नेत्रदान कौन कर सकता है और इसका क्या तरीका है?

By Lekhaka
Subscribe to Boldsky
donate eyes

दुनिया में हर चीज का नजारा लेने के लिए हमारे पास आंखों का ही सहारा होता है। लेकिन क्या कभी आपने यह सोचा है कि बिन आंखों के यह दुनियां कैसी होगी? चारो तरफ अंधेरा ही अंधेरा मालूम होगा। दुनियां की सारी खूबसूरती आंखों के बिना कुछ नहीं है।

आंखें ना होने का दुख वही समझ सकता है जिसके पास आंखें नहीं होतीं। लेकिन देश में 12 लाख लोग हर रोज ऐसी जिंदगी जीते हैं।

देश के कई हिस्सों में 25 अगस्त -8 सितंबर के बीच नेत्रदान पखवाड़ा मनाया जा रहा है। इस दौरान आप अपनी नेत्रदान करने का संकल्प ले सकते हैं।

क्या आप जानते हैं कि आपको नेत्रदान करने के लिए कहां जाना होता है? क्या नेत्रदान को लेकर कोई धार्मिक प्रभाव भी पड़ता है?

नेत्रदान से जुड़े ऐसे ही तमाम सवाल हैं, जिनका जवाब आपको पता होना चाहिए। चलिए जानते हैं क्या-क्या हैं वो सवाल और उनका जवाब।

1) क्या हर कोई नेत्रदान करने की प्रतिज्ञा कर सकता है?

इस सवाल का जवाब है 'हां'। कोई भी अपनी आंखों का दान कर सकता है। इस मामले में आयु और लिंग को लेकर कोई प्रतिबंध नहीं है। यहां तक कि जो लोग चश्मा पहनते हैं और अतीत में मोतियाबिंद सर्जरी करते हैं, वे भी दान कर सकते हैं। हालांकि मधुमेह, उच्च रक्तचाप या अस्थमा से पीड़ित लोग ऐसा नहीं कर सकते हैं।

2) कौन लोग नेत्रदान के लिए अयोग्य हैं?

अगर कोई व्यक्ति किसी भी संचारी रोग से पीड़ित है, तो वे नेत्रदान नहीं कर सकता है। इसमें एड्स, हेपेटाइटिस बी और सी, रेबीज, सेप्टिसियामिया, ल्यूकेमिया, टेटनस, मेनिनजाइटिस, हैजा, और एन्सेफलाइटिस शामिल हैं।

3) क्या कोई परिवार का कोई सदस्य किसी की मृत्यु के बाद उसकी आंखों का दान कर सकता है?

हां, वो ऐसा कर सकते हैं। वबशर्ते वे नजदीकी आई बैंक को तत्काल सूचित करें ताकि आंखों को तत्काल पुनर्प्राप्त किया जा सके और चिकित्सकीय टीम पहुंचने तक आंखों को संरक्षित करने के लिए कदम भी उठा सकें।

4) मृत्यु के तुरंत बाद आंखों को सुरक्षित रखने के लिए क्या कर सकते हैं?

मृतक की आंखों को बंद करें और उनके ऊपर नम कपास रखें। हटाने के समय खून बहने को कम करने के लिए उसके सिर के नीचे एक तकिया रखें। एक पॉलीथीन पैकेट में बर्फ के टुकड़े रखें और फिर इसे माथे पर रखें। आंखों के संक्रमण से बाहर रखने के लिए एंटीबायोटिक बूंदों का उपयोग करें, यदि उपलब्ध हो।

5) मृत्यु के बाद दान के लिए आईबॉल की वसूली के लिए क्या कोई समय सीमा है?

