For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

दूध के दांत में लग गए कीड़े, पैरेंट्स इसे हल्‍के में ना लें

|

बच्‍चों के जन्‍म के बाद आने वाले दांत को दूध का दांत कहा जाता है। कई पैरेंट्स बच्‍चों के दूध के दांत की तरफ ये सोचकर भी ध्‍यान नहीं देते हैं कि एक समय के बाद टूट जाने है और दूसरे दांत आने है। अक्‍सर बचपन में मीठा खाने के शौक की वज‍ह से बच्‍चों के दांतों में कीड़े लग जाते हैं। इनका सही समय पर इलाज नहीं होने से दांत टेढ़े मेढ़े आने के साथ ही बच्‍चों को दांतों में दर्द का अहसास हो सकता है।

पैरेंट्स को इस समस्‍या को गंभीरता से लेना चाह‍िए क्‍योंकि इसका असर नए दांतों पर भी पड़ सकता है। आइए जानते है कि बच्‍चों के दांतों में कीड़े किन वजहों से लग जाते हैं और इसका घरेलू उपाय क्‍या है।

बच्चों के दांतों में कीड़ा लगने के कारण

बच्चों के दांतों में कीड़ा लगने के कारण

  • नियमित ब्रश न करना
  • मीठे का अधिक सेवन
  • ज्यादा गर्म चीजों का सेवन
  • फास्ट फ्रूड या तली चीजों का सेवन
  • टॉफी या चॉकलेट खाना
  • पौष्टिक आहार न लेना
  • कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन D की कमी के कारण
  • घरेलू उपाय

    घरेलू उपाय

    हल्दी

    पिसी हुई हल्दी और सरसों के तेल को अच्छी तरह मिक्स करें। रोजाना बच्चों को इससे मंजन करवाएं। दिन में 2 बार ऐसा करने से बच्चों के दांतों में लगे कीड़े मर जाएंगे।

     फिटकरी

    फिटकरी

    रोजाना फिटकरी को गर्म पानी में घेलकर बच्चों को कुल्ली कराएं। इससे दातों में कीड़े मरने के साथ-साथ बदबू भी खत्म हो जाएगी।

    हींग

    हींग

    हींग को थेड़ा सा गर्म कर लें। अब कॉटन की मदद से इसे बच्चे के कीड़े लगे दातों में रख दें। रोजना बच्चों को ब्रश करवाने के बाद ऐसा करने से दातों में लगी कीड़े की परेशानी दूर हो जाएगी।

    दालचीनी

    दालचीनी

    पीसी हुई दालचीनी को सरसों के तेल में मिलाकर कॉटन की मदद से बच्चों के दातों पर लगाएं। रोजाना इसे लगाने से दातों में कीड़े की परेशानी दूर हो जाएगी

    लौंग

    लौंग

    रोजाना लौंग के तेल को कॉटन में भिगोकर दांतो के खोखले हिस्से में लगाएं। इससे दातों में लगे कीड़े भी नष्ट हो जाएंगे और बच्चें को दर्द से आराम भी मिलेगा।

     जायफल

    जायफल

    जॉयफल के तेल को कॉटन में भिगोकर 5-10 मिनट के लिए दातों पर रखें। इसके बाद हल्के गर्म पानी से बच्चों को कुल्ली कराएं। रोजाना ऐसा करने से दातों में कीड़े की समस्या दूर हो जाएगी।

     फील‍िंग करवाएं

    फील‍िंग करवाएं

    कई बार दूध के दांतों में कीड़ा लगने से कमजोर हो जाते है और इसकी वजह से इंफेक्‍शन होने का डर रहता है। इसल‍िए इसका असर रुट पर रह सकता है जिसके वजह से टेड़े-मेड़े दांतों की समस्‍या हो सकती है। इसी वजह से आने वाले दांत सही जगह नहीं ले पाते हैं इसल‍िए कैविटी की समस्‍या होने पर डेंटिस्‍ट के पास जाकर फीलिंग कराएं।

Read more about: baby teeth शिशु दांत
English summary

Do Baby Teeth with Cavities Need to be Treated?

Primary teeth don’t last forever, but they are not expendable and untreated cavities can cause serious immediate harm, and negatively affect how a young mouth develops.
Story first published: Saturday, March 30, 2019, 11:51 [IST]
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more