सर्वोत्तम उपचार हैं। यह पेट में गैस बनने से भी रोकता है। अत: यह पाचन के लिए भी अच्छा होता है। यदि आप गैस की समस्या से ग्रस्त हैं तो प्रतिदिन पपीता खाने की आदत डालिए।

 पेपरमिंट टी

पेपरमिंट टी

यह भी वातहर की तरह काम करता है क्योंकि यह पेट से गैस निकालने में सहायक होता है। यह भोजन के पाचन में भी सहायक होता है। यह जी मचलाने और उल्टी के लिए भी एक प्रभावी उपचार है। छाती में फंसी हुई गैस को निकालने के लिए पेपरमिंट टी एक प्राकृतिक उपाय है।

 अदरक या कैमोमाइल टी (चाय)

अदरक या कैमोमाइल टी (चाय)

ये हर्बल टी (चाय) भी गैस की समस्या में लाभकारी होती है। गैस बनने से रोकने के लिए खाना खाने के बाद इनका सेवन करें और यदि गैस बनती भी है तो ये चाय गैस निकालने में सहायक होती है।

व्यायाम

व्यायाम

आपको ऐसे व्यायाम करने चाहिए जो पाचन में सहायक हों। यदि आपकी जीवनशैली निष्क्रिय या गति रहित है तो पाचन अच्छे से नहीं होगा जिसके कारण गैस बन सकती है। अत: हमेशा कोई हल्की फुल्की कसरत करें।

बेकिंग सोड़ा

बेकिंग सोड़ा

गुनगुने पानी में थोडा सा बेकिंग सोडा मिलाकर पीयें। यह पेट से गैस निकाल देता है और दर्द से आराम मिलता है।

ऐप्पल सीडर विनेगर

ऐप्पल सीडर विनेगर

एक गिलास में एक चम्मच ऐप्पल सीडर विनेगर मिलाकर पीयें। यह पेट से गैस निकाल देता है। यह पाचन में भी सहायक होता है तथा गैस बनने से भी रोकता है। गैस के कारण छाती में होने वाले दर्द के लिए यह एक प्रभावी घरेलू उपचार है।

दूध से बने पदार्थों का सेवन न करें

दूध से बने पदार्थों का सेवन न करें

कुछ लोगों को दूध से बने पदार्थ सहन नहीं होते। इन लोगों को दूध से बने पदार्थ खाने के बाद अपचन और गैस की समस्या हो जाती है। आप वे खाद्य पदार्थ जानते हैं जिनके कारण गैस होती है और उनका उपयोग टालें।

 पानी अधिक पीयें

पानी अधिक पीयें

अपचन के कारण गैस बनती है। यदि आप अधिक पानी पीयेंगे तो बिना पचा हुआ भोजन मल के रूप में आपके शरीर से बाहर निकल जाएगा। पानी से कब्ज़ भी दूर होती है तथा शरीर से गैस भी निकल जाती है।

सॉफ्ट ड्रिंक्स न पीयें

सॉफ्ट ड्रिंक्स न पीयें

जैसा कि इनके नाम "कार्बोनेटेड ड्रिंक्स" से ही पता चलता है कि इनमें कार्बन डाई ऑक्साइड गैस होती है। ये पेट और छाती में गैस की समस्या को बढ़ा सकते हैं। अत: इनके वजह से गैस के कारण छाती में होने वाले दर्द की संभावना बढ़ जाती है।

 सरसों के बीज (राई)

सरसों के बीज (राई)

ये पेट से गैस निकालने में सहायक होते हैं। अपने दैनिक आहार में जैसे जो खाना आप पकाते हैं उसमें इन्हें शामिल करें।

छाती में अगर गैस के कारण दर्द उठता है तो वो कितनी देर में जाएगा यह निश्‍चति नहीं होता है। हालांकि नियमित व्‍यायाम से इससे राहत मिल सकती है।

बार बार गैस क्यों बनती है?

बार-बार गैस बनने के कई कारण होते हैं, लेकिन सबसे आम कारण पाचन क्रिया का सही नहीं होना है। जब भोजन समय पर नहीं पचता है तो पेट में ही रुक जाता है, ऐसे में पेट में गैस बनने लगती है। अगर आपको कब्ज की समस्या है, तो भी पेट में गैस बन सकती है। इससे निजात पाने के लिए सही समय पर भोजन करें, नियमित व्यायाम करें और तरल पदार्थ का सेवन अधिक करें। साथ ही तले हुए भोजन को कम खायें।

पेट में गैस होने पर क्या नहीं खाना चाहिए?

ऐसी चीजें जो पेट में गैस बनाती हैं, उनसे दूर रहना चाहिए, जैसे चाय, मूली, बैंगन, या फिर कोई ऐसा फल जिसका सीजन नहीं है। इसके अलावा आपको धूम्रपान  नहीं करना चाहिए। तली हुई चीजें जैसे पूड़ी, छोले-भटूरे, पकौड़े, आदि नहीं खाना चाहिए।

गैस से तुरंत राहत कैसे पाये?

अगर आपके पेट में गैस बन रही है, तो आप दो कली लहसुन की पानी के साथ खा सकते हैं। या फिर पानी में अजवाइन डाल कर पीने से भी आपको राहत मिल सकती है। इसके कई और घरेलू नुस्‍खे भी हैं जैसे पानी में हींग मिलाकर पीने से, पानी में बेकिंग सोडा और नींबू मिलाकर पीने से भी गैस से राहत मिलती है।

English summary

Home Remedies For Gas Pain In Chest

Home remedies for chest pain due to gas are natural ways to pass gas & treatment for chest pain. Natural ways to cure chest pain due to gas are here.