हां। नियम के तेहत मौत के बाद जितनी जल्दी हो सके अंगों को पुनः प्राप्त करना है। हालांकि हर आई बैंक अपनी समय सीमा निर्धारित कर सकते हैं, औसतन 4-6 घंटे पुनर्प्राप्ति के लिए इष्टतम समय है। इस समय सीमा को 8-12 घंटे तक बढ़ाया जा सकता है, अगर शरीर को एक ठंडे रूम रखा जाता है। लेकिन ऐसे मामलों में, आंखें 7 दिनों के भीतर उपयोगिया समाप्त कर देती हैं।

6) दान के बाद कब तक आईबॉल जमा हो सकता है?

आई बैंकों को डोनेटर से पुनर्प्राप्ति के 14 दिनों के बाद आंखों को स्टोर करने की क्षमता है। लेकिन क्योंकि प्राप्तकर्ताओं की प्रतीक्षा सूची बहुत लंबी है, दान के बाद 3-4 दिनों के अंदर ऊतकों का उपयोग किया जाता है।

7) क्या पूरी आंख को एक अंधे प्राप्तकर्ता में प्रत्यारोपण के लिए इस्तेमाल किया जाता है?

नहीं। केवल आंख की कॉर्निया प्रत्यारोपण किया जाता है क्योंकि अंधेपन के अन्य कारण अपूरणीय होते हैं।

8) यदि केवल कॉर्निया का प्रयोग किया जाता है, तो बाकी के ऊतकों को क्या होता है?

शेष ऊतकों का उपयोग प्रत्यारोपण के लिए नई तकनीकों के शोध के लिए किया जाता है। जिसमें मोतियाबिंद और रेटिना के अन्य रोगों के लिए वर्तमान उपचार प्रोटोकॉल के बेहतर विकल्प शामिल हैं।

9) नेत्रदान करने के लिए कितना खर्च होता है?

इसके लिए आपको पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं होती है।

10) क्या कोई कैंसर से पीड़ित व्यक्ति मृत्यु के बाद नेत्त्र्दान कर सकता है?

नहीं। अगर कैंसर आंखों में उत्पन्न हुआ या मेटास्टेसिस के माध्यम से फैल गया है।

11) मैंने अपने चश्मे से छुटकारा पाने के लिए लसीक किया था। क्या मैं नेत्रदान कर सकता हूँ?

हां, आप दान कर सकते हैं लेकिन केवल अनुसंधान उद्देश्यों के लिए। इसका कारण यह है कि कोई भी कॉर्नियल सर्जरी (मोतियाबिंद छोड़कर) ट्रांसप्लांट विफलता की संभावना काफी बढ़ जाती है। इस तरह की आंखों को कॉर्नियल ऑलिनेस को सही करने के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

12) कॉर्नियल ट्रांसप्लांट की सफलता दर क्या है?

सफलता की दर कॉर्नियल असामान्यता के प्रकार पर निर्भर करती है जिससे अंधापन हो सकता है। इसे 1, 2, और 5 वर्षों के अंतराल पर प्रत्यारोपित कॉर्निया की स्पष्टता के आधार पर मापा जाता है। यदि यह कैरेटोकोनस या कॉर्नियल डिस्ट्रोफी है, तो सफलता दर पहले वर्ष में 98 फीसदी और 5 वर्षों में 90 फीसदी है। लेकिन पहले वर्ष सफलता दर औसतन 80 से 90 फीसदी है, तो पांच साल में 70-75 फीसदी रहेगी।

13) नेत्रदान करने के लिए किससे संपर्क करना चाहिए?

नेत्र दान के लिए साइनिंग करने में केवल दो मिनट लगते हैं। इसलिए यदि आप इस महान कार्य के लिए दान करना चाहते हैं, तो आप किसी भी नजदीकी आई बैंक में नेत्रदान कर सकते हैं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    नेत्रदान कौन कर सकता है और इसका क्या तरीका है? | The Ultimate Guide To Eye Donation

    The complete compilation of all you need to know before donating your eyes.
    Story first published: Thursday, September 7, 2017, 13:00 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more